पाकिस्तानी बस ड्राइवर के बेटे साजिद जावेद बने ब्रिटेन के गृह मंत्री

  • 30 अप्रैल 2018
साजिद जावेद इमेज कॉपीरइट PA

अंबर रड के इस्तीफ़े के बाद साजिद जावेद को ब्रिटेन का नया गृह मंत्री बनाया गया है.

पाकिस्तानी बस चालक के बेटे जावेद फ़िलहाल कम्युनिटीज़, लोकल गर्वंमेंट एंड हाउसिंग मंत्री हैं.

जावेद का परिवार 1960 के दशक में ब्रिटेन आया था. इससे पहले पूर्व इनवेस्टमेंट बैंकर और ब्रॉम्सग्रोव के सांसद बिज़नेस और कल्चर मंत्री भी रह चुके हैं.

साजिद जावेद साल 2010 से ब्रिटेन में सांसद हैं और इससे पहले तीन अलग-अलग विभागों का ज़िम्मा संभाल चुके हैं.

काले, एशियाई और अल्पसंख्यक (BAME) समुदाय से आने वाले पहले गृह मंत्री जावेद ने कम्प्रेसिव स्कूल और एक्सटर यूनिवर्सिटी से पढ़ाई की और साल 2010 के बाद वो इस पद तक पहुंचे पहले पुरुष हैं.

क्यों जाना पड़ा अंबर को?

अंबर रड ने ये कहते हुए अपने पद से इस्तीफ़ा दे दिया था कि उन्होंने इमिग्रेशन के लक्ष्यों के बारे में सांसदों को अनजाने में भ्रमित किया.

इस इस्तीफ़े से पहले विंडरश परिवारों के साथ हुए बुरे बर्ताव को लेकर ख़बरें आती रही थीं, जो जंग के बाद ब्रिटेन में क़ानूनी रूप से बसे, लेकिन उनके यहां रहने के अधिकार को लेकर सवाल खड़े किए गए और सरकार की इमिग्रेशन पॉलिसी पर भी सवाल खड़े हुए.

जावेद के प्रमोशन के साथ ये एलान भी किया गया कि पूर्व नॉर्दर्न आयरलैंड सेक्रेटरी जेम्स ब्रोकनशियर हाउसिंग, कम्युनिटीज़ एंड लोकल गर्वंमेंट सेक्रेटरी के तौर पर कैबिनेट में लौटेंगे.

48 साल के जावेद ने यूरोपीय संघ का हिस्सा बने रहने का समर्थन किया था और पिछले साल लंदन की ग्रेनफ़ेल इमारत में लगी आग के बाद वो सरकार की तरफ़ से प्रतिक्रिया दे रहे थे.

सप्ताहांत में ही उन्होंने संडे टेलीग्राफ़ से कहा था कि विंडरश स्कैंडल से उन्हें व्यक्तिगत रूप से आघात पहुंचा है क्योंकि वो इमिग्रेंट परिवार से ताल्लुक रखते हैं और पीड़ितों में वो, उनकी मां या पिता भी हो सकते थे.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

मिलते-जुलते मुद्दे