बच्ची को 'स्तनपान' कराने वाला 'पहला' पुरुष

  • 5 जुलाई 2018
ब्रेस्टफ़ीड इमेज कॉपीरइट MAXAMILLIAN KENDALL NEUBAUER

तारीख 26 जून 2018. अमरीका के विस्कॉन्सिन में रहने वाले एक परिवार के घर एक नन्हा मेहमान आने वाला था. अस्पताल की वो रात सिर्फ़ मां के लिए ही अलग नहीं थी, पिता के साथ भी कुछ ऐसा हुआ जो उन्होंने कभी सपने में नहीं सोचा था.

एप्रिल न्यूबॉर्स की डिलीवरी इतनी सामान्य नहीं थी क्योंकि उनका ब्लड-प्रेशर बहुत हाई था. वो लंबे समय से प्री-एक्लेंपसिया से पीड़ित थीं. ये बीमारी गर्भवती महिलाओं को ही होती है. डिलीवरी के दौरान उनकी हालत इतनी ख़राब हो गई कि सीज़ेरियन डिलीवरी करानी पड़ी.

देर रात एप्रिल ने बेटी को जन्म दिया. बेटी का नाम रोज़ेली रखा. जन्म के वक्त रोज़ेली का वजन 3.6 किलो था.

लेकिन बेटी के जन्म के बाद ही एप्रिल को दूसरी मेडिकल समस्याएं शुरू हो गई और आगे के इलाज के लिए उन्हें अस्पताल के दूसरे कमरे में भेज दिया गया. ये सब कुछ इतना जल्दी हुआ कि वो अपनी नवजात बच्ची को गोद में भी नहीं उठा पाईं.

इमेज कॉपीरइट MAXAMILLIAN KENDALL NEUBAUER

निप्पल लगाकर ब्रेस्टफ़ीड

जब नर्स को बच्चे की मां नहीं मिली तो उसने रोज़ेली को उसके पिता मैक्समिलियन को दिया गया.

पिता मैक्समिलियन ने बीबीसी को बताया, "एक नर्स अपनी गोद में हमारी खूबसूरत सी बेटी को लेकर आई. हम नर्सरी की ओर बढ़े. मैं एक जगह बैठ गया और अपनी शर्ट उतार दी ताकि मैं उसका स्पर्श महसूस कर सकूं."

"नर्स ने कहा कि हमें बच्ची को कुछ देना पड़ेगा और उंगली से ही दूध पिलाना होगा, कम से कम शुरुआत तो करनी ही होगी."

"इसके बाद नर्स ने मुझसे पूछा कि क्या मैं अपनी छाती पर एक निप्पल लगाकर असल में ब्रेस्टफ़ीड कराना पसंद करूंगा. मैं इसे ट्राई करने के लिए तैयार हो गया और कहा हां, क्यों नहीं."

इमेज कॉपीरइट MAXAMILLIAN KENDALL NEUBAUER

कैसे कराया ब्रेस्टफ़ीड

नर्स ने एक ट्यूब की मदद से एक प्लास्टिक निपल को मेरी छाती से चिपका दिया. ये ट्यूब फॉर्मूला मिल्क से भरी एक सीरिंज से जुड़ा हुआ था.

"मैंने कभी भी ये नहीं किया और वाकई कभी ऐसा करने के बारे में सोचा भी नहीं था. मैं किसी बच्ची को ब्रेस्टफ़ीड कराने वाला पहला शख़्स था."

"मेरी सास ने जब ये देखा तो उन्हें अपनी आंखों पर यक़ीन ही नहीं हुआ."

"कुछ ही वक़्त में मुझे अपनी बेटी के साथ एक जुड़ाव महसूस होने लगा. मैंने उसे गोद में उठा रखा था और लगातार कोशिश कर रहा था कि उसे ब्रेस्टफ़ीड करने में दिक्क़त न हो."

मैक्समिलियन ने अपने फ़ेसबुक अकाउंट और इंस्टाग्राम पर अपने इस अनुभव को शेयर किया है.

उनकी छाती पर एक टैटू बना हुआ है जिस पर मॉम लिखा हुआ है. पोस्ट शेयर करने के बाद उन्हें कई कमेंट्स मिले. एक यूज़र ने लिखा कि "मॉम के टैटू के ठीक नीचे और ये वाकई उसको सही भी साबित कर रहा है."

कुछ लोगों ने उस नर्स की भी तारीफ़ की है जिसने ये विकल्प सुझाया.

इमेज कॉपीरइट MAXAMILLIAN KENDALL NEUBAUER

लेकिन कुछ लोगों ने ये भी कहा कि उन्हें एक पुरुष को ब्रेस्टफ़ीड कराते हुए देखना, थोड़ा अजीब लगा.

मैक्समिलियन की पोस्ट 30 हज़ार से ज़्यादा शेयर हुई है और उस पर सैकड़ों प्रतिक्रियाएं आई हैं. मैक्समिलियन का कहना है कि उन्होंने सिर्फ़ वही किया जो ऐसी स्थिति में कोई भी पिता करता.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए