भारतीय मूल के सिख बने मलेशिया के पहले कैबिनेट मंत्री

  • 24 मई 2018
गोबिंद सिंह देव इमेज कॉपीरइट TWITTER/GOBINDSINGHDEO

मलेशिया के इतिहास में पहली बार कैबिनेट में एक भारतीय मूल के सिख नेता को जगह मिली है.

गोबिंद सिंह देव को मलेशिया सरकार की कैबिनेट में मंत्री पद मिला है. देव कम्युनिकेशन और मल्टीमीडिया मंत्रालय संभालेंगे. देव के अलावा इस कैबिनेट में एक और भारतीय एम कुलासेगरन को जगह मिली है.

समाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक़, डेमीक्रेटिक एक्शन पार्टी के एम कुलासेगरन को मानव संसाधन विकास मंत्रालय दिया गया है.

इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption गोबिंद सिंह देव (बाएं)

कौन हैं गोबिंद सिंह देव?

देव पुचोंग संसदीय क्षेत्र से हैं. वो पूर्व मलेशियाई वकील और नेता करपाल सिंह के बेटे हैं.

मलेशिया के प्रधानमंत्री महातिर मोहम्मद ने देव को अपनी नई कैबिनेट में जगह दी, जिसके बाद बुधवार को नेशनल पैलेस में देव ने शपथ ली.

देव पहली बार साल 2008 के आम चुनावों में जीतकर संसद पहुंचे थे. इसके बाद 2013 में भी वो बड़े वोट मार्जिन से संसद के निचले सदन में जीते थे.

2018 में हुए आम चुनावों में देव 47,635 वोटों से जीते हैं. देव को मंत्रालय में जगह दिए जाने के कदम का मलेशिया में सिख समुदाय ने स्वागत किया है.

मलेशिया में सिखों की जनसंख्या क़रीब एक लाख है.

इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption महातिर मोहम्मद

इसी महीने 92 साल के महातिर बने थे मलेशिया के पीएम

मई महीने की शुरुआत में हुए आम चुनावों में 92 साल के महातिर मोहम्मद ने जीत दर्ज की.

इस जीत के बाद महातिर ने 15 साल बाद मलेशिया की सत्ता में वापसी की थी. शपथ ग्रहण करने के साथ ही वो दुनिया के सबसे बुजुर्ग निर्वाचित नेता बने.

महातिर के विपक्षी गठबंधन ने चुनाव में 115 सीटों पर जीत हासिल करते हुए सरकार बनाने के लिए ज़रूरी 112 सीटों का बहुमत जुटा लिया.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

मिलते-जुलते मुद्दे