इंडोनेशिया में जलपरियों के वक्ष क्यों ढंके जा रहे हैं

  • 28 मार्च 2019
इंडोनेशिया में जलपरियों के वक्ष क्यों ढंके जा रहे हैं इमेज कॉपीरइट Getty Images

इंडोनेशिया के एक पार्क ने "पूर्वी मूल्यों" का सम्मान करने के लिए दो निर्वस्त्र मूर्तियां के वक्ष को ढंक दिया है.

राजधानी जकार्ता के एनकोल ड्रीमलैंड में दो जलपरियों की मूर्तियां लगी हैं. ये मूर्तियां यहां पिछले पंद्रह सालों से हैं लेकिन अब इनके वक्ष पर सुनहरा कपड़ा चढ़ा दिया गया है.

इससे शहर के कई लोग भ्रमित हैं और सवाल कर रहे हैं कि क्या पार्क प्रशासन को ऐसा करने के लिए मजबूर तो नहीं किया गया है?

इमेज कॉपीरइट Getty Images

हालांकि पार्क प्रशासन ने इससे इनक़ार किया है और कहा है कि उसने पिछले साल ही इसे ढंकने का फ़ैसला किया था.

पार्क के प्रवक्ता रिका लेस्तरी ने बीबीसी को बताया, "यह पूरी तरह से प्रबंधन का फ़ैसला है और इसे किसी बाहरी दबाव में नहीं लिया गया है."

उन्होंने इस फ़ैसले के पक्ष में दलील देते हुए कहा कि वो पार्क को परिवार के अनुकूल बनाना चाहते हैं.

जलपरी की मूर्ति बनाने वाले मूर्तिकार डोलोरोसा सिनागा ने बीबीसी इंडोनेशिया से कहा कि पार्क प्रशासन के इस फ़ैसले ने कला को उसकी सुंदरता से वंचित कर दिया है.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

जलपरियों के वक्ष को ढंकने से पार्क में आने वाले लोगों में निराशा है.

पार्क में अपने बच्चों के साथ पहुंचीं नैंडा जूलिंदा ने बीबीसी से कहा, "मूर्तियां हमें परेशान नहीं कर रही थीं. इसे इस तरह देखना अजीब लग रहा है."

एम तौफ़िक़ फ़िकी कहते हैं कि यह जलपरी की मूर्ति है और आपने कभी भी जलपरियों को कपड़ों से ढंका नहीं देखा होगा.

इंडोनेशिया में यह पहली बार नहीं है जब मूर्तियों को ढंका गया है और इसको लेकर लोगों के मतभेद सामने आए हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

मिलते-जुलते मुद्दे

संबंधित समाचार