तीन सदियों की गवाह रही ताजिमा का 117 साल की उम्र में निधन

  • 22 अप्रैल 2018
जापान इमेज कॉपीरइट YOUTUBE
Image caption 117 साल की उम्र में ताजिमा का निधन

117 साल 261 दिन की उम्र में जापान की नबी ताजिमा नाम की एक महिला का निधन हुआ है. वो जापान के दक्षिण-पूर्वी किकाई द्वीप में रहती थीं.

ताजिमा का नाम गिनिज़ बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में सबसे ज़्यादा उम्र के व्यक्ति के रूप में दर्ज था. उन्हें दुनिया की सबसे लंबी उम्र तक ज़िंदा रहने वाले व्यक्ति के तौर पर देखा जाता था.

मेडिकल रिपोर्ट के अनुसार ताजिमा की मौत अस्पताल में हुई जहां वो इसी साल जनवरी से भर्ती हुई थीं. ताजिमा के नाम कई रिकॉर्ड हैं. वो पूरे एशिया में सबसे ज़्यादा दिनों तक ज़िंदा रहने वाली शख़्स बनीं और इस मामले में पूरी दुनिया में वो तीसरे नंबर पर रहीं.

गिनिज़ बुक के मुताबिक़ ताजिमा आख़िरी व्यक्ति थीं जिनका जन्म 19वीं सदी में हुआ और 21वीं सदी तक ज़िंदा रहीं.

मतलब ताजिमा के पास तीन सदियों तक जीने का तजुर्बा था. रिकॉर्ड के अनुसार ताजिमा का जन्म चार अगस्त 1900 को हुआ था. उन्होंने बीसवीं सदी में भी जिया और आख़िरकार 21वीं सदी में दुनिया को अलविदा कह दिया.

जापानी मीडिया के अनुसार ताजिमा के 160 वंशज हैं. इनमें इनके नौ बच्चे, 28 पोते-पोतियां, 56 पड़पोते-पोतियां और 35 उनके बच्चे.

ताजिमा के बाद जापान की ही चियो योशिदा अब सबसे ज़्यादा उम्र की हैं. इस उम्र का कोई व्यक्ति दुनिया भर में अभी ज़िंदा नहीं है. चियो की उम्र 116 सोल हो रही है.

जापानी टीवी एनएचके के मुताबिक़ ताजिमा जीवन के आख़िरी दिनों में ज़्यादातर समय सोई रहती थीं. वो लंबे समय से बोल नहीं रही थीं. हालांकि वो दिन में तीन बार खाती थीं. जापान के स्थानीय प्रशासन के मुताबिक़ देश में 100 साल या उससे ज़्यादा उम्र के 67 हज़ार लोग हैं.

एशिया के देशों में 100 साल की उम्र के इतनी बड़ी संख्या में लोग कहीं नहीं हैं. यहां तक कि जापान वैसा देश है जहां सबसे ज़्यादा बूढ़ी आबादी है. वहां के सरकारी आंकड़ों के अनुसार 26 फ़ीसदी आबादी 65 साल या उससे ऊपर की है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

मिलते-जुलते मुद्दे