अमरीका का आरोप, मध्यावधि चुनावों में रूस करेगा हस्तक्षेप

  • 3 अगस्त 2018
ट्रंप-पुतिन इमेज कॉपीरइट Reuters

अमरीका में नंवबर में मध्यावधि चुनाव होने वाले हैं और एक बार फिर से रूस के हस्तक्षेप का ख़तरा अमकीरा पर मंडरा रहा है.

अमरीका की ख़ुफ़िया एजेंसियों के मुखियाओं ने एक साथ प्रेस क्रांफ्रेस कर इस ख़तरे के बारे में चेताया है.

राष्ट्रीय ख़ुफ़िया एजेंसी के निदेशक डेन कोट्स ने कहा, "हमें लगातार देखने को मिल रहा है कि रूस व्यापक स्तर पर अमरीका को कमज़ोर करने और तोड़ने की कोशिश कर रहा है."

व्हाइट हाउस में गुरुवार को हुई प्रेस कॉन्फ्रेंस में अमरीका के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार जॉन बोल्टन, एफ़बीआई निदेशक क्रिस रे, राष्ट्रीय ख़ुफ़िया एजेंसी निदेशक पॉल नाकासोने और गृह सुरक्षा सचिव क्रिस्शन नीलसन ने अपनी बात रखी.

डोन कोट्स ने कहा कि रूस की कोशिश 2016 के मुक़ाबले अभी तक कमज़ोर हैं और किसी एक पार्टी को लेकर नहीं हैं.

इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption अमरीका की ख़ुफ़िया एजेंसियों के प्रमुखों ने एक साथ की प्रेस क्रांफ्रेस

कोट्स ने बताया कि सिर्फ़ रूस ही नहीं है जो अमरीका के चुनावों में हस्तक्षेप की कोशिश कर रहा है.

एक रिपोर्टर ने सवाल किया कि क्या पिछले महीने फ़िनलैंड में ट्रंप-पुतिन वार्ता में ट्रंप ने पुतिन को इस मामले पर ठीक से चुनौती दी या नहीं.

इसके जवाब में जॉन बोल्टन ने कहा कि इस मुद्दे पर चर्चा हुई है, "राष्ट्रपति पुतिन ने बताया है कि ट्रंप ने सबसे पहले चुनावी हस्तक्षेप का मुद्दा उठाया था. "

डैन कोट्स से पूछा गया कि क्या वो रूसी नागरिकों पर आरोप लगा रहे हैं या रूस सरकार पर तो इसके जवाब में उन्होंने कहा कि 'दोनों' पर.

Image caption राष्ट्रीय ख़ुफ़िया एजेंसी के निदेशक डेन कोट्स

उन्होंने बताया कि हैकर्स उम्मीदवारों और सरकारी अधिकारियों से जानकारी निकालने की कोशिश कर रहे थे और सोशल मीडिया बोट्स के ज़रिए मतदाताओं को प्रभावित करना चाहते थे.

कोट्स ने कहा, "आज हमारा मकसद अमरीका के लोगों को बताना है कि हम इस ख़तरे को पहचानते हैं और ये ख़तरा एक हक़ीकत है."

उन्होंने बताया कि सभी एजेंसियां हर हफ़्ते नवंबर में होने वाले मध्यावधि चुनावों की सुरक्षा को लेकर मीटिंग करती हैं.

राष्ट्रीय ख़ुफ़िया एजेंसी निदेशक पॉल नेकसन ने कहा कि उनकी एजेंसी देश के चुनावों में सेंध लगाने वाले लोगों के ख़िलाफ़ ऑप्रेशन शुरू करने के लिए तैयार हैं.

रूस, अमरीका के राष्ट्रपति चुनावों में हस्तक्षेप के आरोपों को ख़ारिज करता रहा है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे