1,400 किलो का वो बैल जिसने दुनिया भर में मचाई धूम

  • 29 नवंबर 2018
फिरिजियन नस्ल का है यह बैल इमेज कॉपीरइट Geoff Pearson
Image caption इस स्टीयर (बधिया किए हुए नर बैल) का नाम निकर्स है

जिस तरह पूरी दुनिया में सामान्य से ऊंची कद के इंसानों को हैरत से देखा जाता है ठीक उसी तरह, पश्चिम ऑस्ट्रेलिया में हज़ारों मवेशियों के झुंड में खड़े इस बैल को दूर से ही देखा जा सकता है और इसे देख कर हैरान हुए बगैर भी नहीं रहा जा सकता.

इसका नाम निकर्स है. ये एक स्टीयर है, जो बैल होते हैं. यानी उनका बधियाकरण कर दिया जाता है. इस बैल का वजन क़रीब 1,400 किलो है और ऊंचाई 6.4 फ़ीट है.

माना जाता है कि यह स्टीयर मवेशियों की बड़ी तादाद वाले ऑस्ट्रेलिया का सबसे ऊंचा बैल है.

हैरत की बात यह है कि इसका यही आकार इसको मौत से बचाने वाला साबित हुआ.

दरअसल जब इस बैल के मालिक ज्योफ़ पियर्सन ने पिछले महीने इसकी नीलामी की कोशिश की तो बूचड़खाने वालों ने कहा कि वो उसे संभाल नहीं सकेंगे.

इस तरह यह बैल बूचड़खाने से बच गया.

ये अब पश्चिम ऑस्ट्रेलिया में पर्थ से 136 किलोमीटर दक्षिण में स्थित लेक प्रीस्टन फीडलॉट में अपना बचा जीवन गुज़ारेगा.

इमेज कॉपीरइट Science Photo Library

फिरिजियन नस्ल का है निकर्स

पीयर्सन कहते हैं, "निकर्स (बैल का नाम) की जान बच गई है".

जबसे ऑस्ट्रेलियाई ब्रॉडकास्टर ने इस बड़े बैल की ख़बर चलाई है उन्हें पत्रकारों के कई फ़ोन आ रहे हैं.

हॉल्सटीन फिरिजियन नस्ल का यह बैल अपनी प्रजाति के बैलों की औसत ऊंचाई से बड़ा है. उसे बतौर कोच (अन्य मवेशियों के आगे चलने वाले) के तौर ख़रीदा गया था. तब उसकी उम्र महज 12 महीने की थी.

प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा
बर्ड फ़्रेंडली इमारतें

पियर्सन बताते हैं कि जब वो उसे ख़रीदने गए तो वो अन्य स्टीयर्स की तुलना में कुछ बड़ा दिख रहा था. उन्होंने यह भी बताया कि उनमें से कुछ स्टीयर्स को उसी उम्र में बूचड़खाने भेजा जा रहा था.

उन्होंने कहा, "हमने देखा कि वो अन्य स्टीयर्स से बड़ा है और किसी को चोट नहीं पहुंचा रहा तो सोचा कि उसे अभी रहने दिया जाए."

लेकिन कुछ दिनों के बाद उन्होंने यह नोटिस किया कि इसका बढ़ना रुक नहीं रहा, लेकिन अब बेचे जाने के लिए वो काफी बड़ा है.

क़रीब 20,000 मवेशियों के मालिक पियर्सन कहते हैं कि निकर्स के पास अब ज़िंदगी के कुछ ही साल बचे हैं.

वो कहते हैं, "अन्य मवेशियों के बीच निकर्स हिट है. उसके पीछे-पीछे अन्य मवेशी सैकड़ों की तादाद में बाड़े के इर्द-गिर्द चलते हैं. कई मवेशी भूरे रंग के वाग्यू (जापानी) प्रजाति से हैं. उनके बीच काले और सफेद में निकर्स और भी अलग दिखता है."

निकर्स नाम कैसे रखा गया?

पियर्सन कहते हैं, "जब वो बच्चा था और हम उसे ले कर आए तो उसकी दोस्ती हमारे पास मौजूद एक ब्राह्मण स्टीयर (ज़ेबू प्रजाति के स्टीयर) से हो गई थी. उस स्टीयर का नाम हमने ब्रा रखा था... इसीलिए इसे निकर्स नाम दे दिया. हमारे पास ब्रा और निकर्स दोनों हो गए."

उन्होंने कहा, "हमने कभी सोचा नहीं था कि निकर्स एक दिन इतना बड़ा हो जाएगा."

रिकॉर्ड बुक के मुताबिक़ दुनिया का सबसे बड़ा जीवित स्टीयर इटली का बैलिनो है. 2010 में इसकी ऊंचाई 2.027 मीटर (6.65 फ़ीट) मापी गई थी.

प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा
कभी नाच की परंपरा इन भालुओं के लिए थी बड़ी मुसीबत

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

मिलते-जुलते मुद्दे

संबंधित समाचार