इंडोनेशिया विमान हादसे में मिला 'ब्लैक बॉक्स', क्या दुर्घटना के कारणों का चलेगा पता

इंडोनेशिया, लायन एयरलाइंस

इमेज स्रोत, AFP/Getty Images

इंडोनेशिया की लायन एयरलाइंस के दुर्घटनाग्रस्त विमान बोइंग 737 का 'ब्लैक बॉक्स' मिल गया है. ये ब्लैक बॉक्स बॉक्स इंडोनेशिया के तट पर मिला है.

29 अक्टूबर को इंडोनेशिया में जकार्ता से पंगकल जा रहा यह विमान उड़ान भरने के 13 मिनट बाद ही दुर्घटनाग्रस्त हो गया. इस विमान में 189 लोग सवार थे.

लायन एयर के मुताबिक विमान में 178 वयस्क लोग और तीन बच्चे सवार थे. दो पायलट और क्रू के छह सहयोगी भी थे.

इस हादसे में किसी के भी जीवित होने की जानकारी नहीं मिली है. प्लेन में सवार लोगों का सामान और बहुत सारा मलबा पहले ही समुद्र से निकाला जा चुका है.

मलबे में एक टूटा-फूटा आईफ़ोन भी मिला है और यह तस्वीर इंटरनेट पर काफ़ी शेयर की जा रही है.

अब भी ये नहीं पता चल पाया है कि हादसे का कारण क्या है. हालांकि, ये माना जा रहा है कि फ्लाइट में तकनीकी समस्या के करण ऐसा हुआ होगा.

ब्लैक बॉक्स ढूंढने वाले हैंडरा नाम के एक डाइवर ने रॉयटर्स को बताया कि ये ब्लैक बॉक्स समुद्र के तले में मलबे में दबा हुआ था.

इमेज स्रोत, EPA

कैसे मिलेगी मदद

अधिकारियों ने बताया कि जो ब्लैक बॉक्स उन्हें मिला है वो डेटा रिकॉर्डर है. अब भी दूसरे 'ब्लैक बॉक्स' को ढूंढा जा रहा है जिसमें दोनों पायलट के बीच हुई बातचीत रिकॉर्ड हुई होगी.

स्थानीय न्यूज चैनल मेट्रो टीवी ने बॉक्स को एक प्लास्टिक के डिब्बे में जहाज़ पर लाते हुए फ़ुटेज दिखाई है.

इंडोनेशिया की ट्रांस्पोर्टेशन सेफ्टी कमेटी ने कहा है कि इस फ्लाइट रिकॉर्डर के जरिए विमानन सुरक्षा विशेषज्ञ उस वक्त हुई घटनाओं का पता करके उनसे कड़ियां जोड़ पाएंगे. इससे हादसे के कारणों का पता चलने में मदद मिल सकती है. लेकिन इस पूरे काम में छह महीने का समय लग सकता है.

एयरलाइन के तकनीकी लॉग से बीबीसी को ये जानकारी मिली है कि एक दिन पहले ही बाली से जकार्ता जाते हुए विमान में कुछ ख़राबी आई थी. एक उपकरण पर ग़लत एयरस्पीड ​रीडिंग देखी गई थी और कैप्टन व फ़र्स्ट ऑफ़िसर के उपकरणों में भी रीडिंग अलग-अलग थी.

इमेज स्रोत, Reuters

वहीं, एयरलाइन का कहना है कि फ्लाइट उड़ने से पहले तकनीकी समस्या आई थी, लेकिन उसे प्रक्रिया के अनुसार ठीक कर दिया गया था.

वहीं, एयरलाइन ने अपने टेक्निकल डायरेक्टर मोहम्मद आसिफ़ को नौक्ररी से हटा दिया है. उधर मामले की जांच के लिए बोइंग के प्रतिनिधि इंडोनेशिया के अधिकारियों से मिल रहे हैं.

इस दौरान, हादसे की जगह पर यात्रियों के मृत शरीर ढूंढने और पहचान के लिए उन्हें ज़मीन पर लाने का काम लगातार जारी है.

31 अक्टूबर को 24 साल की एक महिला यात्री की पहचान के बाद अंतिम संस्कार किया गया था.

इमेज स्रोत, EPA

भारतीय कैप्टन की मौत

विमान के पायलट कैप्टन भव्य सुनेजा थे. वो भारतीय मूल के थे. इंडोनेशिया में भारतीय दूतावास उनकी मौत की पुष्टि कर चुका है.

लिंक्डइन प्रोफ़ाइल के मुताबिक वो साल 2011 में लायन एयर के साथ जुड़े थे. ​

उनके पास छह हज़ार से ज़्यादा घंटे का विमान उड़ाने का अनुभव था.

को-पायलट हरविनो थे जिन्हें पांच हज़ार से ज़्यादा घंटे विमान उड़ाने का अनुभव था. यानी कॉकपिट में मौजूद दोनों पायलट ख़ासे अनुभवी थे.

इमेज स्रोत, BHAVYE SUNEJA FACEBOOK

क्रू के बाकी सदस्यों के नाम शिंतिया मेलिना, सिट्रा नोइविता एंजेलिया, अल्वियानी हिदायातुल सोलिखा, दमयंति सिमरमाता, मेरी युलिआंदा और डेनी मौला थे.

विमान में वित्त मंत्रालय के 20 कर्मचारी भी सवार थे.

वित्त मंत्रालय के प्रवक्ता नुफ़रांसा वीरा सक्ति ने बीबीसी को बताया था कि विमान में सवार लोग मंत्रालय के पंगकल स्थित कार्यालय में काम करते थे और जकार्ता में हफ़्ते के आखिरी दो दिन बिताने के बाद काम पर लौट रहे थे.

ये भी पढ़ें:-

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूबपर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)