इथियोपिया में आधे मंत्री पद महिलाओं को दिए गए

  • 17 अक्तूबर 2018
आएशा मोहम्मद इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption आएशा मोहम्मद इथियोपिया की पहली महिला रक्षा मंत्री हैं

इथियोपिया के प्रधानमंत्री आबी अहमद ने अपने मंत्री परिषद में आधे पद महिलाओं को दिए हैं.

देश में बेहद अहम माना जाने वाला रक्षा मंत्री का पद महिला नेता, आएशा मोहम्मद को दिया गया है.

संसद में दिए अपने भाषण में आबी अहमद ने कहा, "महिलाएं कम भ्रष्ट होती हैं और वो देश में शांति और स्थिरता लाने में मदद करेंगी."

रवांडा के बाद अब इथियोपिया दूसरा ऐसा अफ़्रीकी देश है जहां मंत्री परिषद में आधी महिलाएं हैं.

आबी अहमद ने मंत्रियों के संख्या 28 से घटाकर 20 कर दिए हैं.

इसी साल अप्रैल में देश का प्रधानमंत्री बनने के बाद से आबी अहमद ने कई सुधारवादी क़दम उठाए हैं.

उन्होंने पड़ोसी देश इरिट्रिया के साथ दो साल से चले आ रहे हिंसक संघर्ष को भी ख़त्म किया है.

मोहम्मद ने देश की अर्थव्यवस्था पर सरकार की मज़बूत पकड़ ढीली की है.

यही नहीं उन्होंने हज़ारों राजनीतिक बंदियों को भी रिहा किया है.

आयशा मोहम्मद को देश की पहली महिला रक्षामंत्री बनाया गया है. वो देश के अफ़ार क्षेत्र से आती हैं और इससे पहले कंस्ट्रक्शन मिनिस्टर की भूमिका निभा चुकी हैं.

संसद की पूर्व अध्यक्ष मुफेरियात कामिल देश की पहली शांति मंत्री (गृह मंत्री) बनी हैं. वो देश की ख़ुफ़िया और सुरक्षा एजेंसियों के अलावा संघीय पुलिस की कमान भी संभालेंगी.

संयुक्त राष्ट्र में इथियोपिया की डिप्टी स्थायी प्रतिनिधी महलेत हाइलू ने नए मंत्रियों की सूची ट्वीट की है.

आबी मोहम्मद ने कहा है कि उनका सुधारवादी कार्यक्रम चलता रहना चाहिए ताकि देश को अफ़रातफ़री में धकेलनी वाली ढांचागत और रणनीतिक समस्याओं को सुलझाया जा सके.

उन्होंने कहा कि देश में शांति और स्थिरता लाने में महिलाओं ने अहम भूमिका निभाई है.

उन्होंने कहा कि महिलाएं कम भ्रष्ट होती हैं और अपन काम का सम्मान करती हैं और बदलाव के पथ पर आगे बढ़ती रह सकती हैं.

इमेज कॉपीरइट Reuters

इथियोपिया के तत्कालीन प्रधानमंत्री हालेमरियम देसालेन के अचानक इस्तीफ़े के बाद 42 वर्षीय आबी मोहम्मद अप्रैल में देश के प्रधानमंत्री बने थे.

आबी ओरोमो समुदाय से हैं जिन्होंने संस्थानों और सरकार में अधिक प्रतिनिधित्व की मांग करते हुए तीन साल लंबा विरोध प्रदर्शन किया था.

आबी भरोसे और एकजुटता की अपील करते हुए लोगों से एक दूसरे के ज़ख़्म भरने का आह्वान करते हैं.

प्रधानमंत्री बनने के बाद से इथियोपिया के अधिकतर लोगों ने आबी मोहम्मद का स्वागत किया है.

ये भी पढ़ें-

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

मिलते-जुलते मुद्दे