कार पर सवार होकर नाप डाले धरती के सबसे उत्तर और दक्षिण के बार

  • 18 फरवरी 2018
बेन कूम्स अपनी कार के साथ इमेज कॉपीरइट ALVARO ANDRES PINZON PHOTOGRAPHY

इंग्लैंड के एक शख़्स ने धरती के सबसे उत्तर में स्थित पब से सबसे दक्षिण में स्थित पब तक अपनी स्पोर्ट्स कार से 21 देशों की यात्रा कर डाली.

38 साल के बेन कूम्स इंग्लैंड के प्लिमथ से हैं. उन्होंने आर्कटिक सर्कल से चिली के दक्षिणी छोर तक तीन महाद्वीपों से होकर 20 हज़ार मील (क़रीब 32 हज़ार किलोमीटर) का सफ़र तय किया.

इस सफ़र को पूरा करने में उन्हें सात महीने लगे.

कूम्स को इस रोमांचक यात्रा का ख़्याल तब आया, जब वह डार्टमोर के एक पब में बियर पी रहे थे.

अकेलेपन के सन्नाटे को चीरते 5 सच

कोलकाता में अपनी सांसे गिनती इमारतें

इमेज कॉपीरइट BEN COOMBS
Image caption कूम्स ने अपनी टीवीआर स्पोर्ट्स कार में किया यह सफ़र

उनकी यात्रा की शुरुआत नॉर्वे के स्वालबार द्वीप में पिरामिडन क़स्बे की बंद हो चुकी खदान से हुई. इस इलाक़े में चार लोग रहते हैं.

कूम्स का कहना है कि सबसे उत्तर में आख़िरी बार को ढूंढना आसान था.

वह बताते हैं, "पिरामिडन उत्तरी ध्रुव से मात्र 700 मील दूर है. यह पृथ्वी के उत्तर में इंसानों की आख़िरी स्थायी बस्ती है और यहां एक बार भी है."

इमेज कॉपीरइट BEN COOMBS

"यहां एक ही इमारत ठीक हालत में है और वह है इस क़स्बे का पुराना हॉल. लोग यहीं रहते हैं और यहीं पर एक बार है."

ऐसे ढूंढे पब

धरती के उत्तरी और दक्षिणी छोर में पब ढूंढने के लिए कूम्स ने ऐसे लाइसेंसधारी परिसर ढूंढे, जहां से बियर खरीदी जा सकती है.

उन्होंने कहा, "अंटार्कटिक में कुछ जगहों पर बार हैं लेकिन वे आम लोगों के लिए नहीं हैं और न ही उनके पास लाइसेंस हैं."

इसीलिए कूम्स को अंटार्कटिक से बाहर पब ढूंढना पड़ा जो उन्हें चिली में पुएर्तो विलियम्स में मिला.

इमेज कॉपीरइट Ben coombs
Image caption 20 हज़ार मील की यात्रा में कूम्स को कच्ची-पक्की हर तरह की सड़कें मिलीं

लंबा था सफ़र

कूम्स ने 20 हज़ार मील यानी लगभग 31 हज़ार किलोमीटर तक कई तरह की सड़कों पर अपनी गाड़ी दौड़ाई.

कूम्स पहले अपनी हरे रंग की बीस साल पुरानी टीवीआर काइमेरा कार पिरामिडन से साउथहैंप्टन तक चलाई और यहां से अगस्त में इसे न्यूयॉर्क के लिए शिप कर दिया.

यहां से पहले वह कैलिफ़ोर्निया गए और वहां से मेक्सिको पहुंचे.

इमेज कॉपीरइट BEN COOMBS
Image caption एक बार गाड़ी का क्लच बदलने की ज़रूरत पड़ी

निकारागुआ में उनकी कार में नया क्लच डाला गया और पूरे सफ़र के दौरान गाड़ी को और किसी ख़ास मरम्मत की ज़रूरत नहीं पड़ी.

उनकी दो सीटों वाली कन्वर्टिबल कार में इस यात्रा के दौरान अलग-अलग समय में कई लोग सवार हुए.

उनके सामने बड़ी चुनौती रही देशों की सीमाएं पार करना. इसके अलावा कोलंबिया में गिरती हुई चट्टानों से बचना भी चुनौतीपूर्ण रहा.

इमेज कॉपीरइट Ben coombs
Image caption कोलंबिया में सड़क पर गिरी चट्टानें

12 फ़रवरी को कूम्स पुएर्तो विलिम्य पहुंचे जो उनकी आख़िरी मंज़िल थी. यहीं पर उन्हें धरती में दक्षिण पर स्थित आख़िरी पब मिला.

हालांकि पुएर्तो कहते हैं कि सफ़र महत्वपूर्ण है, मंज़िल नहीं.

इमेज कॉपीरइट BEN COOMBS

अब बेन कूम्स की कार को वापस इंग्लैंड के डेवन के लिए शिप किया जाएगा.

सुपरमार्केट में ख़रीदारी भी सेहतमंद हो सकती है?

'चाइल्ड पोर्नोग्राफ़ी... मुझे सबकुछ देखना पड़ता था...'

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए