इसराइल ने गज़ा में किए दर्जनों हवाई हमले

  • 16 मार्च 2019
गज़ा में इज़रायल का हवाई हमला इमेज कॉपीरइट EPA

इसराइल ने गज़ा में क़रीब 100 चरमपंथी ठिकानों पर दर्जनों हवाई हमले करने का दावा किया है.

इसराइली सेना का कहना है कि उन्होंने चरमपंथी समूह हमास के एक मुख्यालय को निशाना बनाकर गुरुवार रात को यह हमला किया था.

सेना का कहना है कि ये हमले तेल अवीव पर हुए दो रॉकेट हमलों के जवाब में किए गए हैं जिनके पीछे हमास का हाथ था.

एक अन्य ट्वीट में इसराइली सेना ने कहा कि देश के एरियल डिफेन्स सिस्टम ने गज़ा की तरफ से दाग़े गए दोनों रॉकेटों को रास्ते में ही इंटरसेप्ट कर उन्हें नष्ट कर दिया था. उन्होंने 0.36 सेकंड का एक वीडियो भी जारी किया जिसमें तेल अवीव के ऊपर सायरनों की आवाज़ सुनी जा सकती है.

वहीं, हमास का कहना है कि तेल अवीव रॉकेट हमले के पीछे उनका कोई हाथ नहीं है.

तेल अवीव पर दागे गए दो रॉकेट में कोई नुकसान नहीं हुआ था.

तेल अवीव पर यह हमला 2014 के बाद से पहली बार किया गया है.

इमेज कॉपीरइट Reuters

इसराइली मीडिया में देश के एक रक्षा अधिकारी का बयान दिखाया जा रहा है कि मरम्मत का काम चलने के कारण रॉकेट 'ग़लती से' लॉन्च हो गए होंगे.

गज़ा में इसराइल और चरमपंथियों के बीच 2014 के युद्ध के बाद से पहली बार तेल अवीव में गुरुवार रात को हवाई हमले के सायरन सुनाई दिए.

सिटी सेंटर में एक धमाके की अवाज़ सुनाई दी. पहले तो यह माना गया कि ये आवाज़ रॉकेट को हवा में ही नष्ट करने की हैं लेकिन बाद में इसराइली डिफ़ेंस फ़ोर्स (आईडीएफ) ने कहा कि गज़ा की तरफ से चार रॉकेट दाग़े गए थे जिनमें से तीन को इंटरसेप्ट किया गया है.

इसके बाद एक ट्वीट में सेना ने स्टेरॉट नाम की एक जगह पर रॉकेट गिरने संबंधित चेतावनी जारी की.

इधर, हमास से जुड़े सूत्रों ने बताया कि आधी रात के कुछ देर बाद, इसराइली जेट्स और हेलिकॉप्टर्स ने गज़ा में हमास के सैकड़ों ठिकानों पर हमला किया.

बाद में आईडीएफ़ ने घोषणा की कि उसने हमास के 100 चरमपंथी ठिकानों पर हमला किया है. उसने बताया कि इन ठिकानों में गज़ा शहर में एक ऑफ़िस कॉम्प्लेक्स शामिल है. आईडीएफ़ का आरोप है कि इस ठिकाने का इस्तेमाल हमले के लिए किया जाता था. साथ ही ज़मीन के अंदर बनी इस जगह पर ही रॉकेट्स बनाए जाते थे. इसराइली सेना ने कुछ तस्वीरें जारी कर दावा किया कि हमास के मुख्यालय पर भी हमला किया है.

गज़ा के स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि इस हमले में चार लोग घायल हुए हैं जिनमें एक पुरुष और एक महिला शामिल हैं. रफ़ाह के दक्षिणी शहर में स्थित उनका घर भी हमले का निशाना बन गया था.

वहीं, एक महीने तक चलने वाले फ़लस्तीनी विरोध अभियान की आयोजन समिति ने कहा है कि शुक्रवार को गज़ा की सीमा पर होने वाले साप्ताहिक प्रदर्शनों को 'जनहित को ध्यान में रखते हुए' रोक दिया गया है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूबपर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

मिलते-जुलते मुद्दे

संबंधित समाचार