अमरीकी राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप और पोर्न स्टार स्टॉर्मी डेनियल्स की पूरी कहानी

  • 11 मार्च 2018
स्टॉर्मी डेनियल्स, अमरीकी राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप इमेज कॉपीरइट EPA, AFP/Getty

अमरीका की पोर्न एक्टर स्टॉर्मी डेनियल्स अपने साथ किए एक कथित 'अनुबंध' को लेकर राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप पर मुकदमा करने वाली हैं.

डेनियल्स का कहना है कि साल 2006 की शुरुआत में उनका ट्रंप के साथ अफेयर था, हालाँकि इस बात से ट्रंप अब तक इनकार करते रहे हैं.

राष्ट्रपति के इनकार करने के बाद ये कहानी क्यों महत्वपूर्ण है? और आपको क्या जानने की आवश्यकता है?

ट्रंप के साथ अफ़ेयर के क़िस्से सुनाएंगी पॉर्न स्टार?

वो महिला, जिसके साथ थे 'ट्रंप के संबंध'

कौन हैं स्टॉर्मी डेनियल्स?

स्टेफ़नी डेनियल्स का बचपन का नाम स्टेफ़नी क्लिफोर्ड था और वो साल 1979 में लूइसियाना में पैदा हुई थीं. उन्होंने एडल्ट फ़िल्मों की दुनिया में बतौर अभिनेत्री कदम रखा था. 2004 में उन्होंने निर्देशन और लेखन की दुनिया में अपनी शुरुआत की.

इमेज कॉपीरइट Ethan Miller/Getty Images

मोट्ली क्रू म्यूज़िकल ग्रुप में वाद्ययंत्र बजाने वाली निक्की सिक्स की बेटी स्टॉर्म और अमरीकी शराब कंपनी जैक डेनियल्स- इन दो नामों को मिला उन्होंने अपना ये नाम रखा है.

वो '40 ईयर ओल्ड वर्जिन' और 'नॉक्ड अप' जैसी फ़िल्मों और मरून फाइव़ के म्यूज़िक वीडियो में भी काम कर चुकी हैं.

साल 2010 में उन्होंने लूइसियाना से सीनेट के पद के लिए चुनाव लड़ा था लेकिन अपनी उम्मीदवारी को गंभीरता से ना लिए जाने पर उन्होंने अपना नाम वापस ले लिया था.

स्टॉर्मी डेनियल्स के आरोप

डेनियल्स का दावा है कि साल 2006 में कैलिफोर्निया और नेवादा के बीच मौजूद लेक टोहोय होटल में उनकी मुलाक़ात ट्रंप के साथ हुई. उस वक्त ट्रंप एक व्यवसायी थे.

इमेज कॉपीरइट NICHOLAS KAMM/AFP/Getty Images

साल 2011 में डेनियल्स ने इनटच पत्रिका को एक इंटरव्यू दिया (जो इसी साल जनवरी में छापा गया) जिसमें उन्होंने दावा किया कि ट्रंप ने उन्हें डिनर का न्योता दिया, जिसके लिए वो ट्रंप के होटल के कमरे में उनसे मिलने पहुंचीं थीं.

उनका कहना था कि ट्रंप "काउच पर पैर पसार कर बैठे थे और शायद टेलीविज़न देख रहे थे. वो पजामा पहने हुए थे."

डेनियल्स का दावा है कि उन्होंने होटल में ट्रंप के साथ संबंध बनाए. हालांकि उनके इस दावे पर ट्रंप के निजी वकील का कहना है कि ट्रंप इन आरोपों से इनकार करते हैं.

अगर डेनियल्स के आरोप सही हैं तो ये वाकया मेलानिया के ट्रंप के बेटे बैरन को जन्म देने के चार महीने बाद का है.

ट्रंप पर फिर लगे यौन दुर्व्यवहार के आरोप

इमेज कॉपीरइट SAUL LOEB/AFP/Getty Images

'ट्रंप ने दिया था लालच'

डेनियल्स का कहना है कि ट्रंप ने उनसे कहा था कि वो अपने टेलीविज़न शो 'द एपरेन्टिस' में उन्हें जगह दे सकते हैं. राष्ट्रपति पद के लिए चुनावी दौड़ में शामिल होने से पहले ट्रंप टेलीविज़न शो 'द एपरेंटिस' होस्ट किया करते थे.

उन्होंने कहा कि ट्रंप के साथ बैठ कर उन्होंने शार्क पर एक डॉक्यूमेंट्री भी देखी थी. डेनियल्स का कहना था कि ट्रंप को "शार्क से डर लगता है" और एक बार उन्होंने कहा था कि "वो उम्मीद करते हैं कि सभी शार्क मर जाएं".

श्वार्ज़नेगर का ट्रंप को चैलेंज, चलो नौकरियां बदल लें

इमेज कॉपीरइट Donald Trump @Twitter
Image caption 2013 में ट्रंप ने एक ट्वीट में कहा था कि वो शार्क पसंद नहीं करते.

स्टॉर्मी डेनियल्स का दावा है कि ट्रंप और उनके बीच इसके बाद भी बातचीत जारी रही. उनके अनुसार साल 2010 में सीनेट पद ले लिए उम्मीदवारी दाख़िल करने के दौरान उन्होंने ट्रंप से आख़िरी बार बात की थी.

साल 2016 में हुए राष्ट्रपति चुनावों से पहले दोनों के बीच अफेयर होने से जुड़ी अफवााहें तूल पकड़ने लगी थीं.

वॉल स्ट्रीट जर्नल ने मतदान के कुछ दिन पहले ख़बर प्रकाशित की थी कि डेनियल्स टेलीविज़न चैनल एबीसी के कार्यक्रम "गुड मॉर्निंग अमरीका" के साथ इस विषय पर बात कर रही थीं कि वो अपने और ट्रंप के संबंधों के बारे में कार्यक्रम में बताएंगी लेकिन उन्होंने अचानक ही एबीसी से बात करना बंद कर दिया.

इमेज कॉपीरइट Ethan Miller/Getty Images

फिर से चर्चा में क्यों हैं डेनियल्स?

बीते कई महीनों से स्टॉर्मी डेनियल्स का नाम एक बार फिर चर्चा में आया है. जनवरी में वॉल स्ट्रीट जर्नल में एक ख़बर छापी जिसमें ये दावा किया गया कि राष्ट्रपति ट्रंप के निजी वकील माइकल कोहेन ने अक्तूबर 2016 में राष्ट्रपति चुनावों से पहले स्टॉर्मी डेलियल्स के साथ 1 लाख 30 हज़ार डॉलर का समझौता किया था.

जर्नल के अनुसार समझौते के तहत स्टेफ़नी क्लिफोर्ड, डोनल्ड ट्रंप के साथ अपने संबंधों का ज़िक्र सार्वजनिक तौर पर नहीं करेंगी.

इस मामले में व्हाइट हाउस का कहना था, "ये पुराने दस्तावेज़ हैं जिन पर फिर से चर्चा शुरू हो गई है और चुनावों से पहले इस ख़बर का खंडन किया जा चुका है."

कोहेन ने पैसे देने की बात से इनकार किया था. वॉल स्ट्रीट जर्नल को दिए एक बयान में उन्होंने कहा था कि उन पर लगाए गए आरोप "बेबुनियाद" हैं और "सभी पक्षों ने लगातार सालों तक इनका खंडन किया है". लेकिन इस साल फरवरी में उन्होंने स्टेफ़नी डेनियल्स को पैसे देने की बात को स्वीकार किया.

इमेज कॉपीरइट EPA/SHAWN THEW

न्यूयॉर्क टाइम्स को दिए एक बयान में माइकल कोहेन ने कहा कि "इस समझौते के बारे में ट्रंप के अभियान और ट्रंप की कंपनी में किसी को कुछ नहीं पता है. स्टेफ़नी क्लिफोर्ड यानी स्टॉर्मी डेनियल्स को ये पैसे उन्होंने अपनी जेब से दिए थे. ट्रंप ने इन पैसों को मुझे किसी रूप में नहीं लौटाया".

कोहेन ने कहा, "क्लिफ़ोर्ड को किया गया भुगतान पूरी तरह से वैध है और यह किसी भी तरह से कैंपेन फंडिंग का हिस्सा नहीं है और ना ही किसी के द्वारा कैंपेन ख़र्च का हिस्सा है."

वॉल स्ट्रीट जर्नल में छपे लेख के कुछ देर बाद डेनियल्स ने दक्षिण केरोलाइना के एक क्लब से "मेक अमेरिका हॉर्नी अगेन" अभियान शुरू किया. अभियान की शुरुआत उन्होंने राष्ट्रपति ट्रंप के शपथग्रहण समारोह की सालगिरह पर की.

क्लब के मैनेजर जे लेवी ने कहा कि वॉल स्ट्रीट जर्नल में एक लाख 30 हज़ार डॉलर के समझौते के बारे में छपे लेख के दूसरे दिन ही उन्होंने इस कार्यक्रम के लिए दिन बुक कर लिया था.

इसके लिए छापे गए प्रचारपत्र में उन्होंने ट्रंप और डेनियल्स के बीच से संबंध के बारे में लिखा "हमने उन्हें लाइव देखा था. आप भी देख सकते हैं!"

मुंबई की वो महिला जिसने दी ट्रंप को टक्कर

हिलेरी क्लिंटन ने डोनल्ड ट्रंप को कहा 'छिछोरा'

इमेज कॉपीरइट Ethan Miller/Getty Images

ताज़ा खबर- ट्रंप पर मुकदमे की तैयारी

मंगलवार के स्टॉर्मी डेनियल्स ने कहा कि वो ट्रंप पर मुकदमा करने वाली हैं. उनका दावा है कि ट्रंप ने उन दोनों के बीच हुए "समझौते पर हस्ताक्षर नहीं किए हैं."

उनके वकील माइकल अवेनाती ने इस मुकदमे के बारे में मौजूद दस्तावेजों की जानकारी ट्वीट की.

इमेज कॉपीरइट Michael Avenatti @Twitter

इसके अगले ही दिन ख़बरें आईं कि राष्ट्रपति ट्रंप ने फरवरी में स्टॉर्मी डेनियल्स के ख़िलाफ़ अदालत से रोक लगाने संबंधी आदेश प्राप्त कर लिए हैं.

निजी मध्यस्थता कार्यवाही में उन्होंने ये आदेश प्राप्त किए हैं ताकि कथित तौर पर दोनों के रिश्तों के बारे में "गोपनीय जानकारी" डेनियल्स साझा ना कर सकें.

व्हाइट हाउस की प्रवक्ता सारा हुकाबी सैंडर्स ने बुधवार को कहा, "ये मामला निजी मध्यस्थता की एक कार्यवाही में जीता गया है और इसके अलावा किसी और जानकारी के लिए राष्ट्रपति के निजी सलाहकार से संपर्क किया जा सकता है."

डेनियल्स के वकील ने व्हाइट हाउस के बयान को "हास्यास्पद" बताया है.

सीएनएन ने गुरुवार को ख़बर दी थी कि राष्ट्रपति ट्रंप सारा सैंडर्स की टिप्पणी से नाराज़ थे क्यों इसके साथ ही पहली बार व्हाइट हाउस ने डेनियल्स के साथ ट्रंप के किसी तरह से संबंध होने की बात भी स्वीकार कर ली थी.

महिला पत्रकार पर ट्रंप का विवादित ट्वीट

हिंदुस्तानी महिलाओं पर भारी पड़ सकता है ट्रंप का ये 'फ़ैसला'

इमेज कॉपीरइट Chip Somodevilla/Getty Images

शुरू हो गया है प्रतिक्रियाओं का दौर

दक्षिण केरोलाइना से नेता मार्क सैनफोर्ड उन गिने चुने रिपब्लिकन नेताओं में से जिन्होंने इस मामले पर आपनी राय ज़ाहिर की है. वॉशिंगटन पोस्ट के अनुसार उन्होंने कहा है ये आरोप "परेशान करने वाले" हैं.

उन्होंने कहा, "यदि ये मामला गणतांत्रिक तरीके से चुने गए किसी राष्ट्रपति के बारे में है और अभियान में समझौते के तहत पैसों का भुगतान किया गया है तो इसकी सुनवाई चलेगी? मुझे लगता है कि आप इसके संकेत देख सकते हैं कि ऐसा होगा."

इधर, कैलिफोर्निया और न्यूयॉर्क से डेमोक्रेटिक नेता टेड लियु और कैथलीन राइस ने मांग की है कि कोहेन के डेनियल्स को पैसे देने की बात की जांच अमरीका की संघीय जांच एजेंसी यानी एफ़बीआई करे.

10 मौके जब डोनल्ड ट्रंप ने की ख़ुद की तारीफ़

इमेज कॉपीरइट Ted Lieu @Twitter
Image caption टेड लियु ने लिखा, "अगर ये लेख सही दावा कर रहा है कि माइकल कोहेन डोनल्ड ट्रंप के चुनावी अभियान में शामिल थे, तो स्टॉर्मी डेनियल्स को 1 लाख 30 हज़ार डॉलर का जो भुगतान किया गया है को संघीय चुनाव कानून के तहत अपराध होगा. मैंने और कैथलीन राइस ने इस मामले में एफ़बीआई जांच की मांग की है."

डेनियल्स-ट्रंप के संबंधों की चर्चा अब स्थानीय स्तर पर भी तूल पकड़ने लगी है. यूटा में रिपल्किन पार्टी के प्रतिनिधि ने एक बिल का प्रस्ताव दिया है और डोनल्ड जे ट्रंप नेशनल पार्क्स हाइवे का नाम बदलने की पेशकश की है.

इधर डेमोक्रेट सीनेटर जिम डबाकि वे स्थानीय अख़बार को बताया है कि अगर ये बिल ऊपरी सदन तक पहुंच जाता है तो वो नज़दीक में मौजूद स्टॉर्मी डेनियल्स रैंपवे का नाम बदलने का प्रस्ताव रखेंगे.

ट्रंप की सत्ता का साथ छोड़ने वाले सात लोग

बहुत हुआ! ट्रंप उम्मीदवारी वापस लें: कोंडोलीज़ा राइस

इस विवाद के ट्रंप के लिए क्या मायने होंगे?

व्हाइट हाउस के अधिकारियों के लिए ये विवाद महत्वपूर्ण समय में सामने आया है और ख़त्म होने का नाम नहीं ले रहा.

पहले ही अमरीकी राष्ट्रपति चुनावों में रूस के कथित हस्तक्षेप के बारे में जांच चल रही है और ट्रंप के कई अधिकारी या तो नौकरी छोड़ चुके हैं या तो फिर जांच के दायरे में हैं.

इमेज कॉपीरइट Getty Images
Image caption साल 1998 की इस तस्वीर में व्हाइट हाउस के एक कार्यक्रम के दौरान बिल क्लिंटन और मोनिका लेविंस्की

व्हाइट हाउस इस वक्त एक और विवाद से उलझना नहीं चाहता. लेकिन इस विवाद के साथ पूर्व राष्ट्रपति बिल क्लिंटन ये जुड़े एक विवाद की याद भी ताज़ा हो जाती है.

व्हाइट हाउस में काम करने वाली मोनिका लेविंस्की के साथ अफेयर के संबंध में झूठ बोलने के आरोप में बिल क्लिंटन पर महाभियोग प्रस्ताव लाया गया था.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

मिलते-जुलते मुद्दे