ट्रंप ने शेयर की किम जोंग की लिखी 'बहुत अच्छी' चिट्ठी

  • 13 जुलाई 2018
किम जोंग-उन, डोनल्ड ट्रंप इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption पिछले महीने सिंगापुर में ऐतिहासिक मुलाक़ात के दौरान किम जोंग-उन और डोनल्ड ट्रंप

अमरीकी राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप ने उत्तर कोरियाई नेता किम जोंग-उन की लिखी एक चिट्ठी ट्विटर पर साझा की है. इस चिट्ठी में किम जोंग-उन ने अमरीका से द्विपक्षीय संबंधों में 'एक नए भविष्य' की उम्मीदें जताई है.

6 जुलाई की तारीख़ वाले इस ख़त को अमरीकी राष्ट्रपति ने 'बहुत अच्छी चिट्ठी' लिखकर साझा किया है.

लेकिन इस चिट्ठी में उत्तर कोरिया की ओर से परमाणु निरस्त्रीकरण के प्रयासों का कोई ज़िक्र नहीं है. जबकि पिछले महीने जून में ट्रंप और किम की सिंगापुर में हुई ऐतिहासिक मुलाक़ात का मुख्य मुद्दा यही था.

बल्कि अलग से अमरीका ने उत्तर कोरिया पर परिष्कृत तेल उत्पादों पर संयुक्त राष्ट्र की पाबंदियों के उल्लंघन का आरोप भी लगाया है.

इमेज कॉपीरइट Reuters

अमरीका का कहना है कि उत्तर कोरिया ने 89 टैंकरों के इस्तेमाल से जहाज़ से जहाज़ तक तेल उत्पाद हासिल करके पाबंदियों का उल्लंघन किया है. अमरीका ने उन देशों का ज़िक्र नहीं किया जो कथित रूप से उत्तर कोरिया को ये उत्पाद पहुंचा रहे हैं.

दिसंबर में संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद ने उत्तर कोरिया को ऐसे तेल उत्पादों की निर्यात सीमा पांच लाख बैरल सालाना तक सीमित कर दी थी.

किम की चिट्ठी में क्या?

इमेज कॉपीरइट Getty Images
Image caption पिछले महीने सिंगापुर में ऐतिहासिक मुलाक़ात के दौरान किम जोंग-उन और डोनल्ड ट्रंप

ट्रंप ने चार पैराग्राफ में लिखी गई इस चिट्ठी का अंग्रेज़ी अनुवाद भी ट्वीट किया है.

इसमें किम लिखते हैं, "मिस्टर प्रेसिडेंट, मैं ऊर्जा से लबरेज़ आपके असाधारण प्रयासों की प्रशंसा करता हूं."

किम ने यह भी लिखा कि भविष्य में व्यावहारिक फैसले लेते समय परस्पर भरोसे को और मजबूत होना चाहिए.

चिट्ठी साझा करते हुए ट्रंप ने लिखा है, "हम आगे बढ़ रहे हैं." उन्होंने इसे विस्तार से नहीं बताया.

निरस्त्रीकरण का क्या?

इमेज कॉपीरइट AFP

12 जून को सिंगापुर में दोनों नेताओं ने एक समझौते पर दस्तख़त किए थे, जिसमें कोरियाई प्रायद्वीप में परमाणु निरस्त्रीकरण का वचन भी शामिल था.

बदले में अमरीका दक्षिण कोरिया में अपना सैन्य अभ्यास बंद करने पर राज़ी हुआ था.

हालांकि बाद में कई आलोचकों का कहना था कि डोनल्ड ट्रंप उत्तर कोरियाई नेता से परमाणु हथियारों को नष्ट करने के संबंध में ठोस आश्वासन लेने में नाकाम रहे.

पिछले हफ़्ते ही उत्तर कोरिया ने अमरीका पर आरोप लगाया था कि निरस्त्रीकरण के लिए वह गैंगस्टर जैसे हथकंडे अपना रहा है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)