इथियोपिया में इस शख्स का दावा था कि मुर्दे की सांसें लौटा देगा

  • 22 जुलाई 2018
न्यू टेस्टामेंट, ईशु मसीह, लज़ारस, इथोपिया इमेज कॉपीरइट Getty Images
Image caption न्यू टेस्टामेंट के अनुसार ईशा मसीह ने लज़ारस नाम के व्यक्ति की मौत के चार दिन बाद उसे ज़िंदा कर दिया था

इथियोपिया में सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रहा है. इसमें ख़ुद को पैगंबर बताने वाला एक इथोपियाई नागरिक एक मृत शरीर पर लेटा हुआ दिखता है.

घटना ओरोमिया के एक छोटे से शहर गैलिली की है.

गैलिली के एक स्थानीय व्यक्ति ने बताया कि गेतायावकाल अयेले नाम का यह व्यक्ति मृत व्यक्ति के शोकग्रस्त परिवारवालों के पास गया.

अयेले ने उन्हें बाइबिल की वो कहानी सुनाई जिसमें न्यू टेस्टामेंट के अनुसार ईशा मसीह ने लज़ारस नाम के व्यक्ति की मौत के चार दिन बाद उसे ज़िंदा कर दिया था.

इसके बाद गेतायावकाल ने परिवारवालों के सामने दावा किया कि वो मृत व्यक्ति बिले बिफ्टू को दोबारा ज़िंदा कर देंगे.

इसके बाद कब्र से मिट्टी हटाई गई.

कब्र से निकाला गया शव

वीडियो में दिख रहा है कि इसके बाद गेतायावकाल मृतक को आवाज़ देकर उठाने की कोशिश करते हैं. इसके बाद वो मृतक बिफ्टू के शव के ऊपर लेट गये. उन्होंने कई बार बिले उठो... बिले उठो की आवाज़ देकर मुर्दा को उठाने की कोशिश की.

जब कुछ देर तक आवाज़ देने के बाद भी कोई असर नहीं हुआ तो गेतायावकाल मृत शरीर के ऊपर से उठे और कुछ देर लाश को तकते रहे.

गेतायावकाल जैसे ही असफल होकर गड्ढ़े से बाहर निकले बिले बिफ्टू के परिवार वाले बेहद गुस्सा हो गये और उन्होंने उन पर हमला बोल दिया.

इमेज कॉपीरइट FACEBOOK

कुछ ही देर बाद वहां पुलिस पहुंच गई और गेतायावकाल को बचा लिया गया. लेकिन इसका मतलब यह नहीं था कि वो अपने इस किये से साफ़ बच चुके थे. इथियोपिया में मृत शरीर से दुर्व्यवहार अपराध है.

पुलिस कमांडर ने बीबीसी को बताया कि अभियुक्त को गिरफ़्तार कर लिया गया है जो पेशे से एक स्वास्थ्य कर्मचारी है.

इस पूरे वाक्ये को फ़िल्माया गया और तब से यह सोशल मीडिया पर वायरल हो गया है.

गैलिली के स्थानीय व्यक्ति ने बताया कि जब वो आदमी मृतक को जीवित करने में नाकाम रहा तो उनके परिवार के कई सदस्य वहीं बेहोश हो गए जबकि बाकी लोगों ने गुस्सा होकर उसे पीटना शुरू कर दिया था जिसके बाद पुलिस वहां पहुंची और उसे गिरफ़्तार किया था.

भुखमरी के मुहाने पर खड़ा एक देश

इथियोपिया: कचरे के पहाड़ ने ली 48 की जान

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

मिलते-जुलते मुद्दे