अब ऑस्ट्रेलिया से लंदन की दूरी सिर्फ़ 17 घंटे

क्वांटास की फ्लाइट 787-9 ड्रीमलाइनर इमेज कॉपीरइट EPA
Image caption क्वांटास की ड्रीमलाइनर 787-9 विमान पहले की तुलना में लंबी अवधि की उड़ान में सक्षम

ऑस्ट्रेलिया से करीब 17 घंटे 6 मिनट का सफ़र तय कर एक नॉन-स्टॉप फ्लाइट लंदन के हीथ्रो एयरपोर्ट पहुंची. यह पहला मौका था जब ऑस्ट्रेलिया से ब्रिटेन के बीच यात्रियों से भरे किसी विमान ने नॉन-स्टॉप उड़ान भरी.

क्वांटास की फ्लाइट क्यूएफ 9 पर्थ से करीब 14,498 किलोमीटर का सफ़र तय कर रविवार की सुबह लंदन में उतरी.

यह बोइंग का 787-9 ड्रीमलाइनलर विमान है जिसमें बोइंग 747 की तुलना में दोगुनी ईंधन क्षमता है.

ये क्वांटास की उस महत्वकांक्षी योजना का हिस्सा है जिसके तहत वो बहुत लंबी दूरी की उड़ानों को अपने बेड़े का हिस्सा बनाना चाहता है.

सऊदी एयरलाइंस में स्कर्ट पहनी तो...

क्या अंग्रेज़ी न आने के कारण होते हैं प्लेन क्रैश?

Image caption इस फ्लाइट से ब्रिटेन पहुंचने वाले एक युगल ने कहा "सफ़र बहुत जल्दी पूरा हुआ"

पहले चार दिनों का सफ़र था

ऑस्ट्रेलियाई एयरलाइंस क्वांटास के सीईओ एलेन जोएस ने पर्थ-लंदन के बीच इस सेवा की शुरुआत को गेम चेंजर बताया है. इस उड़ान से पहले एक कार्यक्रम के दौरान उन्होंने कहा कि पहले ऑस्ट्रेलिया और ब्रिटेन के बीच क्वांटास फ्लाइट, जिसे कंगारू रूट के नाम से जाना जाता है, चार दिनों में सफ़र तय करती थी और उसमें सात स्टॉप होते थे.

पश्चिम ऑस्ट्रेलियाई सरकार इस नॉन स्टॉप उड़ान के कारण पर्यटकों की संख्या में खासी वृद्धि की उम्मीद कर रही है.

200 से अधिक यात्रियों और 16 क्रू मेंबर्स को लेकर यह विमान पर्थ से शनिवार की शाम 18.49 बजे उड़ा था.

टाटा एयरलाइंस कैसे बनी थी एयर इंडिया?

इमेज कॉपीरइट EPA
Image caption क्वांटास के सीईओ एलेन जोएस ने भी इस फ्लाइट में यात्रा की

उड़ान के दौरान रिसर्च भी

लंबी उड़ान के सफ़र में यात्रियों को परेशानी न हो इसके लिए यह फ्लाइट बेहतर एयर क्वालिटी और केबिन में कम शोर हो इन सुविधाओं से लैस थी.

कुछ यात्री अपने सोने और अन्य गतिविधियों के डेटा को सिडनी यूनिवर्सिटी के शोधकर्ताओं के साथ साझा करने के लिए राजी हो गये थे.

इन यात्रियों ने इसके लिए विशेष मॉनिटर्स और अन्य डिवाइस पहने जिसने उनकी मानसिक स्थिति, खाने के पैटर्न और हाइड्रेशन के स्तर को रिकॉर्ड किया.

ब्रिटेन में इस उड़ान को लेकर कुछ प्रतिक्रियाएं भी सोशल मीडिया पर शेयर की गईं.

जब एयरलाइंस ने मोर को हवाई यात्रा से रोका

Image caption हीथ्रो पर यात्रियों का स्वागत किया गया

मील का पत्थर

ट्विटर यूजर एंड्रयू लोंग ने लिखा, "विमान रनवे पर उतर गया है!! यह हवाई जहाज उड़ान के इतिहास में एक मील का पत्थर था."

एक अन्य यूजर ने ली मेसन ने कहा, "यह उपलब्धि अद्भुत थी" और लिखा "उम्मीद है मैं एक दिन इसमें चढ़ूंगा."

पश्चिम ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री मार्क मैक्गोवन ने इस फ्लाइट के लंदन उतरने पर ट्वीट किया, "पश्चिम ऑस्ट्रेलिया की अर्थव्यवस्था के लिए नए युग की आधिकारिक शुरुआत हो गई है."

इस ऐतिहासिक यात्रा के बाद लंदन में सुबह सुबह उतरे यात्रियों ने हीथ्रो हवाई अड्डे पर किए गए स्वागत की तस्वीरें साझा की.

पर्थ-लंदन के बीच यह उड़ान अन्य किसी भी फ्लाइट की तुलना में तीन घंटे तेज़ है जो मध्यपूर्व में विमानों को बदलने या ईंधन भरने के लिए रुकती हैं.

इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption पर्थ से उड़ान की शुरुआत के दौरान 787-9 ड्रीमलाइनलर विमान

इंटरनेशनल एयर ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन के मुताबिक दोहा-ऑकलैंड के बीच 14,529 किलोमीटर के क़तर एयरवेज की फ्लाइट के बाद यह दुनिया की दूसरी सबसे लंबी दूरी की उड़ान है.

अन्य विमान सेवाओं में अमीरात और यूनाइटेड एयरलाइंस ने भी 14 हज़ार किलोमीटर से अधिक की नॉन स्टॉप उड़ाने पूरी की हैं.

2017 में यूनाइटेड एयरलाइंस ने लॉस एंजिल्स से सिंगापुर के बीच अमरीका से सबसे लंबी दूरी के नॉन-स्टॉप उड़ान की पेशकश की थी.

लेकिन दुनिया की सबसे लंबी दूरी की नॉन-स्टॉप उड़ान सेवा सिंगापुर एयरलाइंस ने शुरू की थी. सिंगापुर से न्यूयॉर्क के बीच 15,300 किलोमीटर से अधिक दूरी के इस उड़ान सेवा को 2013 में बंद कर दिया गया था.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)