पाकिस्तान चुनाव: हिंदुस्तानी मीडिया ने मुझे विलेन की तरह पेश किया - इमरान ख़ान

इमरान ख़ान

इमेज स्रोत, Reuters

इमेज कैप्शन,

इमरान ख़ान की पीटीआई आम चुनावों में सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी है.

BBC
  • पाकिस्तान में बुधवार को केंद्रीय और प्रांतीय असेंबली के लिए मतदान हुआ था. इनमें केंद्रीय असेंबली की 270 सामान्य सीटों पर वोट डाले गए.
  • मतदान के 10 घंटे बाद गुरुवार को सुबह चार बजे पहला नतीजा घोषित किया गया. अभी भी सरकारी तौर पर कुछ सीटों के ही नतीजे आए हैं.
  • मुस्लिम लीग (नवाज़) और पीपल्स पार्टी समेत विभिन्न राजनीतिक पार्टियों ने चुनाव परिणामों पर आपत्ति ज़ाहिर की है.
  • चुनाव आयोग का कहना है कि तकनीकी ख़राबी के कारण नतीजे आने में देरी हुई है.

21.26 बजे- इमरान ख़ान ने आम चुनावों में अपनी पार्टी की जीत का दावा किया है. उन्होंने कहा है कि ये चुनाव पाकिस्तान के इतिहास में सबसे पारदर्शी तरीके से कराए गए चुनाव हैं. हालांकि इमरान के विरोधियों का कहना है कि चुनाव में धांधली हुई है और सेना इमरान ख़ान का समर्थन कर रही है.

18:02 बजे- अभी तक आरोप-प्रत्यारोप का सिलसिला रहा है. हम चाहते हैं कि हिंदुस्तान और पाकिस्तान के बीच दोस्ती कायम हो. दोनों देशों के ताल्लुकात बेहतर हों.

18:00 बजे- अगर हिंदुस्तान और पाकिस्तान के रिश्ते अच्छे हों तो यह दोनों के लिए बेहतर होगा. हमारे व्यापारिक संबंध और बेहतर हों. कश्मीर में जो हालात है, वहां के लोगों ने जो झेला है, हमारी कोशिश होगी कि दोनों देश एक साथ बैठ कर तय करें कि वहां की स्थिति कैसे बेहतर की जाए.

17:56 बजे - भारत पर इमरान ख़ान ने कहा, "हिंदुस्तानी मीडिया ने मुझे ऐसे पेश किया गया जैसे मैं फ़िल्मों का विलेन हूं. सबसे बेहतर यह है कि हम दोनों व्यापार करें. सेना जहां जाएगी वहां मानवाधिकर उल्लंघन होगा और कश्मीर में लोगों ने सहा है. मसले टेबल पर बैठकर हल होनी चाहिए. हिंदुस्तानी नेता अगर तैयार हैं तो हम भी बातचीत के लिए तैयार हैं."

17:43 बजे- प्रेस क़ॉन्फ़्रेंस में इमरान ख़ान ने कहा, "मैं राजनीतिक विरोधियों के ख़िलाफ़ बदले की भावना से कार्रवाई नहीं करूंगा. मैं एक उदाहरण पेश करना चाहता हूं कि हमारी संस्थाएं मज़बूत हों और क़ानून का राज हो. इस देश का गवर्नेंस सिस्टम बेहतर करना है."

17:38 बजे - इमरान ख़ान ने प्रेस कॉन्फ़्रेंस में कहा, "कमज़ोर तबके को ऊपर उठाने के लिए हमारी नीतियां बनेंगी. हमारे किसानों, मज़दूरों के लिए नीतियां बनेंगी. हमारे बच्चे स्कूल से बाहर हैं, उन्हें साफ़ पीने के लिए पानी नहीं हैं. मेरी कोशिश रहेगी इन निचले तबके को ऊपर उठाऊं. देश की पहचान ग़रीब तबके से होती है."

इमेज स्रोत, PTI

17:35 बजे - इमरान ख़ान ने कहा, "1996 मैंने पार्टी शुरू की थी अब अल्लाह ने मुझे एक मौक़ा दिया है जिस ख़्वाब को मैं पूरा कर सकूं. 22 साल पहले मैं क्यों राजनीति में आया था जबकि मेरे पास सबकुछ था. मैं राजनीति में इसलिए आया था क्योंकि मैंने देश को नीचे जाते देखा."

17:35 बजे - बनी गाला में घर पर इमरान ख़ान की प्रेस कॉन्फ़्रेंस शुरू हुई.

17:00 बजे - पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ़ ने अपने चेयरमैन इमरान ख़ान की प्रेंस कॉन्फ़्रेंस से पहले ट्वीट किया है. इस ट्वीट में लिखा है, "यहां का मौसम बदलने वाला है, यहां कोई आने वाला है. इमरान ख़ान थोड़ी देर में राष्ट्र को संबोधित करेंगे."

16:40 बजे - पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ़ प्रमुख इमरान ख़ान कुछ ही देर में बनी गाला में अपने घर पर प्रेस कॉन्फ़्रेंस करेंगे. उनके घर के लिए समर्थकों और कार्यकर्ताओं का काफ़िला रवाना.

16:00 बजे - केंद्रीय असेंबली की 41 सीटों के आए ग़ैर-सरकारी नतीजों में तहरीक-ए-इंसाफ़ को 24, मुस्लिम लीग नवाज़ को नौ, पाकिस्तान पीपल्स पार्टी ने पांच और अन्य ने तीन सीटों पर जीत दर्ज कर ली है.

15:45 बजे - पीटीआई ने पंजाब प्रांत में भी सरकार बनाने का एलान किया है. पीटीआई प्रमुख इमरान ख़ान के घर के बाहर प्रेस कॉन्फ़्रेंस करके उनके प्रवक्ता नईम-उल-हक़ ने कहा है कि उनकी पार्टी केंद्र में सरकार बना रही है और पंजाब में प्रांतीय असेंबली की सीटों के लिए उनका पीएमएल नवाज़ पार्टी के साथ कांटे का मुक़ाबला है. उन्होंने कहा कि उनकी पार्टी पाकिस्तान के सबसे बड़े प्रांत में भी सरकार बनाने में कामयाब रहेगी.

नईम ने कहा कि उनकी पार्टी सिंध में दूसरी बड़ी पार्टी बनकर उभरी है और वह मज़बूत विपक्ष बनेगी. उन्होंने कहा कि उनकी पार्टी ने कराची में एमक्यूएम का सफ़ाया कर दिया है.

इमेज स्रोत, Reuters

छोड़कर पॉडकास्ट आगे बढ़ें
पॉडकास्ट
बात सरहद पार

दो देश,दो शख़्सियतें और ढेर सारी बातें. आज़ादी और बँटवारे के 75 साल. सीमा पार संवाद.

बात सरहद पार

समाप्त

15:15 बजे - प्रांतीय असेंबली के आए ग़ैर-सरकारी परिणामों में ख़ैबर पख़्तूनख़्वां में पीटीआई 24 सीटें जीतकर आगे चल रही है. वहीं, पंजाब में पीएमएलएन 17 सीटें, सिंध में पीपीपी पांच सीटें और बलूचिस्तान में बीएपी दो सीटें जीतकर आगे चल रही है.

13:55 बजे - पाकिस्तान मुस्लिम लीग (नवाज़) के प्रमुख और पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री शहबाज़ शरीफ़ ख़ैबर पख़्तूनख़्वां की एक केंद्रीय असेंबली की सीट से हारने के बाद पंजाब की सीट से भी हार गए हैं. उन्हें 67608 वोट मिले जबकि पीटीआई के उम्मीदवार सरदार मोहम्मद ख़ान लग़ारी को 80522 वोट मिले.

13:45 बजे - प्रांतीय असेंबली के जारी ग़ैर-सरकारी परिणामों में ख़ैबर पख़्तूनख़्वां प्रांत में भी पीटीआई आगे है जहां उसे 24 सीटें मिली हैं. वहीं, आवामी नेशनल पार्टी और मुत्ताहिदा मजलिस-ए-अमल और निर्दलीयों को दो-दो सीटें मिली हैं.

पंजाब में पीएमएलएन के 17, पीटीआई के 12 और दो निर्दलीय उम्मीदवार जीते हैं.

सिंध में पीपीपी ने पांच और पीटीआई और ग्रैंड डेमोक्रेटिक अलायंस ने एक-एक सीट जीती है.

ब्लूचिस्तान में ब्लूचिस्तान आवामी पार्टी के दो, ब्लूचिस्तान नेशनल पार्टी का एक और एक निर्दलीय उम्मीदवार ने जीत दर्ज की है.

इमेज स्रोत, Getty Images

इमेज कैप्शन,

सड़कों पर पीटीआई समर्थक जश्न मना रहे हैं

13:40 बजे - अब तक जारी किए गए केंद्रीय असेंबली के ग़ैर-सरकारी परिणामों में पीटीआई को 20, पीएमल नवाज़ को छह, पीपीपी को चार और अन्य पार्टियों को तीन सीटें मिली हैं.

13:10 बजे: पाकिस्तान के पूर्व गृह मंत्री चौधरी निसार चुनाव हार गए हैं. वह निर्दलीय तौर पर रावलपिंडी से केंद्रीय असेंबली की एनए 59 सीट से उम्मीवार थे. ग़ैर-सरकारी आंकड़ों के अनुसार, चौधरी निसार को 66369 वोट मिले हैं जबकि उनके मुक़ाबले पीटीआई के उम्मीदवार को 89055 वोट मिले हैं.

इमरान ख़ान की पार्टी पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ़ (पीटीआई) की आम चुनावों में बढ़त पर इमरान की पूर्व पत्नी जेमाइमा गोल्डस्मिथ ने ट्वीट कर उन्हें बधाई दी है.

इमेज स्रोत, Getty Images

इमेज कैप्शन,

इमरान ख़ान और उनकी पूर्व पत्नी जेमाइम गोल्डस्मिथ

उन्होंने ट्वीट किया, "अपमान, बाधाओं और बलिदान के 22 सालों बाद मेरे बेटे के पिता पाकिस्तान के अगले प्रधानमंत्री हैं. ये दृढ़ता, भरोसा और हार न मानने का अविश्वसनीय उदाहरण है. अब चुनौती यह याद रखना है कि वह राजनीति में पहले पायदान पर क्यों आए. मुबारक इमरान ख़ान."

इमरान ख़ान की पार्टी की बढ़त से पाकिस्तान शेयर बाज़ारों में तेज़ी आई है. कराची स्टॉक एक्सचेंज में 700 अंकों का उछाल हुआ है.

12:40 बजे - चार प्रांतीय असेंबली के आए अब तक के ग़ैर-सरकारी परिणामों में ख़ैबर पख़्तूनख़्वां प्रांत में पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ़ (पीटीआई) को 22, आवामी नेशनल पार्टी (एएनएम), मुत्ताहिद मजलिस-ए-अमल (एमएमए) को दो-दो सीटें मिली हैं.

पंजाब में मुस्लिम लीग नवाज़ के 16, पीटीआई के 12 और दो निर्दलीय उम्मीदवारों ने जीत दर्ज की है.

सिंध में पीपीपी ने पांच और ग्रैंड डेमोक्रेटिक अलायंस ने एक सीट जीती है.

बलूचिस्तान में बलूचिस्तान आवामी पार्टी ने दो और बलूचिस्तान नेशनल पार्टी ने एक सीट जीती है.

12:30 बजे - केंद्रीय असेंबली में पंजाब प्रांत की एनए 166 बहावल नगर सीट पर स्वतंत्र उम्मीदवार मोहम्मद अब्दुल ग़फ़्फ़ार ने पीटीआई सैयद मोहम्मद को हराया है. ग़फ़्फ़ार को 101811 वोट मिले हैं.

11:35 बजे - अब तक आए केंद्रीय असेंबली के ग़ैर-सरकारी नतीज़ों में तहरीक-ए-इंसाफ़ ने 10, मुस्लिम लीग नवाज़ और पीपल्स पार्टी ने तीन-तीन और अन्य ने एक सीट जीती है.

इमेज स्रोत, Getty Images

10:50 बजे - अब तक आए प्रांतीय असेंबली के ग़ैर-सरकारी परिणामों में ख़ैबर पख़्तूनख़्वां प्रांत में तहरीक-ए-इंसाफ़ ने 15, आवामी नेशनल पार्टी ने 2 और एक निर्दलीय उम्मीदवार ने जीत दर्ज की है.

पंजाब में मुस्लिम लीग नवाज़ ने नौ, तहरीक-ए-इंसाफ़ ने सात सीटों पर जीत दर्ज की है.

सिंध में पीपल्स पार्टी ने सात सीटों पर जीत दर्ज की है.

बलूचिस्तान में बलूचिस्तान आवामी पार्टी ने दो और बलूचिस्तान नेशनल पार्टी ने एक सीट जीती है.

10:47 बजे - चुनाव आयोग द्वारा 10 बजे तक केंद्रीय असेंबली के आए 12 सीटों के ग़ैर-सरकारी परिणामों में पीटीआई आगे है. पीटीआई ने आठ, पीएमल (एन) ने दो और पीपीपी और एमएमए ने एक-एक सीट हासिल की है.

10:45 बजे - हमज़ाह शहबाज़ जीते

इमेज स्रोत, AFP

इमेज कैप्शन,

हमज़ाह शहबाज़ शरीफ़

पाकिस्तान मुस्लिम लीग (पीएमएल) नवाज़ के प्रमुख शहबाज़ शरीफ़ के बेटे हमज़ाह शहबाज़ शरीफ़ ने केंद्रीय असेंबली की सीट 124 से जीत हासिल की है. ग़ैर-सरकारी आंकड़ों के मुताबिक़, हमज़ाह शहबाज़ ने कुल 146294 वोट हासिल किए जबकि उनके प्रतिद्ंवद्वी तहरीक-ए-इंसाफ़ के मोहम्मद नोमान क़ैसर को 80981 वोट मिले.

10:30 बजे - चुनाव आयोग ने सुबह नौ बजे तक केंद्रीय असेंबली की सात सीटों के अनौपचारिक परिणाम जारी किए थे. इसमें पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ़ को चार जबकि मुस्लिम लीग नवाज़, पीपल्स पार्टी और मत्ताहिदा मजलिस-ए-अमल ने एक-एक सीट हासिल की है.

पाकिस्तान में इस वक़्त राष्ट्रीय और प्रांतीय असेंबली के लिए मतगणना जारी है. नीचे ग्राफ़ में देखिए किस-किस इलाक़े में केंद्रीय असेंबली की कितनी सीटें हैं.

मतगणना के रुझानों के अनुसार, 113 सीटों पर बढ़त के साथ पाकिस्तान तहरीक़-ए-इंसाफ़ सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी है. वहीं, पाकिस्तान मुस्लिम लीग (नवाज़) दूसरे और पाकिस्तान पीपल्स पार्टी तीसरे पायदान पर है.

इमेज स्रोत, AFP

लाहौर और रावलपिंडी की सड़कों पर पीटीआई समर्थक जश्न मनाने उतर आये हैं. पाकिस्तान में ट्विटर पर #JeetayGaKaptaan ट्रैंड कर रहा है.

पाकिस्तान के चुनाव आयोग ने कहा है कि तकनीकी और मौसम संबंधी वजहों से मतगणना में देरी हो रही है.

इमेज स्रोत, AFP

इमेज कैप्शन,

पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज़ शरीफ़ के छोटे भाई और पाकिस्तान मुस्लिम लीग के अध्यक्ष शाहबाज़ शरीफ़ ने चुनाव आयोग पर नतीजों में धांधली करने का आरोप लगाया है.

मुस्लिम लीग नवाज़ पार्टी ने चुनाव आयोग पर साज़िश और धांधली के आरोप लगाये हैं. हालांकि मुख्य चुनाव अधिकारी सरदार रज़ा ख़ान ने सभी आरोपों और आलोचनाओं को ख़ारिज कर दिया है.

हालांकि, ऐसा नहीं है कि पाकिस्तान में हमेशा लोकतांत्रिक सरकार रही है. कभी यहां सैन्य शासन रहा है तो कभी नागरिक शासन रहा है.

सरदार रज़ा ख़ान ने कहा है, "नतीजे वो होंगे जो हम घोषित करेंगे. हो सकता है ये नतीजे किसी की उम्मीदों पर खरे न उतरें."

इमेज स्रोत, AFP

बुधवार शाम 6 बजे मतदान ख़त्म हुआ था. इसके बाद क़रीब 8 बजे मतों की गिनती शुरू हुई थी.

लेकिन पाकिस्तान के चुनाव आयोग ने गुरुवार तड़के लगभग साढ़े 4 बजे पहले आधिकारिक नतीजे की घोषणा कि जो रावलपिंडी से पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ़ पार्टी के उम्मीदवार चौधरी मोहम्मद अदनान के हक़ में गया है.

पाकिस्तान चुनाव से जुड़े आंकड़े

  • 270 संसदीय सीटों पर हुआ मतदान, इनमें से 70 सीटें महिलाओं और अल्पसंख्यकों के लिए आरक्षित हैं.
  • चुनाव में 95 पार्टियों के 11,676 उम्मीदवार मैदान में थे.
  • पाकिस्तान के चारों सूबों और केंद्रीय राजधानी के इलाक़े को मिलाकर रजिस्टर्ड मतदाताओं की संख्या क़रीब 10 करोड़ 59 लाख है.

इमेज स्रोत, AFP

  • स्थानीय मीडिया की रिपोर्टों के मुताबिक़, क़रीब 50 फ़ीसदी मतदाताओं ने आम चुनाव में वोट दिया.
  • पाकिस्तान में मतदान की सुरक्षा और तालिबान के ख़तरे के मद्देनज़र 3 लाख 70 हज़ार सेना के जवानों को ड्यूटी पर लगाया गया था.
  • हालांकि, मतदान के दिन क्वेटा में हुए हमले में कुल 31 लोगों की मौत हुई.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्रामऔर यूट्यूबपर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)