#Christchurch: हमलावर ने पांच बंदूकों का इस्तेमाल किया

  • 16 मार्च 2019
प्रधानमंत्री जेसिंडा आर्डर्न इमेज कॉपीरइट Getty Images
Image caption न्यूज़ीलैंड की प्रधानमंत्री ने दो मस्जिदों पर हुए हमले को आतंकवादी हमला कहा है.

न्यूज़ीलैंड के क्राइस्टचर्च में दो मस्जिदों पर हमला करके कम से कम 49 लोगों की जान लेने वाले हमलावर को शनिवार को अदालत में पेश किया जाएगा.

पुलिस ने अभी हमलावर युवक का नाम सार्वजनिक नहीं किया है. इस 28 वर्षीय युवक पर क़त्ल के आरोप तय किए गए हैं.

न्यूज़ीलैंड की प्रधानमंत्री जैसिंडा अर्डर्न के मुताबिक़ हमलावर युवक ऑस्ट्रेलिया का नागरिक है.

प्रधानमंत्री ने कहा है कि शुक्रवार को हुए हमले के बाद देश के बंदूक रखने संबंधी क़ानून में बदलाव किया जाएगा.

उन्होंने ये भी कहा है कि हमला बेहद सुनियोजित ढंग से किया गया था और हमलावर के पास बंदूक रखने का लाइसेंस था. हमले के दौरान पांच बंदूकों का इस्तेमाल किया गया.

पुलिस जांच के बारे में बताते हुए उन्होंने कहा कि इस मामले में कुल तीन लोग गिरफ़्तार किए गए हैं जिनमें से दो लोगों की भूमिका की भी जांच की जा रही है. इन दोनों का अब तक कोई आपराधिक रिकॉर्ड सामने नहीं आया है.

इसी बीच मौके से गिरफ़्तार किए गए एक अन्य हथियारबंद व्यक्ति को रिहा कर दिया गया है. पुलिस जांच में पता चला है कि ये व्यक्ति पुलिस की मदद करने की कोशिश कर रहा था.

'हमले ने शहर को बदल दिया है'

इमेज कॉपीरइट Getty Images
Image caption जहां हमला हुआ वहां लोग फूल रखकर जा रहे हैं

क्राइस्टचर्च की मेयर लिएन डालज़ील ने कहा है कि दो मस्जिदों पर हुए हमले ने शहर को हमेशा के लिए बदल दिया है.

उन्होंने कहा कि शहर में शनिवार को झंडे आधे झुकाए जाएंगे और साथ ही शहर में होने वाले कई खेल और मनोरंजन कार्यक्रमों को रद्द किया गया है.

मेयर ने बताया कि स्थानीय प्रशासन मुस्लिम समुदाय के साथ मिलकर मारे गए लोगों को दफ़नाने के लिए जगह के इंतज़ाम में जुटा है.

मेयर के मुताबिक़ जिस अस्पताल में पीड़ितों का इलाज चल रहा है उसके नज़दीक बॉटेनिकल गार्डन की दीवार को श्रद्धा सुमन अर्पित करने के लिए समर्पित किया जा रहा है.

दुनियाभर में शोक

इमेज कॉपीरइट PA
Image caption लंदन के हाइड पार्क में न्यूज़ीलैंड वार मेमोरियल पर क्रास्टचर्च हमले में मारे गए लोगों के लिए शोक सभा की गई
इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption जोर्डन की राजधानी अम्मान में न्यूज़ीलैंड के दूतावास के पास धरना देने पहुंचे एक व्यक्ति कुरान की प्रति दिखा रहे हैं. ये इस्लामिक एक्शन फ्रंट पार्टी के समर्थक हैं.
इमेज कॉपीरइट Getty Images
Image caption लंदन की ऑक्सफ़र्ड यूनिवर्सिटी के क्राइस्टचर्च कॉलेज का झंडा आधा झुका हुआ है
इमेज कॉपीरइट Getty Images
Image caption सिडनी की मस्जिद में शनिवार सुबह की नमाज़ के दौरान क्राइस्टचर्च हमले में मारे गए लोगों को याद किया गया
इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption न्यू यॉर्क के इस्लामिक सेंटर की मस्जिद से शुक्रवार की नमाज़ अदा करके बाहर निकलते लोग
इमेज कॉपीरइट EPA
Image caption क्राइस्टचर्च में मारे गए लोगों को श्रद्धांजलि देने के लिए हेल्सिंकी के फिनलैंडिया हॉल में नीली रोशनी की गई
इमेज कॉपीरइट Getty Images
Image caption ऑस्ट्रेलिया के पर्थ में एनबीएल ग्रांड फाइनल सिरीज़ के मुकाबले से पहले एक मिनट का मौन रखते मेलबर्न यूनाइटेड के खिलाड़ी
इमेज कॉपीरइट PA
Image caption बर्मिंघम की मुख्य मस्जिद के बाहर खड़े होकर मारे गए लोगों के प्रति संवेदना प्रकट करते स्थानीय लोग
इमेज कॉपीरइट Getty Images
Image caption संयुक्त राष्ट्र की मानवाधिकार परिषद में क्राइस्टचर्च हमले में मारे गए लोगों की याद में एक मिनट का मौन रखते दुनिया भर से आए प्रतिनिधि
इमेज कॉपीरइट Getty Images
Image caption पूर्वी लंदन की मस्जिद में न्यूज़ीलैंड में मारे गए लोगों की याद में रखी गई शोक सभा में बोलते लंदन के मेयर साद़िक ख़ान
इमेज कॉपीरइट PA
Image caption बर्मिंघम की मस्जिद से नमाज़ पढ़कर निकल रहे लोगों को फूल देते स्थानीय ईसाई
इमेज कॉपीरइट PA
Image caption लीड्स की मक्का मस्जिद में शुक्रवार की नमाज़ के दौरान क्राइस्टचर्च में मारे गए लोगों को याद किया गया
इमेज कॉपीरइट EPA
Image caption पेरिस की मुख्य मस्जिद के बाहर सुरक्षा के कड़े इंतेज़ाम किए गए
इमेज कॉपीरइट EPA
Image caption इस्तांबुल में वैश्विक आतंकवाद के ख़िलाफ़ प्रदर्शन किए गए

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूबपर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

मिलते-जुलते मुद्दे

संबंधित समाचार