अमरीका: एनएसए मुख्यालय के बाहर टकराई एसयूवी, तीन घायल

  • 15 फरवरी 2018
एनएसए मुख्यालय पर टकराई कार

अमरीका के मैरीलैंड में नेशनल सिक्योरिटी एजेंसी (एनएसए) मुख्यालय के बाहर बुधवार को एक कार टकराने से तीन घायल हो गए.

इस मामले में तीन संदिग्ध लोगों को हिरासत में लिया गया है.

अधिकारियों के मुताबिक एक काले रंग की एसयूवी बिना अनुमति के वहां पहुंची थी. इसके बाद वहां गोलियों की आवाज सुनाई दी.

एफबीआई अधिकारियों के मुताबिक अभी तक इस घटना के तार चरमपंथ से जुड़ते नहीं दिख रहे हैं.

एफबीआई के मुताबिक कार के ड्राइवर, एक आम व्यक्ति और एनएसए के एक पुलिस अधिकारी को अस्पताल में दाखिल कराया गया है. घायल ड्राइवर की स्थिति के बारे में जानकारी नहीं मिल सकी है जबकि बाकी दोनों घायल ख़तरे से बाहर बताए गए हैं.

वाहन में सवार अन्य दो पुरुषों को एनएसए ने हिरासत में ले लिया है.

अमरीकियों के मोबाइल में अब नहीं झांकेगा एनएसए

अमरीकी एनएसए मुख्यालय पर चली गोली

इमेज कॉपीरइट AFP

जांच शुरू

एफबीआई के स्पेशल एजेंट गॉर्डन जॉनसन ने बताया कि ऐसा लगता है कि ये वाहन किराए पर लिया गया था. उन्होंने बताया कि मामले की जांच की जा रही है.

एनएसए की ओर से जारी एक अन्य बयान में जानकारी दी गई कि स्थानीय समय अनुसार सुबह करीब सात बजे कैनाइन गेट चेकप्वाइंट पर " सुरक्षा से जुड़ी" एक घटना हुई.

एनएसए के अधिकारियों के मुताबिक ऐसा नहीं लगता कि लोग गोलियां लगने से घायल हुए हैं.

एफबीआई के बाल्टीमोर स्थित कार्यालय ने ट्विटर पर जानकारी दी है कि उसने मामले की जांच के लिए अधिकारियों को भेजा है.

स्थानीय आपातकालीन सेवाओं के कर्मचारी भी मौके पर पहुंच गए.

इमेज कॉपीरइट Reuters

व्हाइट हाउस का बयान

अमरीकी राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप को भी घटना के बारे में जानकारी दे दी गई है.

व्हाइट हाउस की प्रवक्ता लिंडसे वाल्टर्स ने कहा कि सभी प्रभावित लोगों के साथ हमारी प्रार्थनाएं हैं.

मार्च 2015 में निर्देशों को अनसुना करते हुए एनएसए गेट तक वाहन लेने जाने पर एक व्यक्ति की मौत हो गई थी और एक अन्य घायल हो गया था.

बाद में समाचार रिपोर्टों में जानकारी दी गई कि वाहन में सवार दोनों व्यक्ति संभवत: ड्रग्स के नशे में थे.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

मिलते-जुलते मुद्दे