500 में 499 अंक, ये हैं सीबीएसई 12वीं की टॉपर मेघना

  • 26 मई 2018
मेघना श्रीवास्तव, सीबीएसई 12वीं परीक्षा, सीबीएसई रिजल्ट
Image caption मेघना श्रीवास्तव

मेघना श्रीवास्तव के लिए परीक्षा के नतीजों की चिंता अचानक ही बेइंतहा खुशी में तब बदल गई जब सीबीएसई 12वीं के नतीजे आए.

मेघना ने पूरे भारत में टॉप किया है. उन्हें 500 में से 499 अंक मिले हैं.

सीबीएसई ने शनिवार को जब परिणाम घोषित किये, तो मेघना का नाम सबसे ज़्यादा अंक पाने वालों में सबसे ऊपर था.

अपनी इस उपलब्धि पर खुशी ज़ाहिर करते हुए मेघना कहती है, ''मुझे पता ही नहीं था कि मैंने टॉप किया है. मेरे कुछ दोस्तों ने मुझे न्यूज के स्क्रीनशॉट भेजे तो मुझे पता चला. बहुत खुशी हुई और साथ ही हैरानी भी.''

Image caption अपने माता-पिता अल्पना और गौतम ​श्रीवास्तव के साथ मेघना

एक अंक का अफसोस नहीं

मेघना ने नोएडा स्थित स्टेप बाई स्टेप स्कूल से 12वीं की पढ़ाई की है. उनके स्कूल में भी खुशी का माहौल था और सभी मेघना को बधाई दे रहे थे.

मेघना ने ह्यूमैनिटीज स्ट्रीम से 12वीं की है. उन्हें पांच में से चार विषयों में 100 अंक मिले हैं, सि़र्फ़ एक नंबर कम है अंग्रेज़ी में.

500 अंक पूरे होने में मेघना का सिर्फ़ एक अंक रह गया. लेकिन, उन्हें इसका कोई अफसोस नहीं है. वो कहती हैं, ''मुझे इसका कोई दुख नहीं है क्योंकि 499 अपने आप में बहुत अंक होते हैं. मुझे जो मिला है मैं उससे बहुत खुश हूं.''

परीक्षा से पहले तैयारी के बारे में मेघना बताती हैं, ''यह पूरे साल की मेहनत है. आखिरी वक्त की पढ़ाई से नहीं हो पाता है. मैंने कभी 14-15 घंटे पढ़ाई नहीं की. मैंने कभी घंटे गिने ही नहीं. ज़्यादा से ज़्यादा 7 से 8 घंटे ही पढ़ाई की होगी.''

मेघना अपनी इस सफलता में अपने माता-पिता का बहुत योगदान मानती हैं. उनका कहना है, 'मेरे माता-पिता और स्कूल ने कभी मुझ पर दबाव नहीं डाला. उन्हें मुझे पर पूरा भरोसा था. बस वो मुझे अच्छा करते देखना चाहते थे.'

मेघना नोएडा में रहती हैं. उनकी माँ अल्पना श्रीवास्तव बिहार की राजधानी पटना से हैं. उनके पिता गौतम श्रीवास्तव मूल रूप से यूपी के बलिया से हैं

अल्पना एक मल्टीनेशनल कंपनी में रीजनल एचआर हेड हैं, पिता मानव संरचना यूनिवर्सिटी में असिस्टेंट प्रोफेसर के पद पर हैं.

अपनी बेटी की उपलब्धि की खुशी से फूली नहीं समा रहीं अल्पना कहती हैं, ''आज मेघना ने हमें सेलिब्रिटी बना दिया है. हम बहुत खुश हैं और हमें उसे पर गर्व है. उसे उसकी मेहनत का फल मिला है.''

वहीं, पिता ने बताया, ''मेघना अच्छा करेगी ये हमें मालूम था लेकिन इतना अच्छा करेगी इसकी उम्मीद नहीं थी. हमने कभी ज़्यादा नंबरों के लिए उस पर दबाव नहीं डाला. नौंवी क्लास के बाद से ही उसका प्रदर्शन बहुत अच्छा रहा है.''

सफलता के टिप्स

वहीं, मेघना अब अपने भविष्य के सपने बुन रही हैं. वह अपना करियर साइकोलॉजी में बनाना चाहती हैं. उन्होंने बताया, ''ऐसे तो अभी कुछ फाइनल नहीं किया है लेकिन मैं साइकोलॉजी में आगे पढ़ना चाहती हूं और इसके लिए विदेश में विकल्प तलाश रही हूं.''

कॉलेज में ज़्यादा अंकों की दौड़ को वो गलत मानती हैं. मेघना कहना है कि इससे स्टूडेंट्स पर बहुत दबाव पड़ता है. मेहनत तो सभी करते हैं इसलिए मार्क्स के लिए परेशान होना ठीक नहीं.

​मेघना पढ़ाई के इतर खुद को आराम देने के लिए ऑनलाइन फिल्में देखती हैं. और दोस्तों के साथ समय बिताती हैं.

सफलता की टिप्स के लिए वह कहती हैं कि मेहनत और लगातार कोशिश करने से आप सफल हो सकते हैं.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

दूसरे स्थान पर अनुष्का

सीबीएसई 12वीं की परीक्षा मार्च से अप्रैल के बीच हुई लेकिन पेपर लीक होने के कारण इकोनॉमिक्स की परीक्षा दुबारा हुई थी और परिणामों की तारीख आगे बढ़ा दी गई थी.

इस भार लगभग 11 लाख विद्यार्थियों ने 12वीं की परीक्षा दी, जिसमें से 9 लाख 19 हज़ार छात्र पास हुए हैं. यह आंकड़ा पिछले साल के मुकाबले एक प्रतिशत ज़्यादा है.

लड़कियों ने इस बार बाज़ी मार ली है. कुल 87.50 प्रतिशत लड़कियां और 78 प्रतिशत लड़के पास हुए हैं.

गाज़ियाबाद के एसएजे स्कूल की अनुष्का चंदर ने दूसरा स्थान हासिल किया है. उन्हें 498 अंक मिले. इसके अलावा सात बच्चों को 497 अंकों के साथ तीसरा स्थान हासिल हुआ है.

ये भी पढ़ें:

UPSC: इस माँ के लिए कितना मुश्किल था टॉप करना

UPSC 2017: कश्मीरी टॉपर फ़ज़लुल हसीब से कैसे सवाल पूछे गए

मिलिए यूपी बोर्ड के 10वीं और 12वीं के टॉपर्स से

IAS टॉपर नंदिनी, जिसका दोस्त मज़ाक उड़ा रहे थे

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए