पांच बड़ी ख़बरें: दलित दूल्हे को अब ससुराल वालों की फ़िक़्र

  • 17 जुलाई 2018
संजय जाटव इमेज कॉपीरइट SANJAY JATAV
Image caption संजय जाटव

उत्तर प्रदेश में कासगंज के निज़ामपुर में तीन महीने की जद्दोजहद के बाद हुई दलित युवक की शादी के बाद भी ऐसा लगता है कि सबकुछ ठीक नहीं है.

ज़िला प्रशासन के कठिन प्रयास और सहयोग से दूल्हे संजय जाटव की शादी शीतल सिंह से हो गई है, लेकिन संजय को डर है कि उनके घरवालों वालों पर ख़तरा बरकरार है.

ठाकुरों के गांव से दलित युवक की बारात घोड़ी पर चढ़ कर गुज़रने को लेकर विवाद चल रहा था.

रविवार को ये शादी शांतिपूर्वक संपन्न हो गई. टाइम्स ऑफ़ इंडिया की ख़बर के मुताबिक जब बारात गुज़र रही थी तो किसी भी ठाकुर घर का दरवाज़ा नहीं खुला था. किसी भी ठाकुर परिवार ने शादी में हिस्सा नहीं लिया.

इमेज कॉपीरइट SANJAY JATAV
Image caption शीतल

गांव की प्रधान कांति देवी का कहना है, "शादी तो शांतिपूर्वक संपन्न हो गई, लेकिन मीडिया में इस ख़बर के आने और पुलिस बल की मौजूदगी की वजह से गांव का नाम बदनाम हुआ है. जब दलित दूल्हे की बारात गुज़र रही थी तो किसी भी ठाकुर परिवार के घर का दरवाज़ा नहीं खुला था. मुझे दलित और ठाकुर समुदायों में इस घटना के बाद ज़्यादा बड़ी खाई नज़र आ रही है. मैं निज़ामपुर में आने वाले वक्त में शांति कायम रहने के बारे में आश्वस्त नहीं हूं."

हालांकि ठाकुरों का कहना है कि इस शादी को जान-बूझकर बड़ा मुद्दा बनाया गया है.

बहरहाल दलित दूल्हे संजय जाटव ने ज़िला प्रशासन से अपील कर ससुराल वालों को सुरक्षा प्रदान किए जाने की मांग की है क्योंकि उन्हें आशंका है कि ठाकुर समुदाय के लोग उनपर हमला कर सकते हैं.

सुप्रीम कोर्ट की फटकार

इमेज कॉपीरइट Getty Images

सुप्रीम कोर्ट ने केंद्रीय पर्यावरण मंत्रालय को प्रदूषण को लेकर फटकार लगाई है.

कोर्ट ने कहा है कि इस देश के नागरिक हमारे लिए अन्य किसी भी चीज़ से ज़्यादा महत्वपूर्ण हैं.

सुप्रीम कोर्ट में जस्टिस मदन बी लोकुर और दीपक गुप्ता की ग्रीन बेंच ने पेटकोक नामक एक टॉक्सिक ईंधन के आयात पर प्रतिबंध लगाने संबंधी एक याचिका पर सुनवाई के दौरान सरकार को ये स्पष्ट किया. पेटकोक का इस्तेमाल ख़तरनाक उद्योगों में किया जाता है.

जस्टिस लोकुर ने सरकार से पूछा कि उसके लिए क्या ज़्यादा ज़रूरी है - लोगों की ज़िंदगियां बचाना या उद्योगों को बचाना.

महिला आरक्षण बिल पर राहुल की अपील

इमेज कॉपीरइट PTI

संसद का मॉनसून सत्र शुरू होने से दो दिन पहले कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को लिखा है कि वो सुनिश्चित करें कि महिला आरक्षण बिल संसद में पारित हो.

सरकार को कांग्रेस के समर्थन का आश्वासन देते हुए राहुल गांधी ने कहा कि वो 32 लाख लोगों के हस्ताक्षर वाला समर्थन पत्र सरकार को सौंप रहे हैं.

उन्होंने कहा कि अगर ये बिल आगामी सत्र में पारित हो जाता है तो महिलाएं 2019 के ज़्यादा सार्थक भागीदारी निभा पाएँगी.

दंपती की त्रासद मौत

इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption सांकेतिक तस्वीर

कर्नाटक के उत्तर कन्नड़ ज़िले में 55 साल की एक महिला की संभावित हार्ट अटैक से मौत हो गई और उनका मृतक शरीर कारवार शहर के उनके घर में 10 दिन तक पड़ा रहा क्योंकि उनके लकवाग्रस्त पति मदद के लिए किसी को बुला नहीं सके.

इंडियन एक्सप्रेस की ख़बर के मुताबिक सोमवार को पति की भी भूख और पत्नी की मृत्यु के सदमे से मौत हो गई. गिरिजा के भाई को जब एक हफ़्ते तक बहन की कोई ख़बर नहीं मिली तो वो उनके घर पहुंचे जहां बहन गिरिजा कुल्लर और जीजा आनंद कुल्लर की मौत का पता चला.

ट्रंप की आलोचना

इमेज कॉपीरइट Getty Images

अमरीकी राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन का बचाव कर आलोचनाओं से घिर गए हैं. 2016 के राष्ट्रपति चुनाव में दख़ल के आरोपों पर रूस के हस्तक्षेप के सवाल पर उन्होंने कहा कि रूस के पास अमरीकी चुनाव में हस्तक्षेप करने का कोई का कोई कारण नहीं है.

वहीं पुतिन ने भी दोहराया कि रूस ने कभी भी अमरीका के मामलों में दख़ल नहीं दिया है. दोनों नेता फ़िनलैंड की राजधानी हेलसिंकी में अपनी मुलाक़ात के बाद मीडिया के सवालों के जवाब दे रहे थे.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए