ट्रंप ने अमरीकी चुनाव में कथित हस्तक्षेप पर किया रूस का बचाव

  • 16 जुलाई 2018
ट्रंप और पुतिन इमेज कॉपीरइट EPA

अमरीकी राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप ने 2016 के राष्ट्रपति चुनाव में दख़ल के आरोपों पर रूस का बचाव किया है.

रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के साथ शिखर वार्ता के दौरान ट्रंप ने अमरीकी ख़ुफ़िया एजेंसियों से विपरीत यह कहा कि रूस के पास अमरीकी चुनाव में हस्तक्षेप करने का कोई का कोई कारण नहीं है.

पुतिन ने भी दोहराया कि रूस ने कभी भी अमरीका के मामलों में दख़ल नहीं दिया है.

दोनों नेताओं ने फ़िनलैंड की राजधानी हेलसिंकी में बंद दरवाज़ों के पीछे करीब दो घंटों तक बात की.

सम्मेलन के बाद न्यूज़ कॉन्फ्रेंस में राष्ट्रपति ट्रंप से पूछा गया कि चुनाव में हस्तक्षेप के आरोपों को लेकर उन्हें अपनी ख़ुफ़िया एजेंसियों पर भरोसा है या रूस के राष्ट्रपति पर.

इसके जवाब में ट्रंप ने कहा, "राष्ट्रपति पुतिन कहते हैं कि रूस ने ऐसा नहीं किया. मुझे उनके हस्तक्षेप करने की कोई वजह नज़र नहीं आती."

इमेज कॉपीरइट AFP

एफ़बीआई और अमरीकी ख़ुफ़िया एजेंसियां इस नतीजे पर पहुंची थीं कि अमरीकी राष्ट्रपति चुनावों में हिलेरी क्लिंटन के ख़िलाफ़ माहौल बनाने में रूस का हाथ था और इसके लिए लिए सोशल मी़डिया पर फ़र्जी समाचार फैलाने से लेकर साइबर हमलों के लिए सरकार से मंज़ूरी लेकर अभियान चलाया गया था.

ट्रंप के बयान पर अमरीका में प्रतिक्रिया

वरिष्ठ रिपब्लिकन सीनेटर और सीनेट की आर्म्ड सर्विसेज़ कमेटी के सदस्य लिंडसे ग्राहम कहते हैं कि ट्रंप ने रूस को अमरीका के 'कमज़ोर' होने का संकेत दिया है.

उन्होंने ट्वीट किया, "ट्रंप ने 2016 के हस्तक्षेप के लिए रूस को जवाबदेह बनाने और आने वाले चुनावों को लेकर सख्त चेतावनी देने का मौक़ा गंवाया है."

उनके सहयोगी रिपल्बिकन सीनेटर जेफ़ फ्लेक, जो कि राष्ट्रपति ट्रंप के कड़े आलोचक हैं, ने कहा है कि ट्रंप ने 'शर्मनाक' शब्द इस्तेमाल किए हैं.

सम्मेलन का हो रहा था विरोध

कुछ अमरीकी राजनेताओं ने पहले ही रूस के साथ इस सम्मेलन को कैंसल करने की मांग की थी क्योंकि विशेष काउंसल रॉबर्ट मूलर ने रूस के 12 मिलिट्री इंटेलिजेंस एजेंट्स को डेमोक्रैटिक पार्टी की उम्मीदवार हिलेरी क्लिंटन के राष्ट्रपति अभियान को हैक करने का आरोप में अभियुक्त बनाया है.

सोमवार को रूसी राष्ट्रपति पुतिन ने अमरीकी जांचकर्ताओं को रूस आकर अधिकारियों से पूछताछ करने का प्रस्ताव दिया.

उन्होंने स्पष्ट किया कि बदले में रूस भी अमरीका में किसी आपराधिक गतिविधि के संदिग्धों से पूछताछ के लिए इसी तरह का अधिकार चाहेगा.

राष्ट्रपति ट्रंप ने कहा कि पुतिन ने चुनाव में किसी भी तरह के हस्तक्षेप का "बेहद मज़बूती से खंडन किया है."

ये भी पढ़ें-

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)