पांच बड़ी ख़बरें: रूस में मैच हारे पर दिल जीत ले गए जापानी

  • 4 जुलाई 2018
जापान टीम के एक प्रशंसक इमेज कॉपीरइट ALLSPORT/Getty Images

फ़ीफ़ा फुटबॉल विश्वकप में बेल्जियम से मात खा कर खेल से बाहर होने के बाद भी जापान ने फुटबॉल फ़ैन्स का दिल जीत लिया है.

बेल्जियम के ख़िलाफ़ रूस के रोस्तोव एरीना में खेले गए नॉक-आउट मैच में 2-3 से जापान हार गया. मैच में पहले 2 गोल जापान ने किए जिसके बाद बेल्जियम ने मैच में ज़ोरदार वापसी की और एक पर एक तीन गोल दाग दिए.

जीता हुआ मैच हारने की वजह से टीम का दुखी होना भी लाजमी था, लेकिन जापानी टीम इसके बाद अपने ड्रेसिंग रूम में लौटी, उसे अच्छी तरह साफ़ किया और इसके बाद वहां से जाने से पहले वहां रखी मेज़ पर "शुक्रिया रूस" का संदेश लिखा और फिर विदा हुई.

न केवल जापानी टीम ने ऐसा किया बल्कि स्टेडियम में जमा हुए जापान के फ़ैन्स ने भी स्टेडियम में उन्होंने जो भी गंदगी फैलाई थी उसे साफ़ किया और लोगों का दिल जीत लिया.

इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption डोनल्ड ट्रंप के पूर्व चुनाव अभियान संयोजक माइकल कपूटो भी सीनेट इंटेलिजेंस कमिटी के सामने पेश हुए थे

अमरीकी चुनाव में रूस का 'हस्तक्षेप'

बिज़नेस इनसाइडर में छपी एक ख़बर के अनुसार अमरीका की नई सीनेट इंटेलिजेंस कमिटी ने ख़ुफ़िया समिति की 2017 की उस रिपोर्ट का समर्थन किया है जिसमें कहा गया था कि रूस ने अमरीकी राष्ट्रपति चुनावों में हस्तक्षेप किया था.

मंगलवार को कमिटी ने एक रिपोर्ट जारी की है जिसके अनुसार जनवरी 2017 में पेश की गई ख़ुफ़िया समिति की रिपोर्ट "ख़ुफ़िया जानकारी के आधार पर" और "पारदर्शी" तरीके से तैयार की गई है.

रिपोर्ट के अनुसार रूस ने रिपब्लिकन पार्टी के उम्मीदवार ट्रंप के समर्थन में काम किया और रूस ने डेमोक्रेटिक नेशनल कमेटी की वेबसाइट हैक की. साथ ही रूस ने चुनाव से ठीक पहले चुनाव आयोग से जुड़ी वेबसाइट को भी हैक करने की कोशिश की.

इमेज कॉपीरइट AFP

पाक में चरमपंथ विरोधी कार्रवाई

द स्टेट्समैन में छपी एक ख़बर के अनुसार पाकिस्तान के सेना प्रमुख जनरल क़मर जावेद बाजवा वे देश के भीतर चरमपंथ के अलग-अलग मामलों में जुड़े 12 चरमपंथियों को मौत की सज़ा पर अपनी स्वीकृति दे दी है.

सेना की मीडिया शाखा इंटर-सर्विसेस पब्लिक रिलेशन्स ने एक बयान में कहा है कि इसके साथ छह और चरमपंथियों को क़ानून व्यवस्था बिगाड़ने के मामलों में शामिल होने के लिए जेल की सज़ा पर भी सेना प्रमुख की स्वीकृति मिल गई है.

इन चरमपंथियों को सेना, आम नागरिक और क़ानून व्यवस्था लागू करने वाली संस्थाओं पर हमले के लिए ज़िम्मेदार माना गया है जिनमें अब तक आठ सैनिक और 26 आम नागरिक मार गए हैं और 133 लोग घायल हुए हैं.

सेना प्रमुख की हामी से पहले सैन्य अदालत में मुकदमा चलाया गया था.

इमेज कॉपीरइट Reuters

सोशल मीडिया पर सख़्ती

सोशल मीडिया पर फैलाई जा रही ग़लत ख़बरों के कारण भारत में हो रही हत्याओं और हिंसा को रोकने के लिए सरकार ने व्हा्टसऐप से संपर्क किया है.

इंडियन एक्सप्रेस में छपी एक ख़बर के अनुसार इलेक्ट्रॉनिक और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय ने व्हा्टसऐप के आला अधिकारियों को एक पत्र लिख कर कहा है कि वो अपने सोशल मीडिया पर फैल रही ऐसी ग़लत ख़बरों को रोकने के लिए कदम उठाएं.

मंत्रालय का कहना है कि कंपनी जल्द से जल्द ऐसे ग़लत संदेशों को रोके और इसके लिए वाजिब तकनीक का इस्तेमाल करे. सूत्रों के हवाले से अख़बार कहता है कि इसी महीने इस विषय पर गृह मंत्रालय एक बैठक करने वाला है जिसमें फ़ेसबुक, ट्विटर और व्हाट्सऐप को भी बुलाया जाएगा.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

हरमनप्रीत की डिग्री 'फ़र्ज़ी'

भारतीय महिला क्रिकेट टी20 की कप्तान और अर्जुन अवॉर्ड प्राप्त हरमनप्रीत कौर की स्नात्कोत्तर डिग्री फ़र्ज़ी पाई गई है.

टाइम्स ऑफ़ इंडिया में छपी एक ख़बर के अनुसार अख़बार कहता है कि पुलिस जांच में हरमनप्रीत कौर की डिग्री फ़र्ज़ी पाए जाने के बाद अब डिप्टी सुपरिन्टेंडेंट ऑफ़ पुलिस की उनकी नौकरी जा सकती है.

पुलिस ने राज्य गृह विभाग के पास इस संबंध में अपनी रिपोर्ट भेज दी है. मोगा की रहने वाली हरमनप्रीत ने इसी साल मार्च में पंजाब पुलिस ज्वाइन किया था.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहाँ क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)