ट्रंप ने रद्द किया विदेश मंत्री पोम्पियो का उत्तर कोरिया दौरा

  • 25 अगस्त 2018
ट्रंप और किम इमेज कॉपीरइट Reuters

अमरीका के विदेश मंत्री माइक पोम्पियो हाल-फ़िलहाल उत्तर कोरिया का दौरा नहीं करेंगे. राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप ने उन्हें प्रस्तावित यात्रा को रद्द करने के लिए कहा है.

अमरीकी राष्ट्रपति ने एक ट्वीट में कहा कि कोरियाई प्रायद्वीप को परमाणु हथियार मुक्त करने की दिशा में पर्याप्त प्रगति नहीं हुई है.

उन्होंने कहा कि चीन ने अमरीका के साथ व्यापार को लेकर पैदा हुए तनाव के कारण उत्तर कोरिया पर पर्याप्त दबाव नहीं बनाया.

हालांकि जून में उत्तर कोरिया के नेता किम जोंग-उन के साथ सम्मेलन में हिस्सा लेने के बाद ट्रंप ने कहा था कि उत्तर कोरिया से कोई परमाणु ख़तरा नहीं है.

इमेज कॉपीरइट Reuters

मगर उसके बाद से ऐसी कई रिपोर्ट्स आई हैं कि उत्तर कोरिया ने अपने परमाणु ठिकानों को बंद नहीं किया है.

हाल ही में एक अज्ञात अमरीकी अधिकारी ने वॉशिंगटन पोस्ट को जानकारी दी थी कि ऐसा लग रहा है कि उत्तर कोरिया नई इंटरकॉन्टिनेंटल बैलिस्टिक मिसाइल तैयार कर रहा है.

संयुक्त राष्ट्र की परमाणु एजेंसी ने भी कहा है कि उत्तर कोरिया ने अपना परमाणु कार्यक्रम जारी रखा हुआ है.

इमेज कॉपीरइट Reuters

क्या रुख है ट्रंप का?

माइक पोम्पियो को उत्तर कोरिया के लिए नियुक्त विशेष दूत स्टीफ़न बीगन के साथ अगले हफ्ते उत्तर कोरिया जाना था.

यह विदेश मंत्री का चौथा दौरा होता, हालांकि किम जोंग-उन से उनकी मुलाकात नहीं होनी थी. मगर ट्रंप ने कहा कि अब पोम्पियो उत्तर कोरिया नहीं जाएंगे.

इस मामले पर किए गए तीन तीन ट्वीट्स में से दूसरे में ट्रंप ने चीन पर भी निशाना साधा.

उन्होंने कहा कि 'कारोबार को लेकर हमारे सख्त रवैये के कारण मुझे नहीं लगता कि चीन परमाणु हथियार मुक्त करने की दिशा में उसी तरह मदद कर रहा है जैसे वह पहले कर रहा था.'

हालांकि दो दिन पहले ही ट्रंप ने कहा था कि 'उत्तर कोरिया को लेकर चीन बहुत मददगार रहा है. '

इमेज कॉपीरइट AFP/GETTY IMAGES

कब जाएंगे पोम्पियो?

अमरीकी राष्ट्रपति ने ट्वीट किया है, "पोम्पियो निकट भविष्य में उत्तर कोरिया जाने की योजना बना सकते हैं. शायद उस समय, जब चीन के साथ हमारे कारोबारी रिश्ते सुलझ जाएंगे. इस दौरान मैं चेरयरमैन किम को शुभकामनाएं भेजना चाहता हूं. मुझे उनसे जल्द मिलने में ख़ुशी होगी. "

जिस समय इसी साल जून में ट्रंप सिंगापुर में किम जोंग-उन से मुलाकात करके आए थे, उन्होंने ट्वीट करके लिखा था, "उत्तर कोरिया से अब कोई परमाणु ख़तरा नहीं है. अब सभी सुरक्षित महसूस कर सकते हैं."

मगर सिंगापुर में हुई प्रगति के विपरीत ताज़ा हालात बदले हुए नज़र आ रहे हैं. सिंगापुर के सम्मेलन से लेकर अब तक ट्रंप और उत्तर कोरिया के रिश्तों में कई उतार-चढ़ाव आए हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए