दक्षिण कोरिया ने कहा, मई में परमाणु परीक्षण स्थल बंद करेगा उत्तर कोरिया

  • 29 अप्रैल 2018
सेटेलाइट तस्वीर इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption उत्तर कोरिया में पुंगेरी परीक्षण स्थल की सेटेलाइट तस्वीर

दक्षिण कोरिया के राष्ट्रपति कार्यालय ने कहा है कि उत्तर कोरिया अपने परमाणु परीक्षण स्थल को मई में बंद करेगा.

एक प्रवक्ता ने कहा कि पुंगेरी स्थल सार्वजनिक रूप से बंद किया जाएगा और दक्षिण कोरिया-अमरीका के विदेशी विशेषज्ञों को इसे देखने के लिए आमंत्रित किया जाएगा.

शुक्रवार को उत्तर कोरिया के नेता किम जोंग उन और दक्षिण कोरिया के राष्ट्रपति मून जे इन कोरियाई प्रायद्वीप को परमाणु हथियारों से मुक्त बनाने पर राज़ी हुए थे.

दोनों राष्ट्राध्यक्षों के बीच यह बैठक उत्तर कोरिया की ओर से युद्ध जैसी स्थितियां पैदा करने के बाद हुई थी.

वहीं, शनिवार को अमरीकी राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप ने कहा था कि वह उत्तर कोरिया के नेतृत्व के साथ अगले तीन या चार हफ़्तों के अंदर कोरियाई प्रायद्वीप को परमाणु मुक्त करने को लेकर बात करेंगे.

इमेज कॉपीरइट Getty Images
Image caption उत्तर कोरिया और दक्षिण कोरिया के राष्ट्राध्यक्ष

दक्षिण कोरिया ने क्या कहा?

राष्ट्रपति के प्रवक्ता यून योंग-चान ने कहा कि किम कह चुके हैं कि वह मई में परमाणु परीक्षण स्थल को बंद कर देंगे.

यून ने आगे कहा कि उत्तर कोरिया के नेता ने यह भी कहा है कि "वह उत्तर कोरिया और अमरीका के विशेषज्ञों को यह देखने के लिए आमंत्रित करेंगे ताकि इस प्रक्रिया के बारे में अंतर्राष्ट्रीय समुदाय को पारदर्शिता के साथ पता चल सके."

राष्ट्रपति कार्यालय ने यह भी बताया है कि उत्तर कोरिया अपने टाइम ज़ोन को बदलेगा ताकि दक्षिण कोरिया और उसका समय एक हो सके. अभी दोनों के समय में आधे घंटे का अंतर है.

इस मुद्दे पर उत्तर कोरिया ने अभी तक कोई टिप्पणी नहीं की है.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

कहां पर है परीक्षण स्थल?

उत्तर कोरिया का यह परमाणु परीक्षण स्थल पहाड़ी इलाके में है और माना जाता है कि यह उत्तर कोरिया का मुख्य परमाणु केंद्र है.

पुंगेरी स्थल के नज़दीक मंटाप पहाड़ के नीचे सुंरग खोदकर परमाणु परीक्षण हो चुका है.

2006 के बाद वहां पर छह परमाणु परीक्षण हुए हैं.

सितंबर 2017 में आख़िरी परीक्षण के बाद भूकंप जैसे झटके लगे थे जिसके बाद भूकंपविदों का मानना है कि पहाड़ के अंदर का हिस्सा ढह गया है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए