कीनिया जा रहा इथियोपिया का विमान क्रैश, 157 लोगों की मौत

  • 10 मार्च 2019
इमेज कॉपीरइट Getty Images
Image caption इथियोपियन एयरलाइन के विमान की फ़ाइल तस्वीर

कीनिया जा रहा इथियोपिया का विमान क्रैश हो गया है. इथियोपियन एयरलाइन के इस बोइंग 737 पैसेंजर जेट में 149 यात्री और चालक दल के आठ सदस्य सवार थे.

एयरलाइन के प्रवक्ता ने इथियोपिया के सरकारी टीवी चैनल से कहा है कि किसी के बचने की संभावना नहीं हैं. विमान में 33 देशों के लोग सवार थे.

ये विमान अदीस अबाबा से नैरोबी की उड़ान भर रहा था.

विमानन कंपनी के प्रवक्ता ने बताया कि ये हादसा सुबह 8.44 बजे (स्थानीय समयानुसार) हुआ.

प्रवक्ता ने कहा, ''इथियोपियन एयरलाइंस के कर्मचारियों को दुर्घटना स्थल पर भेजा जाएगा और आपातकालीन सेवाओं की सहायता के लिए हर संभव प्रयास किए जा रहे हैं ''

एयरलाइन का कहना है कि क्रैश बीशोफ्तू शहर के पास हुआ है और वहां बचाव कार्य चल रहा है.

ये शहर राजधानी अदीस अबाबा से सड़क मार्ग से करीब एक घंटे की दूरी पर है.

हादसे पर इथियोपिया के प्रधानमंत्री ने ट्वीट करके शोक जताया है.

ये एयरलाइन अफ़्रीका के कई देशों के लिए उड़ाने भरती है और अफ़्रीका महाद्वीप में काफ़ी चर्चित है.

अफ़्रीका में अधिकतर एयरलाइनें अपने देश और अफ़्रीका के बाहर के देशों के लिए ही उड़ाने भरती हैं.

सुरक्षा के लिहाज से इस एयरलाइन की प्रतिष्ठा काफ़ी बेहतर थी. हालांकि साल 2010 में एयरलाइन का एक विमान बेरूत से उड़ान भरने के कुछ देर बाद ही क्रैश हो गया था.

उस हादसे में 90 लोग मारे गए थे.

नया था हादसे का शिकार हुआ विमान

इथियोपियन एयरलाइन का जो बोइंग 737 विमान हादसे का शिकार हुआ है वो बिलकुल नया था.

ये विमान एयरलाइन को चार महीने पहले ही मिला था.

विमानन विशेषज्ञ एलेक्स माकेराश के मुताबिक विमान उड़ाने भरने के छह मिनट बाद ही रडार से लापता हो गया था.

विमान निर्माता बोइंग ने कहा है कि वो हालात पर नज़र रखे हुए है.

बीते साल इंडोनेशिया में लॉयन एयर का जो विमान क्रैश हुआ था वो आज क्रैश होने वाले बोइंग विमान का ही एक अन्य संस्करण था.

लॉयन एयर की फ़्लाइट जेटी-610 का बोइंग 737-मैक्स विमान बीते साल 29 अक्तूबर को उड़ान भरने के 12 मिनट बाद ही समंदर में गिर गया था. इस हादसे में 189 यात्री और चालक दल के सभी सदस्य मारे गए थे.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर,इंस्टाग्राम और यूट्यूबपर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

मिलते-जुलते मुद्दे