'ड्रोन हमले में' बाल-बाल बचे वेनेज़ुएला के राष्ट्रपति निकोलस मदुरो

  • 5 अगस्त 2018
धमाके के बाद का दृश्य

वेनेज़ुएला के राष्ट्रपति निकोलस मदुरो विस्फटोकों वाले ड्रोन के हमले में बाल-बाल बच गए हैं.

वेनेज़ुएला के अधिकारियों का कहना है कि जिस समय राष्ट्रपति मदुरो राजधानी कराकास में एक कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे, उसी समय विस्फोटकों से लदा एक ड्रोन फट गया.

इस कार्यक्रम का टीवी पर सीधा प्रसारण किया जा रहा था. अधिकारियों का कहना है कि राष्ट्रपति को किसी तरह का नुक़सान नहीं पहुंचा है.

'हत्या की कोशिश'

वेनेज़ुएला के संचार मंत्री जॉर्ज रॉड्रिग्ज़ ने कहा कि यह राष्ट्रपति मादुरो की हत्या की कोशिश थी. उन्होंने बताया कि इस घटना में सात सैनिक ज़ख़्मी हुए हैं.

मादुरो एक खुली जगह पर हो रहे सेना के कार्यक्रम में भाषण दे रहे थे. वीडियो में नज़र आता है कि अचानक वह और बाकी लोग चौंककर अचानक ऊपर देखने लगते हैं. इसी दौरान प्रसारण की आवाज़ चली गई.

इस कार्यक्रम का प्रसारण रोके जाने से पहले कार्यक्रम में शिरकत कर रहे दर्जनों सैनिक भागते हुए नज़र आए.

इमेज कॉपीरइट EPA
Image caption राष्ट्रपति निकोलस मदुरो (बाएं से दूसरे) एक सैन्य कार्यक्रम में हिस्सा ले रहे थे

मादुरो ने इस हमले के लिए कोलंबिया के राष्ट्रपति ख़ुआन मैनुअल सैन्टोस को ज़िम्मेदार ठहराया है.

उन्होंने कहा है, "मेरी हत्या करने के मकसद से हमला किया गया है. मुझे इसमें कोई शक़ नहीं है कि इस हमले से जुड़े सभी पहलू बताते हैं कि इसके पीछे वेनेजुएला और कोलंबिया की दक्षिणपंथी ताकतें और कोलंबियाई राष्ट्रपति ख़ुआन मैनुअल सैन्टोस हैं. मुझे इस बात पर कोई शक़ नहीं है."

हालांकि कोलंबियाई सरकार ने निकोलस मदुरो के इस आरोप को आधारहीन बताया है.

हमले की ज़िम्मेदारी

वेनेजुएला के एक विद्रोही संगठन सोल्जर्स इन टी शर्ट्स ने इस हमले की ज़िम्मेदारी लेते हुए कहा है कि उन्होंने विस्फोटकों से लदे दो ड्रोन मादुरो की ओर भेजने की योजना बनाई थी लेकिन सेना ने उन्हें निशाना बना लिया.

हालांकि, इस घटना के बाद मिले सुबूत, इस समूह के शामिल होने की ओर इशारा नहीं करते.

संचार मंत्री जॉर्ज रॉड्रिग्ज़ ने कहा कि हादसे में कई सैनिक ज़ख्मी हुए हैं जिनका इलाज अस्पताल में चल रहा है. उन्होंने बताया कि राष्ट्रपति निकोलस मदुरो अपने मंत्रियों और सेना के अधिकारियों से साथ बैठक कर रहे हैं.

सुरक्षा बल इस घटना के बाद पास की ही इमारतों की तलाशी ले रहे हैं.

इमेज कॉपीरइट AFP/Getty Images
Image caption घटनास्थल के पास धमाके से काली हुई इमारतें

'ड्रोन हमला एक संभावना'

वेस्ट ऑफ इंग्लैंड यूनिवर्सिटी में एयरो स्पेस इंजीनियरिंग विषय पढ़ाने वाले प्रोफेसर स्टीव राइट ने कहा है कि इस अटैक में कोई भी चौंकाने वाली बात नहीं है.

अपनी बात समझाते हुए वह कहते हैं, "ये ड्रोन हमले जैसा लगता है. लेकिन मैं सबसे पहले ये कहना चाहूंगा कि जब मुझे इस बारे में पता चला तो मेरा दिल बैठ गया क्योंकि ये एक ऐसी चीज है जिसे फिलहाल टाला नहीं जा सकता है."

"ड्रोन किसी भी इलेक्ट्रॉनिक शॉप से ख़रीदा जा सकता है और उस पर विस्फोटकों को आसानी से लगाया जा सकता है."

वहीं, राष्ट्रपति निकोलस मदुरो ने इस हमले के बाद कहा है कि उन पर हमले की साजिश रचने वालों में से कई लोगों को पकड़ लिया गया है और जांच जारी है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे