रूस की जवाबी कार्रवाई, निकाले 60 अमरीकी राजनयिक

रुस सेंट पीटर्सबर्ग में अमरीकी कॉन्सुलेट को बंद करेगा इमेज कॉपीरइट EPA
Image caption रुस सेंट पीटर्सबर्ग में अमरीकी कॉन्सुलेट को बंद करेगा

रूस ने अमरीका के 60 राजनयिकों को निकालने और सेंट पीटर्सबर्ग कॉन्सुलेट को बंद करने का फ़ैसला किया है. उन्हें देश छोड़ने के लिए एक हफ़्ते का वक़्त दिया गया है.

रूस ने ये कदम ब्रिटेन में रूसी जासूस को ज़हर देने के मामले में अमरीका की ओर से की गई कार्रवाई के जवाब में उठाया है.

रूस के विदेश मंत्री सर्गेई लावरोव ने कहा है कि रूस के राजनयिकों को बाहर करने वाले दूसरे देशों को 'समान' जवाब की उम्मीद रखनी चाहिए.

रूस के एक पूर्व जासूस पर दक्षिण इंग्लैंड में नर्व एजेंट अटैक हुआ था. ये तमाम घटनाक्रम उसी के बाद शुरू हुआ है.

रूस के पूर्व जासूस सर्गेई स्क्रिपल और उनकी बेटी यूलिया बीती चार मार्च को ब्रिटेन के सेलिस्बरी शहर की एक बैंच पर बेहोश मिले थे.

ब्रिटेन की सरकार ने इस हमले के लिए रूस को जिम्मेदार बताया था.

ब्रिटेन के साथ एकजुटता दिखाते हुए 20 से ज़्यादा देश रूस के राजनयिकों को निकाल चुके हैं. अमरीका भी उनमें शामिल है. अमरीका ने इसी हफ़्ते रूस के 60 राजनयिकों को निकालने का आदेश दिया था और सिएटल में दूतावास बंद कर दिया था.

शीत युद्ध के बाद रूस के ख़िलाफ़ अमरीका की सबसे बड़ी कार्रवाई

नेटो ने निष्कासित किए सात रूसी राजनयिक

इमेज कॉपीरइट AFP

अमरीका की कड़ी प्रतिक्रिया

इंटरफैक्स समाचार एजेंसी के मुताबिक अमरीका की कार्रवाई के जवाब में रूस ने मॉस्को में मौजूद अमरीका के 58 और येकेटरीनबर्ग में दो राजनयिकों को 'अवांछित' बताया है.

रूस के विदेश मंत्री सर्गेई लावरोव ने कहा कि अमरीकी राजदूत जॉन हंट्समैन को 'जवाबी कार्रवाई' के बारे में जानकारी दे दी गई है.

कुछ वक्त बाद अमरीका के विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता ने कहा कि रूस के कदम से जाहिर है कि उनकी दूसरे देशों के साथ अच्छे रिश्ते रखने में दिलचस्पी नहीं है. अमरीका के पास आगे दूसरे कदम उठाने का अधिकार है.

सेलिस्बरी की घटना के बाद ब्रिटेन की प्रधानमंत्री टेरिज़ा मे ने रुस पर कई प्रतिबंधों का ऐलान किया था. इनमें रुस के 23 राजनयिकों का निष्कासन भी शामिल था.

जवाबी कार्रवाई में रूस ने ब्रिटेन के इतने ही राजनयिकों को वापस भेजने का फ़ैसला किया और ब्रिटिश काउंसिल को बंद कर दिया.

रूसी जासूस, जिसे मिली 'गद्दारी' की सज़ा?

रूस-ब्रिटेन में बढ़ी तकरार, मॉस्को ने निकाले 23 ब्रितानी राजनयिक

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे