अमरीका: तीन हफ़्तों के लिए ख़त्म हुई 'कामबंदी'

  • 26 जनवरी 2019
अमरीका, शटडाउन, डोनल्ड ट्रंप इमेज कॉपीरइट AFP

अमरीका में बीते 35 दिनों से चल रहा शटडाउन या कामबंदी अस्थायी रूप से ख़त्म होने वाला है.

राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप ने कहा है कि इसे लेकर एक समझौता हुआ है जिससे 15 फरवरी तक अमेरिकी सरकार का कामकाज पूरी तरह चालू हो जाएगा. इस बीच यानी अगले तीन हफ़्तों में एक द्विदलीय समिति बैठेगी जो सीमा सुरक्षा को लेकर विचार करेगी.

ट्रंप ने कहा कि कांग्रेस के साथ उचित समझौते के बिना सरकार का काम फिर से बंद हो सकता है या मैक्सिको की सीमा पर आपातकाल जैसी स्थिति से निपटने के लिए कोई विशेष कदम उठा सकते हैं.

इमेज कॉपीरइट AFP

उड़ानों पर दिखने लगा असर

इससे पहले अमरीका में कामकाज पर शटडाउन का असर बढ़ता जा रहा है और अब इसका असर विमानन क्षेत्र पर भी दिखने लगा है.

एयर ट्रैफिक कंट्रोल स्टाफ की कमी के कारण अमरीकी एयरपोर्ट्स पर फ्लाइट में देरी हो रही है.

अमरीकी इतिहास में अब तक के सबसे लंबे शटडाउन के चलते ट्रैफिक कंट्रोल स्टाफ को बिना वेतन के काम करना पड़ रहा है.

अमरीका की प्रतिनिधि सभा की स्पीकर नैन्सी पेलोसी ने इन परेशानियों के लिए राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप को ज़िम्मेदार ठहराया है.

यूनियनों के लोगों की सुरक्षा में जोखिम को लेकर चेतावनी जारी किए जाने के बाद ये देरी हुई है.

एयर ट्रैफिक, पायलट और फ्लाइट अटेंडेंट यूनियन के नेताओं ने एक संयुक्त बयान जारी करके कहा, "हमारे इस जोखिम भरे उद्योग में हम ये अंदाजा भी नहीं लगा सकते कि इस वक़्त कितना ख़तरा है. हम ये भी नहीं जानते कि कब ये पूरा सिस्टम ढह जाएगा."

अमरीका में शटडाउन के चलते करीब आठ लाख कर्मचारी बीते 35 दिनों से बिना वेतन, काम कर रहे हैं या अस्थायी रूप से नौकरी से निकाल दिए गए हैं.

इमेज कॉपीरइट Getty Images
Image caption अमरीका की प्रतिनिधि सभा की स्पीकर नैन्सी पेलोसी

अमरीका-मेक्सिको सीमा पर दीवार बनाने के लिए डोनल्ड ट्रंप ने अमरीका कांग्रेस में डेमोक्रेटिक पार्टी से पांच अरब डॉलर के फंड पर मुहर लगाने की अपील की थी जिसे उन्होंने नकार दिया. इसके बाद से ही अमरीका में ये शटडाउन जारी है.

इसके बाद डोनल्ड ट्रंप ने ऐसे किसी भी नए फंडिंग समझौते को स्वीकार करने से मना कर दिया है जिसमें सीमा पर दीवार बनाने के लिए 5.7 अरब डॉलर का फंड शामिल न हो.

शुक्रवार को एक ट्वीट में नैन्सी पेलोसी ने राष्ट्रपति से देश की सुरक्षा और कल्याण को ख़तरे में न डालने और कामकाज को फिर से शुरू करने की अपील की.

इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption विमानन क्षेत्र में काम करने वाले कर्मचारी कामबंदी के विरोध में प्रदर्शन करते हुए

उड़ानों पर कितना असर

अमरीका का 20वां सबसे ज़्यादा व्यस्त एयरपोर्ट न्यूयॉर्क का लागार्डिया एयरपोर्ट है. यहां ये उड़ानों पर अस्थायी तौर पर रोक लगा दी गई थी.

हालांकि, अब अमरीकी फेडरल एविएशन एडमिनिस्ट्रेशन (एफ़एए) ने इस बात की पुष्टि की है कि अस्थायी रूप से रोकी गईं उड़ानों को फिर से शुरू कर दिया गया है.

एफ़एए का कहना है कि दो एयर ट्रैफिक कंट्रोल केंद्रों कई लोग "बीमारी के कारण छुट्टी" पर हैं और इस कारण उड़ानों के शेड्यूल में बदलाव करने पड़े हैं. यात्रियों की सुरक्षा के स्तर को सुनिश्चित करने के लिए ऐसा करना पड़ा है.

एफ़एए का कहना था कि फिलाडेलफिया, न्यूयॉर्क और लागार्डिया में विमान उड़ने में देरी हुई थी.

एफ़एए ने यात्रियों को सलाह दी है कि अधिक जानकारी के लिए वो एयरलाइन कंपनी से संपर्क करें.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूबपर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

मिलते-जुलते मुद्दे

संबंधित समाचार