22वीं बार दुनिया की सबसे ऊंची चोटी एवरेस्ट फ़तह के लिए कूच करेंगे नेपाल के कामी रीता शेरपा

नेपाली पर्वतारोही कामी रीता शेरपा इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption नेपाली पर्वतारोही कामी रीता शेरपा को उम्मीद है कि माउंट एवरेस्ट पर 22वीं बार चढ़कर वे इतिहास रच देंगे

दुनिया की सबसे ऊंची पर्वत चोटी पर पहुंचना इतना आसान नहीं होता, ज़्यादातर लोग वहां अनजाने डर के साये के साथ ही पहुंच पाते हैं.

लेकिन 48 साल के नेपाली पर्वतारोही कामी रीता शेरपा के साथ ऐसा नहीं है.

दुनिया की सबसे ऊंची पर्वत चोटी माउंट एवरेस्ट पर सबसे ज़्यादा बार कामयाबी के साथ पहुंचने का विश्व रिकॉर्ड बनाने के लिए रविवार को वो रवाना हो रहे हैं.

मौजूदा रिकॉर्ड 21 बार का है और वो भी कामी रीता शेरपा के नाम ही है, लेकिन इस रिकॉर्ड में उनके दो साथी पर्वतारोहियों की भी साझीदारी थी.

ये दो पर्वतारोही भी नेपाली ही हैं, लेकिन अब उन्होंने रिटायरमेंट ले ली है.

इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption 29,029 फ़ीट की ऊंचाई के साथ माउंट एवरेस्ट दुनिया की सबसे ऊंची पर्वत चोटी है

शेरपा समुदाय

इस सफ़र की कामयाबी का एक मतलब ये भी है कि कामी रीता शेरपा दुनिया के सबसे अनुभवी एवरेस्ट पर्वतारोही बन जाएंगे.

इस हफ़्ते की शुरुआत में उन्होंने एफ़े न्यूज़ एजेंसी से कहा था, "मैं इतिहास बनाने की एक और कोशिश कर रहा हूं ताकि मेरे देश और पूरे शेरपा समुदाय को इस पर गर्व हो."

कामी रीता शेरपा एक अमरीकी कंपनी के लिए गाइड का काम करते हैं. ये कंपनी पर्वतारोहन ट्रिप का आयोजन करती है.

साल 1994 में वे पहली बार माउंट एवरेस्ट पर पहुंचे थे और आख़िरी बार 2017 के मई महीने में.

विदेशी पर्वतारोही पर्वतारोहन के लिए अनुभवी शेरपाओं की मदद अमूमन लिया करते हैं.

ये अनुभवी शेरपा पर्वतारोही दल के लिए ट्रैवल रूट तैयार करते हैं, रस्सियां जगह पर लगाते हैं और ज़रूरी औज़ार और सामान साथ लेकर चलते हैं.

इमेज कॉपीरइट Reuters

मौसम के हालात

कामी रीता शेरपा इस नई यात्रा में 29 पर्वतारोहियों के दल का नेतृत्व करेंगे. दल में अमरीका और जापान के पर्वतारोही शामिल हैं.

ये दल रविवार को बेस कैंप के लिए रवाना होगा और दो हफ़्ते बाद ही इसकी चढ़ाई शुरू हो पाएगी.

शिखर पर उनका पहुंचना इस बात पर निर्भर करेगा कि मौसम के हालात कैसे हैं.

कामी रीता शेरपा ने 'काठमांडू पोस्ट' अख़बार से कहा, अगर सबकुछ योजना के मुताबिक़ होता है तो हम 29 मई तक अतिम चोटी पर पहुंच जाएंगे.

उन्होंने ये भी कहा कि इस कोशिश में कामयाब होने के बाद भी वे रिकॉर्ड तोड़ने का सिलसिला जारी रखेंगे.

कामी रीता शेरपा का इरादा 25 बार माउंट एवरेस्ट पर फ़तह करने का है. वे कहते हैं, "मैं इतिहास बनाना चाहता हूं."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे

संबंधित समाचार