अमरीका के साथ 'कभी भी कैसे भी' समाधान के लिए तैयार उ.कोरिया

  • 25 मई 2018
ट्रंप ने किम जोंग उन के साथ मुलाक़ात रद्द की इमेज कॉपीरइट Getty Images

उत्तर कोरिया ने अपने नेता किम जोंग उन के साथ सिंगापुर में होने वाली मुलाक़ात से अमरीकी राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप के पीछे हटने पर निराशा जताई है.

उत्तर कोरिया की सरकारी समाचार एजेंसी का कहना है कि अमरीकी राष्ट्रपति ट्रंप का ये फ़ैसला दुनिया की इच्छा के अनुरूप नहीं है.

ट्रंप ने किम जोंग उन के साथ मुलाक़ात रद्द की

'कभी भी कैसे भी'

उत्तर कोरिया का कहना है कि किम जोंग उन ने राष्ट्रपति ट्रंप के साथ मुलाक़ात के लिए बहुत प्रयास किए थे.

उत्तर कोरिया का ये भी कहना है कि वो अमरीका के साथ मुद्दों का 'कभी भी कैसे भी' समाधान करना चाहता है.

इससे पहले, राष्ट्रपति ट्रंप के फ़ैसले के बारे में व्हाइट हाउस के अधिकारियों का कहना था कि उत्तर कोरिया ने कई वादे तोड़े हैं.

इमेज कॉपीरइट Reuters

व्हाइट हाउस के अधिकारी ये भी कह रहे हैं कि उत्तर कोरिया के प्रतिनिधि पिछले हफ्ते सिंगापुर में एक योजना बैठक की भी तैयारी नहीं कर पाए.

अमरीका का ये भी कहना है कि उत्तर कोरिया ने पर्यवेक्षकों को अनुमति नहीं दी ताकि वे उसके परमाणु परीक्षण को तबाह करते देख पाते.

हालांकि उत्तर कोरिया ने विदेशी पत्रकारों के एक समूह को वहां ले जाकर इसका गवाह बनाया था.

उत्तर कोरिया ने परमाणु परीक्षण सुरंगों को 'उड़ाया'

चिंता और आलोचना

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंटोनियो गुटरेश ने इस पर चिंता जताई है.

उन्होंने कहा है कि अमरीका और उत्तर कोरिया को परमाणु निरस्त्रीकरण की दिशा में रास्ता तलाशना जारी रखना चाहिए.

दक्षिण कोरिया के राष्ट्रपति मून जेइ इन ने भी खेद जताते हुए अपने तमाम आला सुरक्षा सहयोगियों को आपात बैठक के लिए तलब किया है.

अमरीकी कांग्रेस में राष्ट्रपति ट्रंप के विरोधियों ने भी उनके इस फ़ैसले के लिए कटु आलोचना की है.

डेमोक्रेटिक पार्टी की नेता नैंनी पेलोसी ने कहा है कि इससे पता चलता है कि उत्तर कोरिया से निपटने के लिए राष्ट्रपति ट्रंप के दिमाग में कितनी गहराई है.

'इस समय बैठक होना उचित नहीं'

अमरीकी राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप ने उत्तर कोरियाई नेता किम जोंग उन के साथ होने वाली बैठक रद्द करते हुए कहा कि इस समय इस बैठक का होना उचित नहीं है.

इमेज कॉपीरइट WHITE HOUSE

ट्रंप ने कहा कि ये फ़ैसला उन्होंने उत्तर कोरिया के हालिया ''बेहद नाराज़गी भरे और भड़काऊ'' बयान के बाद लिया है.

उत्तर कोरियाई नेता किम जोंग उन को लिखे एक पत्र में उन्होंने कहा वो उनसे ''किसी दिन'' मिलने के लिए बेहद उत्सुक थे.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

मिलते-जुलते मुद्दे