'उसने ये तस्वीरें पॉर्न साइट पर डाल दी तो...'

  • 10 अगस्त 2018
पोर्न हेल्पलाइन इमेज कॉपीरइट iStock/bbc three

"अगर उसने ये तस्वीरें इंटरनेट पर डाल दी, तो मेरी ज़िंदगी बर्बाद हो जाएगी."

मेरे सहयोगी को ये बात एक महिला ने फोन पर कही. महिला फोन पर बुरी तरह रो रही थी.

महिला के ब्वॉयफ्रेंड ने उन्हें धमकी दी थी कि वो उनकी नग्न तस्वीरें इंटरनेट पर डाल देगा.

अगर उनके परिवार के लोगों ने ये तस्वीरें देख ली तो? या उनके ऑफिस के लोगों के सामने ये तस्वीरें आ गईं? ये सवाल उनके दिमाग में कौंध रहे थे. ये सोच-सोचकर उनके ज़हन में आत्महत्या तक का ख़्याल आया.

साल 2015 में मैंने रिवेंज पॉर्न हेल्पलाइन शुरू की थी. इसके ज़रिए हम ऐसे लोगों की मदद करते हैं. इस सर्विस को चलाने के लिए हमें सरकार से आर्थिक मदद मिलती है.

जब कोई शख्स किसी की सहमति के बिना उसकी अतरंग तस्वीरें और वीडियो बांट देता है, तो हम इस हेल्पलाइन के ज़रिए पीड़ित की मदद करते हैं.

2015 में इंग्लैंड और वेल्स में इसे अपराध घोषित किया गया, जिसके तहत कम से कम दो साल की सज़ा का प्रावधान है.

रिवेंज पॉर्न कोई नई चीज़ नहीं है. शुरुआत में जो भी मामले हमारे सामने आए वो काफी पुराने थे.

एक महिला ने हमें बताया कि उनके एक्स-पार्टनर उनकी नग्न तस्वीरों और वीडियो को कई ब्लॉग, सोशल मीडिया और वेबसाइट्स पर डाल चुके हैं.

वो बीते सात सालों से इस सामग्री को इंटरनेट से हटवाने की कोशिश कर रही हैं, लेकिन उन्हें कामयाबी नहीं मिल सकी. उन्होंने पुलिस में भी शिकायत की, लेकिन पुलिस भी उनकी कोई मदद नहीं कर पाई. वो बेहद निराश हो चुकी थीं.

हमारे पास कई ऐसे मामले आते हैं जिनके पीछे महिलाओं के एक्स-पार्टनर होते हैं. ये मामले दो तरह के होते हैं:

  • दोनों के बीच बहुत ख़राब रिश्ता रहा हो, बुरी तरह से ब्रेक-अप हुआ हो.
  • या एक्स-पार्टनर पीड़ित पर यौन संबंधों का दबाव बना रहा हो.

दक्षिण कोरिया स्पाई कैमरा पोर्न की चपेट में

इमेज कॉपीरइट BBC THREE

जब कोई हमसे संपर्क करता है तो हम सबसे पहले उसकी तस्वीरों को इंटरनेट से हटवाने की कोशिश करते हैं.

हम इन्हें हटवाने की गारंटी नहीं दे सकते, क्योंकि कई ऐसी वेबसाइट्स होती हैं जो हमारा सहयोग नहीं करती और हमें पूरी तरह से नज़रअंदाज़ कर देती हैं.

हेल्पलाइन शुरू करने के पहले साल हमें 3,000 फोन कॉल आए. तीन साल में हमें 12,000 से ज़्यादा कॉल और इमेल मिले.

मैं ये नहीं कहूंगा कि पॉर्न रिवेंज के मामले बढ़े हैं, बल्कि लोग अब जागरुक हो रहे हैं और ऐसे मामलों में मदद मांग रहे हैं.

"सेल्फी जनरेशन" पॉर्न रिवेंज का शिकार बनती है. आपने सुना भी होगा: लड़की ने बिना कपड़ों वाली फोटो ब्वॉयफ्रेंड को भेजी. इसके बाद दोनों का ब्रेक-अप हो गया, तो उसने लड़की की तस्वीरें इंटरनेट पर शेयर कर दीं.

हमसे कई युवा मदद मांगते हैं. लेकिन हमारे सामने 40-50 साल की उम्र के लोगों के मामले भी आते हैं.

प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा
सीक्रेट कैमरों की बदौलत, फल फूल रही है पोर्न इंडस्ट्री

एक दिन हमसे 70 साल के एक शख्स ने संपर्क किया. पीड़ित को कोई ब्लैकमेल कर रहा था. किसी ने चुपके से उनके सेक्शुअल एक्ट की वीडियो बना ली और ब्लैकमेल करके पैसे मांगने लगा.

हमें कॉल करने वाली ज़्यादातर महिलाएं होती हैं और एक चौथाई पुरुष. हाल ही में हमारे सामने एक मामला आया, जिसमें डेटिंग ऐप पर एक लड़की का फेक अकाउंट बनाकर किसी ने एक पुरुष से संपर्क किया.

फ़ेक अकाउंट के उस पार बैठे व्यक्ति ने उन्हें उत्तेजित कर हस्तमैथुन करवाया. फिर इसी के ज़रिए ब्लैकमेल करके पैसे मांगने लगा.

कई बार लोगों के नहाने या बेडरूम में निजी पलों की वीडियो बना ली जाती है. ऐसा करने वाले कई बार उनके जानने वाले ही होते हैं.

या फिर कई बार लोगों के सोशल मीडिया अकाउंट्स हैक कर उनकी नग्न तस्वीरें चुरा ली जाती हैं.

मुझे याद है मेरी एक क्लाइंट थीं, जो काफी लोकप्रिय हैं. उन्होंने सोशल मीडिया के ज़रिए किसी से अपनी अंतरंग तस्वीरें साझा की. लेकिन किसी ने उन तस्वीरों को निकालकर वायरल कर दिया.

हमने उन तस्वीरों को इंटरनेट से हटाने की बहुत कोशिश की, लेकिन वो तस्वीरें हर जगह फैल चुकीं थीं.

नहाती हुई 34 महिलाओं का वीडियो बनाने वाला दोषी क़रार

इमेज कॉपीरइट ISTOCK / BBC THREE

लोगों को अपने फोन पर अंतरंग तस्वीरें रखने से बचना चाहिए. एक किशोरी के माता-पिता ने हमसे संपर्क किया था. उनकी बेटी का फ़ोन चोरी हो गया था.

फ़ोन में उनकी बेटी की कुछ टॉपलेस तस्वीरें थी, जो उसने बीच पर लीं थी. ये तस्वीरें चोरों के हाथ लग गईं. चोरों ने लड़की को ब्लैकमेल करना शुरू कर दिया. यहां तक की उसके परिजनों को भी धमकी दी कि अगर उन्होंने पैसे नहीं दिए तो वो तस्वीरों को इंटरनेट पर डाल देंगे.

हमने लड़की के माता-पिता को पुलिस में जाने की सलाह दी और कहा कि चोरों की कोई मांग ना मानें.

कई बार अभियुक्त खुद हमसे संपर्क करते हैं. मुझे एक वाकया याद आता है. एक लड़के ने अपनी एक्स-गर्लफ्रेंड की तस्वीर ऑनलाइन पोस्ट कर दी, इसके बाद उसे अपनी इस हरकत पर पछतावा हुआ.

जिस रिवेंज वेबसाइट पर उसने अपनी एक्स-गर्लफ्रेंड की तस्वीरें डाली थी, वो वेबसाइट खासकर इसलिए थी कि कोई अपने एक्स को शर्मिंदा करने के लिए नाम लिखकर तस्वीरें डाल सके.

हमने उसकी मदद की और वो तस्वीरें वेबसाइट से हटवा दीं. हालांकि ये सब करने में कुछ वक्त लगा.

हमने उस लड़के को बताया कि उसने क़ानून का उल्लंघन किया है. लेकिन जजमेंटल होने की बजाए हमारी प्राथमिकता लोगों की मदद करना है. अब ये उनकी पार्टनर पर है कि वो पुलिस को शिकायत करना चाहती है या नहीं.

एक दफ़ा एक महिला के एक्स-पार्टनर ने उनकी नग्न तस्वीरें ऑफिस की कॉमन इमेल आईडी पर भेज दीं. ये मेल उनका हर सहकर्मी देख सकता था.

हालांकि उनकी कंपनी के लोगों ने उनका काफ़ी सहयोग किया, लेकिन क्या आप सोच सकते हैं कि उस महिला पर क्या बीती होगी?

पीड़िता कंपनी के एक ऊंचे पद पर थीं. उन्होंने ठान लिया कि वो अपने एक्स-पार्टनर को नहीं छोड़ेंगी. और उनकी ये सोच बिल्कुल सही थी.

उन्होंने हमसे संपर्क किया और पुलिस को भी फोन मिला दिया. हमने उन्हें सलाह दी कि वो अपने सारे सहकर्मियों को वो मेल डिलीट करने को कहें.

हमने उन्हें ये भी बताया कि उन्हें पुलिस को क्या सबूत देने हैं. लेकिन हम नहीं जानते कि आख़िर में उस केस का क्या हुआ?

ज़्यादातर मामलों में हमें पता नहीं चलता कि आख़िर में क्या हुआ, क्योंकि हम अदालत की प्रक्रिया तक क्लाइंट के साथ नहीं रह पाते.

'ट्रंप ने पोर्न स्टार को दिए थे 1 लाख 30 हज़ार डॉलर'

इमेज कॉपीरइट ISTOCK / BBC THREE

हमारी टीम पूरे उत्साह के साथ काम करती है. हमारा कोई बहुत बड़ा कॉल सेंटर नहीं है, हमारी टीम भी बहुत छोटी सी है. काम करने वाले हम सिर्फ तीन लोग हैं, इसलिए काम का काफी लोड होता है.

रोज़ाना इस तरह के गंभीर मामलों से दो-चार होना हम पर भावनात्मक असर डालता है. कई मामले बहुत परेशान करने वाले होते हैं. हम सबकी मदद करना चाहते हैं, लेकिन ऐसा नहीं कर पाते.

हमारे काम का एक और पहलु भी है. हमें बहुत-सा टाइम पॉर्न वेबसाइट पर बिताना पड़ता है. इन वेबसाइट्स का कंटेंट लगातार देखना परेशान कर देने वाला होता है.

इस काम के लिए मुझे अपने आप को मज़बूत बनाना पड़ता है, क्योंकि हमें बहुत से लोगों की मदद करनी है.

इस पेशे में मुझे कॉलरों से कुछ दूरी बनाकर रखनी पड़ती है, इसके बावजूद आप इमोशनल महसूस करने लगते हैं.

उनकी कहानियां मेरे दिल को छूती हैं. मैं हमेशा अपने आप को याद दिलाता हूं कि मैं ये क्यों कर रहा हूं.

जब काम बहुत ज़्यादा हो जाता है, तो मैं अपनी टीम से कहता हूं, "एक ब्रेक लो. ये वेबसाइट्स बंद करो और कुछ समय के लिए कुछ और करो."

किसी के पास भी ये अधिकार नहीं है कि वो किसी और की निजी तस्वीरों को यूं साझा कर दे. मैं उन लोगों के लिए लड़ना जारी रखूंगा.

रिवेंज पोर्न हेल्पलाइन के संस्थापक से बातचीत पर आधारित. पहचान छिपाने के लिए इस लेख में कुछ जानकारी बदल दी गई है.

पोर्न स्टार को धमकाने वाला क्या ट्रंप का आदमी था?

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)