गूगल पर 'इडियट' शब्द क्यों किया जा रहा है सर्च

  • 12 दिसंबर 2018
राष्ट्रपति ट्रंप इमेज कॉपीरइट Getty Images

सर्च इंजन गूगल पर अचानक से अंग्रेज़ी के इडियट "idiot" शब्द को सर्च किया जाने लगा है. ऐसा इसलिए क्योंकि ख़बर आई कि गूगल में इसे सर्च करने पर अमरीका के राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप की तस्वीरें दिखने लगती हैं.

इस सर्च की बात गूगल के मुख्य कार्यकारी अधिकारी सुंदर पिचाई के साथ अमरीकी सांसदों की एक सुनवाई के दौरान उठी थी.

सुंदर पिचाई से पूछा गया था कि क्या ये गूगल के राजनीतिक पक्षपात का उदाहरण नहीं है जिससे पिचाई ने इनकार किया था.

गूगल ट्रेंड्स के मुताबिक़, अभी "idiot" शब्द अमरीका में सबसे ज़्यादा सर्च किया जाने वाला शब्द है.

इस सुनवाई में रिपब्लिकन सांसद ज़ो लोफ़्ग्रेन ने सुंदर पिचाई से पूछा कि गूगल में "idiot" टाइप करने पर राष्ट्रपति की तस्वीरें क्यों दिखने लगती हैं.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

पिचाई से सांसदों की जिरह

इस पर पिचाई ने जवाब दिया कि गूगल के सर्च रिज़ल्ट अरबों कीवर्ड के आधार पर आते हैं जिन्हें दो सौ से भी अधिक कारणों के आधार पर रैंक किया जाता है जिनमें प्रासंगिकता और लोकप्रियता भी शामिल हैं.

उनका जवाब सुन सांसद लोफ़्रेगेन ने कहा, "यानी इसका मतलब ये नहीं है कि कोई छोटा आदमी किसी पर्दे के पीछे छिपकर ये तय करता है कि यूज़र को क्या परिणाम दिखाया जाए?"

रिपब्लिकन सांसदों ने पिचाई से काफ़ी जिरह की.

इनमें एक सांसद ने पूछा कि ऐसा क्यों है कि वो जब भी अपनी पार्टी के हेल्थ केयर बिल की ख़बर खोजते हैं तो उन्हें केवल नकारात्मक ख़बरें दिखाई देती हैं.

इसके जवाब में पिचाई ने कहा कि ठीक इसी तरह लोग अगर गूगल शब्द को सर्च करते हैं तो उसी तरह की नकारात्मक ख़बरें पहले दिखती हैं.

'रूस के गूगल' यांडेक्स के बारे में जानते हैं आप

चीन में गूगल के प्रोजेक्ट का विरोध

इमेज कॉपीरइट Getty Images

गाने से जुड़े हैं Idiot के तार?

"idiot" शब्द और राष्ट्रपति ट्रंप की तस्वीरों का संबंध सबसे पहले इस साल सामने आया था. तब कुछ लोगों ने इसके तार इस साल जुलाई में ट्रंप के ब्रिटेन दौरे के समय हुए विरोध से जुड़े बताए.

तब ब्रिटिश प्रदर्शनकारियों ने American Idiot नाम के एक गाने को ब्रिटेन में म्यूज़िक चार्ट में टॉप करवा दिया था.

इसके बाद रेडिट वेबसाट पर यूज़र्स ने ऐसे आर्टिकलों की बौछार कर दी जिनमें ट्रंप की बगल में इडियट शब्द लिखा था.

ये वेबसाइट के सर्च इंजिन डेटाबेस को प्रभावित करने की एक कोशिश थी, जिसे "गूगल बॉम्बिंग" कहा जाता है.

सुनवाई के दौरान ये भी पता चला कि कई सांसदों को तकनीकी दुनिया की बहुत ज़्यादा जानकारी नहीं है.

वहाँ स्टीव किंग नाम के एक सांसद ने सुंदर पिचाई से पूछा कि उनकी पोती का आईफ़ोन अजीब तरह से क्यों चल रहा है.

इसके जवाब में सुंदर पिचाई ने उन्हें समझाया कि आईफ़ोन गूगल ने नहीं बनाया.

गूगल ने ऐसे दूसरे सर्च इंजनों का खेल ख़त्म कर दिया

क्या गूगल इंडिया देगा इन सवालों के जवाब?

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार