फिलिपींस में तूफ़ान की दस्तक, दो लोगों की मौत

  • 15 सितंबर 2018
मैंगकूट तूफ़ान इमेज कॉपीरइट Getty Images

उत्तरी फिलिपींस में शनिवार सुबह तेज़ हवाओं और ज़बरदस्त तूफ़ान के साथ लोगों के दिन की शुरुआत हुई. यह मैंगकूट तूफ़ान की आहट थी.

सरकारी अधिकारियों के अनुसार टुगुएगराओ शहर की लगभग सभी इमारतों को इस तूफ़ान की वजह से कुछ न कुछ नुकसान पहुंचा है.

तूफ़ान के कारण अब तक कम से कम दो लोगों की मौत हो गई है. अधिकारियों का कहना है कि मरने वालों का आंकड़ा बढ़ सकता है.

इस तूफ़ान की वजह से हवा 185 किलोमीटर प्रतिघंटे की रफ़्तार से बह रही है. जिस इलाके में तूफ़ान आया है वहां लगभग 40 लाख लोग इससे प्रभावित बताए जा रहे हैं.

तूफ़ान के चलते 20 फ़ुट ऊंची लहरें उठ सकती है. इस कारण सुरक्षा के लिहाज़ से हज़ारों लोगों को सुरक्षित स्थानों में पहुंचाया गया है.

ये तूफ़ान चीन की तरफ बढ़ रहा है. रविवार दोपहर तक यह तूफ़ान होंगकोंग की तरफ चला जाएगा. बताया जा रहा है कि कुछ ही दिनों में चीन के तट से टकरा सकता है.

फिलिपींस के इतिहास में अब तक का सबसे ख़तरनाक तूफ़ान साल 2013 में आया था, जिसमें 7 हज़ार से अधिक लोग मारे गए थे.

इमेज कॉपीरइट EPA

अभी क्या हैं हालात?

सबसे पहले इस तूफ़ान ने फिलिपींस के उत्तर पूर्वी इलाके बागाओ में शनिवार देर रात स्थानीय समयानुसार 1.40 मिनट पर दस्तक दी.

हालांकि कुछ देर बाद इस तूफ़ान की रफ़्तार कुछ मंद पड़ी और इसे बेहद ख़तरनाक तूफ़ान की श्रेणी की बजाय थी श्रेणी के तूफ़ान में शामिल किया गया है.

हालांकि विश्व मौसम संगठन ने इस तूफ़ान को इस साल अभी तक दुनियाभर में आए तूफ़ानों में से सबसे ख़तरनाक आंका है.

फिलिपींस की रेड क्रॉस संस्था की तरफ़ से जारी की गई तस्वीरों और वीडियो में बाढ़ के पानी का लगातार बढ़ना देखा जा सकता है.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

कितना तैयार है फिलिपींस?

फिलिपींस प्रशासन के अनुसार वो पिछले साल के मुकाबले इस बार तूफ़ान का सामना करने के लिए अधिक तैयार हैं.

दर्जनों प्रांतों में तूफ़ान की चेतावनी जारी की जा चुकी है. इसके अलावा समुद्री और हवाई मार्गों के ज़रिए होने वाले यातायात पर भी रोक लगा दी गई है. कई फ़्लाइटें रद्द की गई हैं.

स्कूलों को बंद कर दिया गया है. साथ ही ज़रूरत के वक्त के लिए सेना को भी तैयार कर लिया गया है.

प्रशासन ने तूफ़ान के साथ-साथ भूस्खलन और बाढ़ की चेतावनी भी जारी की है.

प्रशासन ने लोगों से घरों के भीतर रहने की अपील की है. वहीं मौसम विशेषज्ञों के अनुसार यह तूफ़ान इस इलाके में आने वाला पिछले कई दशकों का सबसे खतरनाक तूफ़ान हो सकता है.

इमेज कॉपीरइट AFP

एक महिला ने समाचार एजेंसी एएफ़पी को बताया कि वह बहुत डरी हुई है. महिला का कहना है, "मुझे अपना घर छोड़ना पड़ा, क्योंकि पिछली बरसात में हमारा आधा घर टूट गया था. मैं अपने पोते-पोतियों को सुरक्षित स्थान में ले जाना चाहती हूं."

वहीं दूसरी तरफ चीन में भी प्रशासन इस तूफ़ान के आगमन से पहले ही सतर्क हो गया है.

आशंका जताई जा रही है कि रविवार या सोमवार सुबह तक यह तूफ़ान चीन पहुंच जाएगा. चीन के प्रशासन ने इसके चलते चेतावनी जारी कर दी है.

ये भी पढ़ेंः

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहाँ क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

मिलते-जुलते मुद्दे