पेरिस हमला: रूस के चेचेन्या में पैदा हुआ था 'अल्लाह हू अकबर' चिल्लाने वाला हमलावर

  • 13 मई 2018
पेरिस इमेज कॉपीरइट GEOFFROY VAN DER HASSELT/AFP/Getty Images
Image caption पेरिस में एक महिला सुरक्षाकर्मी

फ्रांस की राजधानी पेरिस में शनिवार शाम चाकू से जानलेवा हमला करने वाला संदिग्ध हमलावर रूस के चेचेन्या में पैदा हुआ था.

जस्टिस डिपार्टमेंट के सूत्रों ने बताया कि हमलावर की उम्र तकरीबन 21 साल की थी.

फ्रांस की पुलिस के मुताबिक राजधानी पेरिस में एक चाकूधारी हमलावर ने एक व्यक्ति की जान ले ली और चार अन्य लोगों को घायल कर दिया.

घायलों में से दो की हालत गंभीर है. पेरिस के ओपेरा इलाके में हुए इस हमले के बाद पुलिस की कार्रवाई में हमलावर की मौत हो गई.

प्रत्यक्षदर्शियों का कहना है कि हमलावर 'अल्लाह हू अकबर' के नारे लगा रहा था और पुलिस ने हमलावर को दो गोलियां मारी थीं.

इमेज कॉपीरइट AFP

खुद को इस्लामिक स्टेट कहने वाले चरमपंथी संगठन ने बाद में ये कहा कि उनके सिपाहियों ने इस हमले को अंज़ाम दिया है.

फ्रांस की मीडिया ने जस्टिस डिपार्टमेंट के सूत्रों के हवाले से बताया कि संदिग्ध व्यक्ति का कोई आपराधिक रिकॉर्ड नहीं पाया गया है.

हालांकि संदिग्ध व्यक्ति के अभिभावकों से पूछताछ की जा रही है.

समाचार एजेंसी रॉयटर्स ने सूत्रों के हवाले से बताया कि संदिग्ध व्यक्ति के बारे में पुलिस के पास कोई जानकारी नहीं थी.

फ्रांस के गृह मंत्री ज़ेरा कोलों ने बताया कि हमले में मारा गया शख्स 29 साल का एक राहगीर था. हालांकि उन्होंने मृतक के बारे में विस्तार से कोई जानकारी नहीं दी.

इमेज कॉपीरइट AFP

पेरिस का ओपेरा इलाका

फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों ने ट्विटर पर लिखा, 'फ्रांस ने आज फिर ख़ून बहाया है लेकिन हम आज़ादी के दुश्मनों को एक इंच भी नहीं देंगे'.

ये घटना मध्य पेरिस के ओपेरा ज़िले की है. ये इलाक़ा पर्यटकों के बीच अपनी शानदार नाइट लाइफ के लिए मशहूर है.

प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक हमले के बाद अफरा-तफरी की स्थिति बन गई और सड़कों पर मौजूद लोग रेस्तरां और कैफे का रुख करने लगे.

फ्रांस के गृहमंत्री ज़ेरा कोलों ने पुलिस की कार्रवाई की प्रशंसा की है. उन्होंने कहा कि 'इस जघन्य घटना के पीड़ितों के साथ उनकी संवेदनाएं हैं'.

फ्रांस पुलिस ने लोगों से अफवाहें न फैलाने के लिए कहा है. पुलिस ने ट्वीट किया, "कृपया वही सूचनाएं साझा करें जो विश्वस्त सूत्रों से मिल रही हैं."

बीते तीन सालों में लगातार हुए हमलों के बाद से फ्रांस में हाई अलर्ट है. इनमें से कुछ हमलों की जिम्मेदारी इस्लामिक स्टेट ने ली है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

मिलते-जुलते मुद्दे