सीट नहीं बदली तो एयलाइंस ने समलैंगिक जोड़े को विमान से उतारा

एयरलाइंस

इमेज स्रोत, Reuters

अलास्का एयरलाइंस ने एक समलैंगिक जोड़े से माफ़ी मांगी है.

ये समलैंगिक जोड़ा अलास्का एयरलाइंस के विमान में सफर कर रहा था. विमान के कर्मचारियों ने उनमें से एक को अपनी सीट छोड़ने को कहा, ताकि एक 'सामान्य' जोड़ा साथ बैठ सके.

लॉस एंजेलस में एक रेस्तरां के मालिक डेविड कूली ने बताया कि वो विमान में अपने साथी के साथ बैठे थे. तभी उन्हें उनकी प्रीमियर सीट से उठकर इकॉनमी सेक्शन में जाने के लिए कहा गया.

डेविड कूली ने उन्हें ख़ूब समझाया कि वो दोनों कपल हैं. इसके बावजूद उन पर सीट छोड़ने का दबाव बनाया गया.

उन्हें कहा गया कि अगर वो अपनी जगह नहीं बदलेंगे तो उन्हें विमान से उतार दिया जाएगा. जब ये समलैंगिक जोड़ा उनकी बात नहीं माना तो उन्हें सच में विमान से उतार दिया गया.

हालांकि, एयरलाइंस ने कहा है कि 'भेदभाद के प्रति उनकी नीति ज़ीरो टोलरेंस की है.'

एक फ़ेसबुक पोस्ट में कूली ने लिखा, "यात्रा के दौरान पहले कभी हमारे साथ इस तरह भेदभाव नहीं हुआ."

न्यूयॉर्क से लॉस एंजेलस जाने वाली फ्लाइट में इस अनुभव के बाद कूली ने कहा कि अब वो कभी भी अलास्का एयरलाइंस में सफ़र नहीं करेंगे.

अलास्का एयरलाइंस ने एक बयान जारी कर कहा, "सीटों की संख्या को लेकर कुछ ग़लतफ़हमी हो गई थी, जिसकी वजह से ये दुर्भाग्यपूर्ण घटना हुई. क्रू लोगों को सही जगह बैठाकर समय पर उड़ान भरना चाहता था. बस इतनी सी बात थी."

"हम कोशिश करते हैं कि परिवार के लोग साथ ही बैठे. ये हमारी नीति का हिस्सा है. लेकिन इस मामले में ऐसा नहीं हो सका, इसके लिए हम माफ़ी मांगते हैं."

"जो कुछ भी हुआ, उसके लिए हमने डेविड कूली से माफ़ी मांगी है. हम कोशिश करेंगे की दोबारा ऐसा कभी ना हो."

ये भी पढ़े...

(बीबीसी हिन्दी एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)