अमरीकी राष्ट्रपति ट्रंप ने भारत को बताया 'टैरिफ़ किंग'

  • 2 अक्तूबर 2018
डोनल्ड ट्रंप इमेज कॉपीरइट Reuters

अमरीका के राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप ने भारत को "टैरिफ़ किंग" बताते हुए कहा है कि भारत 'उन्हें खुश करने' के लिए व्यापार समझौते पर बातचीत शुरू करना चाहता है.

अमरीकी राष्ट्रपति ट्रंप ने वाइट हाउस में कहा कि भारतीय अधिकारी चाहते हैं कि व्यापारिक समझौते को लेकर बातचीत जल्दी से जल्दी शुरू हो.

ट्रंप ने कहा कि वो भी चाहते हैं कि भारत 'तुरंत' अमरीका से बातचीत करे.

राष्ट्रपति ट्रंप ने अमरीकी बाइक हार्ले डेविडसन का उदाहरण देते हुए कहा कि उन पर सौ फ़ीसद की दर से आयात शुल्क लगाए जाने के बारे में जब उन्होंने भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से बात की तो उनका कहना था कि इस बारे में पहले किसी अमरीकी ने बात ही नहीं की और आयात शुल्क की दर कम करने का वादा किया.

ट्रंप ने ये भी कहा कि भारत ने अमरीकी मोटरसाइकिलों पर शुल्क की दर कम की है लेकिन ये काफी नहीं है.

इमेज कॉपीरइट EPA

भारत और मोदी के साथ अच्छे रिश्ते

हालांकि, उन्होंने ये भी कहा कि भारत और प्रधानमंत्री के साथ उनके रिश्ते बहुत अच्छे हैं.

ट्रंप ने कहा, "मेरे भारत के साथ रिश्ते उम्दा हैं. प्रधानमंत्री मोदी के साथ शानदार संबंध हैं. वो इस बारे में काम करेंगे."

ट्रंप के बयान पर अभी भारत की ओर से प्रतिक्रिया नहीं आई है.

इसके पहले भी ट्रंप प्रशासन अमरीकी उत्पादों पर भारत की ओर से ज़्यादा आयात शुल्क लगाए जाने का मुद्दा भी उठाता रहा है.

बीते कुछ दिनों में राष्ट्रपति ट्रंप भी कम से कम दो बार आरोप लगा चुके हैं कि भारत में अमरीकी उत्पादों पर बहुत अधिक आयात शुल्क है. वो ये चेतावनी भी दे चुके हैं कि अमरीका भी भारत से आने वाली वस्तुओं पर अधिक आयात शुल्क लगाएगा.

ट्रंप प्रशासन भारत और अमरीका के बीच व्यापार की खाई को कम करने के लिए भारत पर लगातार दबाव बनाता रहा है कि वो अमरीका से ज़्यादा सामान आयात करे.

अभी दोनों देशों के बीच व्यापार का अंतर करीब 25 अरब डॉलर का है.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

ऐतिहासिक समझौता

अमरीकी राष्ट्रपति ने कनाडा और मेक्सिको के साथ हुए व्यापारिक समझौते को अमरीकी फैक्ट्रियों में काम करने वाले श्रमिकों के लिए 'नया सवेरा' बताया है.

उन्होंने कहा कि इस समझौते के जरिए अमरीका में हज़ारों नौकरियां वापस आएंगी.

साल 1994 में हुए नार्थ अमरीकन फ्री ट्रेड एग्रीमेंट (नाफ्टा) की जगह लेने वाले अमरीका-मेक्सिको-कनाडा समझौते को ट्रंप ने 'ऐतिहासिक' बताया.

नए समझौते, जिसे ट्रंप 'यूएस एमसीए' कह रहे हैं, को उन्होंने 'अभी तक का सबसे अहम व्यापारिक समझौता' बताया.

क्या ट्रंप ने भारत और चीन की अहमियत बढ़ा दी?

अमरीका का स्टील पर ट्रंप कार्ड, क्या होगा भारत का

इमेज कॉपीरइट Getty Images

अमरीकी राष्ट्रपति ट्रंप 'अमरीका फ़र्स्ट' की नीति की वकालत करते रहे हैं और उन्होंने चीन के ख़िलाफ 'ट्रेड वार' शुरू किया हुआ है. ट्रंप प्रशासन ने मेक्सिको और कनाडा से स्टील और एल्युमिनियम के आयात पर भी शुल्क लगाया.

ट्रंप ने कहा, "टैरिफ़ के बिना हम समझौते के बारे में बात नहीं कर रहे होते."

अमरीका, मेक्सिको और कनाडा के नेता नए समझौते पर नवंबर के आखिरी हफ़्ते के पहले दस्तख़्त कर सकते हैं.

समझौते पर अमरीका की ओर से बातचीत करने वाले रॉर्बट लाइटहाइज़र ने कहा कि वो मानते हैं कि अमरीकी कांग्रेस में इस समझौते को बहुमत से मंजूरी मिल जाएगी. इसकी वजह ये है कि ये समझौता सभी पक्षों के लिए लाभकारी है.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

अभी चीन से बातचीत नहीं

चीन से व्यापारिक समझौते को लेकर बातचीत के मुद्दे पर ट्रंप ने कहा कि अभी ऐसा करना बहुत जल्दीबाजी होगा.

उन्होंने कहा, "चीन बातचीत के लिए बहुत बेचैन है... हम अभी बातचीत नहीं कर सकते हैं क्योंकि वो अभी तैयार नहीं हैं."

ट्रंप प्रशासन ने इस साल चीन पर तीन दौर में टैरिफ़ (आयात शुल्क) लगाया है.

चीन बनाम अमरीकाः व्यापार युद्ध में किसकी होगी जीत?

अमरीका ने चीनी आयात पर लगाया 200 अरब डॉलर का शुल्क

अमरीका और चीन के बीच ट्रेड वॉर की पांच बड़ी बातें

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

मिलते-जुलते मुद्दे