किम का वो वफादार जो ट्रंप से मिलने अमरीका जा रहा है

  • 29 मई 2018
उत्तर कोरिया इमेज कॉपीरइट Getty Images

किम जोंग-उन और डोनल्ड ट्रंप के बीच प्रस्तावित मुलाक़ात के लिए उत्तर कोरिया के एक वरिष्ठ अधिकारी न्यूयॉर्क जा रहे हैं.

साल 2000 के बाद ख़ुफ़िया विभाग के पूर्व प्रमुख किम योंग-चोल वो अधिकारी हैं जो अमरीका जा रहे हैं.

अमरीकी राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप ने मंगलवार को इस ख़बर की पुष्टि की है. ट्रंप ने कहा कि बातचीत के लिए 'साथ मिलकर एक बेहतर टीम' बनाई गई है.

डोनल्ड ट्रंप ने कुछ संदेह जताते हुए प्रस्तावित मुलाक़ात को पिछले हफ़्ते रद्द कर दिया था, जिसके बाद इस पर संशय बढ़ गया था.

लेकिन अब दोनों देश मिलकर शिखर सम्मेलन की तैयारी कर रहे हैं. शिखर सम्मेलन 12 जून को प्रस्तावित है, जो सिंगापुर में होगा.

ये पहली दफ़ा होगा जब उत्तर कोरिया के नेता अमरीका के राष्ट्रपति से मिलेंगे.

सम्मलेन की जिम्मेदारी जनरल किम के ऊपर

शिखर सम्मेलन से उत्तर कोरिया क्या चाहता है, जनरल किम योंग-चोल उन मुद्दों को रखेंगे. इन्हीं पर सम्मेलन को आगे ले जाने की जिम्मेदारी है.

जनरल किम योंग-चोल हाल ही में हुए उत्तर कोरिया की उच्च स्तरीय वार्ता का हिस्सा रहे हैं.

दक्षिण कोरिया की न्यूज एजेंसी योनहैप की मंगलवार की रिपोर्ट के मुताबिक जनरल किम योंग-चोल न्यूयॉर्क के लिए बुधवार को उड़ान भरेंगे.

उड़ान भरने से पहले वो चीन के अधिकारियों से मुलाक़ात करेंगे.

डोनल्ड ट्रंप ने इस ख़बर की पुष्टि की है और कहा है कि सम्मेलन और 'अन्य विषयों' पर भी बात होगी.

इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption किम जोंग-उन के साथ जनरल किम अक्सर देखे जाते रहे हैं

कौन हैं किम योंग-चोल?

जनरल किम योंग-चोल 72 साल के हैं और पड़ोसी देश दक्षिण कोरिया में विवादित चेहरा हैं.

उन्होंने कोरियाई देशों के बीच बातचीत की मध्यस्थता की थी.

जब वो सैन्य ख़ुफ़िया विभाग के प्रमुख थे, उन पर दक्षिण कोरिया के ठिकानों पर हमले के पीछे उनके हाथ होने के आरोप थे.

साथ ही 2014 में सोनी पिक्चर्स की हैंकिंग में भी उनका हाथ बताया जाता है.

इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption विंटर ओलंपिक के दौरान इवांका ट्रंप के साथ जनरल किम

इसके बाद जनरल किम योंग-चोल पर अमरीका ने निजी तौर पर प्रतिबंध लगा दिया था.

साल 2016 में अपने 'रवैये' के कारण सज़ा पाने के बाद भी वो सेना और पार्टी के उच्च पदों पर बने रहे.

साल 2018 में प्योंगचांग में हुए विंटर ओलंपिक में वो उत्तर कोरिया के प्रतिनिधिमंडल के प्रमुख थे.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहाँ क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए