प्रवासियों के मुद्दे पर ब्रसेल्स में अहम बैठक

  • 29 जून 2018
एंगेला मर्केल इमेज कॉपीरइट AFP

जर्मन चांसलर एंगेला मर्केल ने यूरोपीय संघ के नेताओं से प्रवासियों की समस्या के समाधान के लिए साथ मिलकर काम करने के लिए कहा है.

जर्मनी की संसद में एंगेला मर्केल ने कहा कि प्रवासियों का मुद्दा यूरोपीय संघ के लिए निर्णायक कदम साबित हो सकता है.

इस्लाम से देश का संबंध नहीं: जर्मनी के गृहमंत्री

शिया-सुन्नी टकराव के कारण है सीरिया में तबाही?

इमेज कॉपीरइट AFP

जर्मन चांसलर ने ये आह्वान यूरोपीय संघ के ब्रसेल्स में हो रहे सम्मेलन से पहले किया, जिसमें बिना दस्तावेज़ वाले प्रवासियों से निपटने पर ध्यान केंद्रित किया जा रहा है.

इन प्रवासियों में अधिकतर अफ्रीकी देशों के होते हैं जो भूमध्यसागर पार करने के लिए अपनी जान जोखिम में डालते हैं.

इमेज कॉपीरइट AFP

एंगेला मर्केल पर नए प्रवासियों को आने से रोकने के लिए समझौता करने का दबाव है.

जर्मनी के गृहमंत्री होर्स्ट ज़इहोफ़ाम कह चुके हैं कि सप्ताहांत के बाद वे प्रवासियों को सीमा से वापस भेजना शुरू कर देंगे.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

इन प्रवासियों में वो शरणार्थी भी शामिल हैं जो सीरिया और संघर्ष वाले अन्य क्षेत्रों से इस उम्मीद में भागे हैं कि उन्हें पनाह मिल जाएगी.

हालांकि मौजूदा संकट उतना बड़ा नहीं है जितना वर्ष 2015 में था जब हज़ारों की संख्या में शरणार्थी आसरे के लिए ग्रीस के टापू लेस्बोस चले आ रहे थे.

इमेज कॉपीरइट Reuters

लेकिन इस बार शरणार्थियों के मुद्दे पर तनाव तब बढ़ गया जब प्रवासियों से भरे जहाज़ों को इटली के बंदरगाहों में दाख़िल नहीं होने दिया गया.

प्रवासियों का मुद्दा इटली के चुनावों में ख़ासा गर्माया था और वहां की सरकार इस मामले में यूरोपीय संघ से ठोस पहल चाहती है.

वैसे इस सम्मेलन में सबका ध्यान जर्मन चांसलर एंगेला मर्केल पर ही है क्योंकि उनके गृहमंत्री प्रवासियों के मामले में सख़्त तेवर दिखा रहे हैं.

एक प्रवासी कैसे बना तुर्की का सबसे ताक़तवर नेता

ट्रंप की विवादित प्रवासी नीति बदलने की वजह

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे