इथियोपियन एयरलाइंस हादसा: कंपनी ने मृतकों को दफ़न करने के लिए दी ज़मीन

  • 17 मार्च 2019
इथियोपियन एयरलाइंस हादसा इमेज कॉपीरइट Reuters

इथियोपियन एयरलाइंस ने बोइंग-737 मैक्स विमान क्रैश में मारे गए 157 यात्रियों के परिजनों को घटना स्थल पर दफ़न करने की जगह दी गई है.

समाचार एजेंसी रॉयटर्स के मुताबिक विमानन कंपनी ने अदीस अबाबा में जहां विमान क्रैश हुआ था वहां पर मरने वालों के परिजनों को दफ़न करने के लिए ज़मीन का टुकड़ा दिया है.

एयरलाइन की ओर से मारे गए लोगों के परिवार और दोस्तों को बताया गया है कि अवशेषों को पहचानने में छह महीने तक का वक़्त लग सकता है.

10 मार्च को हुए इस हादसे के बाद दुनिया भर में बोइंग-737 मैक्स 8 और 9 के विमानों की उड़ान पर रोक लगा दी गई है.

इथियोपिया की परिवहन मंत्री डगमावित मोगस ने शनिवार को कहा कि जांचकर्ताओं को इस विमान क्रैश के कारणों का पता लगाने में 'काफ़ी समय' लग सकता है.

घटना में मारे गए यात्रियों के मृत्यु प्रमाण पत्र दो हफ्तों में जारी कर दिए जाएंगे.

इमेज कॉपीरइट Reuters

समाचार एजेंसी एपी के मुताबिक इस हादसे में मारे गए लोगों के परिजनों को घटना स्थल से एक किलोग्राम मिट्टी दी गई है.

एक मारे गए शख़्स के परिजन ने बताया, ''हमें ये मिट्टी इसलिए दी गई है क्योंकि शवों की पहचान करना असंभव था. लेकिन हम तब तक चैन से नहीं बैठेंगे जब तक हमें अपनों के शवों के अवशेष नहीं दे दिए जाते.''

इथियोपियन एयरलाइन में लगभग 30 देशों के 157 लोग सवार थे. इस हादसे की जांच अमरीका और फ़्रांस सहित कई देशों की जांच टीमें कर रही हैं.

इस विमान का ब्लैक बॉक्स बरामद कर लिया गया है और उम्मीद है कि इस हादसे के कारणों का पता जल्द लगाया जा सकेगा.

भारतीय एयर स्पेस में बोइंग 737 मैक्स की एंट्री पर रोक

10 मार्च को कीनिया जा रहा इथियोपिया का विमान क्रैश हो गया था. ये विमान अदीस अबाबा से नैरोबी की उड़ान भर रहा था.

इथियोपियन एयरलाइन के इस बोइंग 737 पैसेंजर जेट में 149 यात्री और चालक दल के आठ सदस्य सवार थे.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

इस घटना के बाद दुनियाभर के तमाम देशों ने बोइंग 737 मैक्स की उड़ान पर रोक लगा दी है.

भारत के नागर विमान मंत्रालय ने भारतीय हवाई क्षेत्र में बोइंग 737 मैक्स के प्रवेश पर भी पाबंदी लगा दी है.

13 मार्च को मंत्रालय ने ट्वीट कर कहा है कि "आज शाम 4 बजे के बाद भारतीय हवाई क्षेत्र में किसी भी बोइंग-737 मैक्स मॉडल को प्रवेश करने की अनुमति नहीं दी जाएगी."

वहीं, चीन ने भी 737 मैक्स विमान की उड़ान पर रोक लगा दी है.

चीन के नागरिक विमानन प्रशासन ने एक बयान जारी कर कहा, "दो विमान हादसों में बोइंग 737 मैक्स 8 ही शामिल था और उड़ान भरने के कुछ देर बाद ही ये हादसे का शिकार हो गया था. इनमें कुछ समानता भी नज़र आ रही है."

पिछले पाँच महीने में बोइंग के इस नए विमान के दुर्घटनाग्रस्त होने की ये दूसरी घटना थी. पिछले साल अक्टूबर में लायन एयरलाइंस का बोइंग मैक्स विमान भी जकार्ता से उड़ान भरने के कुछ ही देर बाद हादसे का शिकार हो गया था और 189 लोगों की जान चली गई थी.

लायन एयरलाइंस ने इस विमान को हादसे से तीन महीने पहले ही अपने बेड़े में शामिल किया था.

बोइंग 737 मैक्स-8 का कॉमर्शियल इस्तेमाल 2017 में ही शुरू हुआ है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार