इसराइल ने किया सीरिया में ईरानी ठिकानों पर हवाई हमला

  • 10 मई 2018
इसराइल, ईरान इमेज कॉपीरइट Reuters

इसराइल ने सीरिया में कई ईरानी ठिकानों पर हवाई हमले किए हैं.

इसराइल का कहना है कि ये उन ईरानी रॉकेट हमलों का जवाब है जो उनके सैनिक ठिकानों पर किए गए थे.

इसराइल का कहना है कि ईरानी रेवोल्यूशनरी गार्ड्स ने गोलान हाईट्स पर स्थित इसराइली सैनिक अड्डों पर रॉकेट दागे थे.

इसराइली डिफ़ेंस सर्विसेज़ ने कहा है कि इसके जवाब में उन्होंने सीरिया में ईरान के हथियारों के स्टोर, मिसाइल लांचर अड्डे और अन्य सैन्य ठिकानों पर बम गिराए हैं.

सीरिया के एयर डिफ़ेंस सिस्टम को भी निशाना बनाया गया है.

इमेज कॉपीरइट AFP

दो नागरिक मारे गए...

सीरिया की सरकारी एजेंसी सना ने कहा है कि इसराइल के कुछ मिसाइल इंटरसेप्ट किए गए हैं.

सना के मुताबिक दमिश्क की किस्वाह इलाक़े में दो मिसाइल को गिराया गया है और धमाकों में दो नागरिक मारे गए हैं.

लेकिन ब्रिटेन स्थित सीरियाई मानवाधिकार संस्था ने कहा है कि मिसाइल हथियारों के ठिकाने पर गिरी है जिसमें 15 सरकार समर्थित लड़ाके मारे गए हैं.

संस्था के मुताबिक मरने वालों में ईरान की ताक़तवर रेव्योल्यूशनेरी गार्ड्स के आठ सदस्य और कई ग़ैर-सीरियाई नागरिक शामिल हैं.

इसराइल ने इन ख़बरों पर कोई टिप्पणी नहीं दी है. पर ये दोहराया है कि वो सीरिया में ईरान के पैर नहीं जमने देगा.

इमेज कॉपीरइट MENAHEM KAHANA/AFP/Getty Images

अफ़ग़ानिस्तान और यमन

ईरान सीरिया का सहयोग है और उसने वहां सैकड़ों सैनिक तैनात कर रखे हैं.

लेबनान के हिज़्बुल्ला के कई सदस्य सीरिया ही नहीं इराक़, अफ़ग़ानिस्तान और यमन में लड़ते हैं.

ईरान इन सब को हथियार, ट्रेनिंग और वित्तीय सहायता देता है. इनमें से कई सीरियाई सेना से कंधे से कंधा मिलाकर लड़ते हैं.

दमिश्क में लोगों ने शहर में कई धमाकों की आवाज़ सुनी है. इसराइल ने कहा है कि हमले के बाद सारे हवाई विमान सकुशल वापस लौट आए हैं.

इसराइल ने साफ़ किया है कि वो सीरिया में ईरान ख़तरे को कभी भी पनपने नहीं देगा.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार