ब्रितानी सांसदों ने टेरीज़ा मे के यूरोपीय संघ के साथ समझौते को ख़ारिज किया

  • 30 मार्च 2019
टेरीज़ा मे इमेज कॉपीरइट HOC

ब्रितानी सांसदों ने यूरोपीय संघ से बिना किसी समझौते से बाहर निकलने के प्रस्ताव को 286 के मुक़ाबले 344 वोटों से ख़ारिज कर दिया है.

58 मतों के अंतर से ख़ारिज इस प्रस्ताव के बाद ब्रेक्सिट का मुद्दा और उलझ गया है.

ब्रितानी प्रधानमंत्री टेरीज़ा मे ने कहा है कि इस वोटिंग के बेहद 'ख़तरनाक' नतीजे होंगे और क़ानूनी बाध्यता ये होगी कि अब ब्रिटेन को यूरोपीय संघ से 12 अप्रैल को अलग होना ही होगा.

इसका मतलब ये हुआ कि बिना किसी डील के यूरोपीय संघ से अलग होने से बचने के लिए ब्रिटेन के पास क़ानून बनाने के लिए अब समय नहीं बचा है.

लेबर पार्टी के नेता जेरेमी कोर्बिन ने प्रधानमंत्री टेरीज़ा का इस्तीफ़ा मांगा है और तत्काल चुनाव कराये जाने की मांग की है.

ब्रितानी संसद में ब्रेक्सिट प्रस्ताव ख़ारिज होने के बाद यूरोपीय परिषद के अध्यक्ष डोनल्ड टस्क ने ट्वीट किया, "ब्रितानी संसद के निचले सदन हाउस ऑफ़ कॉमन्स में बिना किसी समझौते के बाहर निकलने के प्रस्ताव के ख़ारिज होने के मद्देनज़र मैंने 10 अप्रैल को यूरोपीय काउंसिल की बैठक बुलाने का फ़ैसला किया है."

इमेज कॉपीरइट Reuters

प्रस्ताव के ख़ारिज होने का मतलब है कि ब्रिटेन यूरोपीय संघ से अलग होने की ब्रेक्सिट प्रक्रिया को और लंबा नहीं खींच सकेगा और उसे डील के साथ 22 मई को यूरोपीय संघ से अलग होना ही होगा.

अब टेरीज़ा के पास सिर्फ़ 12 अप्रैल तक का वक़्त बचा है जिससे वो बातचीत कर बिना किसी समझौते के ब्रेक्सिट प्रक्रिया पर एक और एक्सटेंशन पाएं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार