कैसी है जिब्राल्टर की ज़िंदगी

  • 24 अक्तूबर 2018
इमेज कॉपीरइट uke Archer

ब्रिटेन की यूरोपीय संघ से बाहर होने की प्रक्रिया ब्रेक्ज़िट पास आ रही है और ऐसे में ब्रिटेन और स्पेन के बीच पड़ने वाले ब्रितानी क्षेत्र जिब्राल्टर को लेकर समीक्षा की जा रही है.

इमेज कॉपीरइट uke Archer

ये समीक्षा इसलिए की जा रही है क्योंकि जिब्राल्टर में ब्रेक्ज़िट के लिए अलग योजना की ज़रूरत पड़ सकती है.

इमेज कॉपीरइट uke Archer

फ़ोटोग्राफ़र लुक अरचर का परिवार जिब्राल्टर में रहता है. उन्होंने इस प्रदेश के ही 'द रॉक' कही जाने वाले जगह की तस्वीरें शेयर की हैं और इन खूबसूरत तस्वीरों के जरिए जिब्राल्टर की कहानी लोगों तक पहुंचाने की कोशिश की है.

इमेज कॉपीरइट uke Archer

जिब्राल्टर के लोग खुद को ब्रितानी मानते हैं. इस राज्य में दो बार, साल 1967 और 2002 में जनमत संग्रह किया गया जिसमें 90 फ़ीसदी लोगों ने ब्रिटेन में बने रहने के लिए वोट किया. 96 फ़ीसद जिब्राल्टर के लोगों ने ब्रेग्ज़िट के जनमत संग्रह में भाग लिया था. इन लोगों ने यूरोपीय संघ में बने रहने के लिए वोट किया था और अब इन लोगों को एक ऐसा नतीजा मिला है जो ये नहीं चाहते थे.

इमेज कॉपीरइट uke Archer

जिब्राल्टर और स्पेन दोनों में काफ़ी समानताएं हैं. जिब्राल्टर के लोग भली भांति स्पैनिश भाषा बोल सकते हैं. स्पेन से सीमा लगने के कारण यहां रोज़ाना हज़ारों स्पेनी नागरिक नौकरी या अन्य ज़रूरतों के लिए आते हैं.

इमेज कॉपीरइट uke Archer

केवल भाषा ही नहीं है जहां इस राज्य में स्पेन का असर दिखता है. यहां का शंतिमय जीवन काफ़ी कुछ स्पेन से मिलता-जुलता है.

इमेज कॉपीरइट uke Archer

अरचर कहते हैं, ''किसी ने मुझसे कहा था कि अगर यूके में भी ऐसा ही मौसम हो जाए तो वहां के लोग थोड़ा आराम महसूस कर सकेंगे और थोड़ा 'लैटिन' हो सकेंगे. ''

''छोटे से जिब्राल्टर में कई कहानियां और इतिहास समाए हुए हैं. मैंने आर्मी और धर्म से जुड़े इतिहास को समझने की कोशिश शुरू की है. 'द रॉक' की नौसेना ने यूके के अंतरराष्ट्रीय संघर्ष में अहम भूमिका निभाई है.

इमेज कॉपीरइट uke Archer

लेखक निकोलस रैनकिन द रॉक के बचाव में कहते हैं, '' द्वितीय विश्व युद्ध में जिब्राल्टर पर कब्ज़ा ना कर पाने के कारण ही हिटलर की हार हुई थी.''

द्वितीय विश्व युद्ध के बाद ब्रिटेन कई टुकड़ों में बंट गया. लेकिन जिब्राल्टर इसका हिस्सा बना रहा. स्पेन जिब्राल्टर पर यूके के क्षेत्राधिकार पर सवाल खड़े करता रहा है. लेकिन जिब्राल्टर के लोग ब्रिटेन का हिस्सा बने रहना चाहते हैं.

ये जगह ख़ुद में आधुनिकता और संस्कृति को समेटे हुए है. जिब्राल्टर में हर जाति, हर धर्म के लोगों का खुले दिल से स्वागत करता है.

ये भी पढ़ें:-

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक,ट्विटर, इंस्टाग्रामर यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

मिलते-जुलते मुद्दे