हिंदू मंदिरों में बलि पर रोक लगाएगा श्रीलंका

  • 13 सितंबर 2018
मंदिर इमेज कॉपीरइट Getty Images

श्रीलंका की सरकार हिंदू मंदिरों में पशु-पक्षियों की बलि पर रोक लगा रही है.

सरकार के एक प्रवक्ता ने बीबीसी को बताया कि हिंदू धार्मिक मामलों के मंत्रालय ने इसका प्रस्ताव आगे बढ़ाया था और अधिकतर उदारवादी समूहों ने इसका समर्थन किया है.

कुछ हिंदू अपने देवी-देवताओं को प्रसन्न करने के लिए मंदिरों में बकरा, भैंसा और मुर्गियों की बलि देते हैं.

लेकिन श्रीलंका में बहुसंख्यक बौद्ध कई वर्षों से इसका विरोध कर रहे हैं. आलोचक इसे अमानवीय बताते हैं.

हिंदुओं के अलावा मुसलमान भी अपने धार्मिक आयोजनों में पशुओं की बलि देते हैं. पशुओं के अधिकारों के लिए काम करने वाले और बौद्ध समूह इससे नाराज़ होते हैं.

हालांकि सभी हिंदू पशुओं की बलि नहीं देते हैं, लेकिन बलि देने वालों का तर्क है कि पाबंदी से उनकी धार्मिक स्वतंत्रता खत्म होगी.

पशु बलि का समर्थन करने वालों का कहना है कि ये उनकी आस्था का मामला है जो प्राचीन काल से जारी है, इसलिए इसे जारी रखा जाना चाहिए.

इमेज कॉपीरइट Alamy

श्रीलंका के मामले में ऐसा प्रतीत होता है कि बलि पर रोक संबंधी क़ानून के दायरे में मुसलमान नहीं होंगे, जो देश की आबादी का तीसरा बड़ा हिस्सा हैं.

श्रीलंका में हाल के वर्षों में काफी धार्मिक हिंसा हुई है. मार्च में मुसलमान विरोधी दंगों में तीन लोग मारे गए थे और लगभग 450 घरों और दुकानों को नुकसान पहुंचाया गया था जिनका संबंध मुसलमानों से था.

म्यांमार में फ़ेसबुक कैसे बन गया 'दानव'

नन रेप केस: आरोपों पर क्या बोले बिशप फ्रैंको

हैदराबाद के निज़ाम म्यूज़ियम में क्या-क्या है?

BBC SPECIAL: कम्युनिस्ट पार्टियों की लीडरशिप में कहां है दलित?

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

मिलते-जुलते मुद्दे