उत्तर प्रदेश: बीजेपी विधायक पर रेप का आरोप, पीड़िता के पिता की 'संदिग्ध मौत'

  • 9 अप्रैल 2018
सांकेतिक तस्वीर इमेज कॉपीरइट iStock

एक दिन पहले उन्नाव के बीजेपी विधायक के ख़िलाफ़ रेप का आरोप लगाने और मुख्यमंत्री आवास के बाहर आत्महत्या की कोशिश करने वाली लड़की के पिता की सोमवार सुबह उन्नाव के ज़िला जेल में संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई.

पुलिस का कहना है कि मौत के कारणों का पता नहीं चला है लेकिन फ़िलहाल मामले में लापरवाही के चलते संबंधित माखी थानाध्यक्ष समेत पांच अन्य पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया गया है.

मामले में चार लोगों को गिरफ़्तार भी किया गया है. वहीं राज्य के डीजीपी और गृह विभाग ने जेल प्रशासन और ज़िला प्रशासन के पूरी रिपोर्ट तलब की है.

इमेज कॉपीरइट iStock

आत्मदाह की कोशिश

रविवार को उन्नाव के बीजेपी विधायक कुलदीप सेंगर पर एक युवती ने ये आरोप लगाया था कि उसके साथ विधायक और उनके साथियों ने रेप किया था और मामले की रिपोर्ट लिखाने के बाद विधायक और उनके साथी मुक़दमा वापस लेने का दबाव बना रहे थे.

मुख्यमंत्री को लिखे पत्र में पीड़िता ने आरोप लगाया था कि ऐसा न करने पर विधायक के साथियों ने गत तीन अप्रैल को उनके पिता और घर वालों के साथ मार-पीट की और बाद में पुलिस ने उन्हीं लोगों के ख़िलाफ़ कार्रवाई करते हुए गिरफ़्तार कर लिया था.

युवती ने रविवार को मुख्यमंत्री आवास के बाहर आत्मदाह की कोशिश की थी, लेकिन उसे बचा लिया गया और लखनऊ ज़ोन के एडीजी राजीव कृष्ण ने पीड़िता से बातचीत के बाद संबंधित अधिकारियों को तलब किया.

इमेज कॉपीरइट Twitter@unnaopolice

पुलिस और प्रशासन

पीड़िता ने पिता समेत परिवार के लोगों की हत्या की आशंका भी जताई थी. सोमवार तड़के ही पीड़त युवती के पिता की जेल में मौत होने की ख़बर आ गई जिससे पुलिस और प्रशासन में हड़कंप मच गया.

हालांकि इस घटना के तुरंत बाद उन्नाव के विधायक कुलदीप सेंगर ने ख़ुद मीडिया के सामने आकर इन आरोपों से इनकार किया.

उनका कहना था, "मेरे परिवार में ग्राम प्रधानी लंबे समय से चली आ रही है, जिसकी रंजिश के तहत कुछ विरोधियों ने इस आरोप की पूरी कहानी रची है ताकि इस वजह से मेरी राजनीतिक छवि ख़राब हो जाए. इस परिवार को राजनीति का हिस्सा बनाकर मेरे ख़िलाफ़ षड्यंत्र रचा रचा जा रहा है."

विधायक का ये भी कहना है कि मृत व्यक्ति और उनके भाई पहले से भी आपराधिक मामलों में लिप्त रहे हैं. फ़िलहाल पुलिस पोस्ट मॉर्टम रिपोर्ट का इंतज़ार कर रही है.

ज़िले के डीएम और एसपी इस मामले में कुछ भी जानकारी देने को तब तक तैयार नहीं हैं जब तक कि पोस्टमॉर्टम की रिपोर्ट न आ जाए.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार