हमलों में ही मारा गया श्रीलंका धमाकों का मुख्य हमलावर: मैत्रिपाला सिरीसेना

  • 26 अप्रैल 2019
ज़हरान हाशिम
Image caption ज़हरान हाशिम

श्रीलंका में ईस्टर रविवार को हुए आत्मघाती धमाकों का हमलावर धमाकों में मारा गया है. ये जानकारी श्रीलंका के राष्ट्रपति मैत्रिपाला सिरीसेना ने दी है.

सिरीसेना ने शुक्रवार को कहा कि मुख्य हमलावर ज़हरान हाशिम धमाकों के दौरान कोलंबो के शांगरी-ला होटल में मारा गए. हाशिम एक कट्टर उपदेशक थे.

सिरीसेना ने बताया कि हाशिम ने दूसरे आत्मघाती हमलावर के साथ मिलकर सैलानियों में लोकप्रिय होटल शांगरी-ला पर हमला किया. दूसरे हमलावर की पहचान इल्हाम के तौर पर हुई है.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

राष्ट्रपति सिरीसेना ने ये भी कहा कि श्रीलंकाई ख़ुफ़िया एजेंसियों के मुताबिक इस्लामिक स्टेट से संबंध रखने वाले लगभग 130 संदिग्ध श्रीलंका में सक्रिय थे और पुलिस अब भी 70 लोगों को तलाश रही है. अभी ये साफ़ नहीं है कि आईएस से जुड़े बाकी संदिग्ध हिरासत में हैं या फिर देश छोड़कर भाग चुके हैं.

राष्ट्रपति ने ये भी स्पष्ट नहीं किया कि कोलंबो में हुए छह धमाकों में ज़हरान हाशिम की भूमिका किस तरह की थी.

सिरीसेना ने बताया कि श्रीलंका के पुलिस प्रमुख पुजित जयसुंदर ने धमाकों के बाद अपने पद से इस्तीफ़ा दे दिया है. इसके अलावा श्रीलंका के रक्षा सचिव हेमासिरी फ़र्नेंडो ने भी इस्तीफ़ा दे दिया था.

कौन थे ज़हरान हाशिम?

कुछ समय पहले तक ज़हरान हाशिम को बहुत कम लोग जानते थे. कुछ साल पहले उनका नाम तब सामने आया जब एक समूह में शामिल उन्होंने बौद्ध मूर्तियों को तोड़ा. इसके बाद उन्होंने यूट्यूब पर कुछ वीडियो अपलोड किए जिसमें वो ग़ैर-मुसलमानों के साथ हिंसा की बात कर रहे थे.

ईस्टर रविवार को हुए हमलों के बाद हाशिम इस्लामिक स्टेट द्वारा जारी एक वीडियो में सात अन्य व्यक्तियों के साथ नज़र आए. इस वीडियो में सभी ने आईएस के प्रति अपनी प्रतिबद्धता जताई थी. इस वीडियो में अकेले हाशिम ही ऐसे थे जिन्होंने अपना चेहरा नहीं ढंका था.

श्रीलंका की राजधानी कोलंबो में ईस्टर रविवार को अलग-अलग चर्चों और होटलों को निशाना बनाया गया था. इन धमाकों में कम से कम 250 लोगों की मौत हो गई थी.

श्रीलंका प्रशासन ने इन हमलों के लिए स्थानीय इस्लामिक समूह नेशनल तौहीद जमात को ज़िम्मेदार ठहाराया था.

हमलावर की बहन ने की निंदा

ज़हरान हाशिम की बहन हाशिम मदानिया ने बीबीसी से बातचीत में अपने भाई की कड़ी निंदा करते हुए कहा है कि उन्हें इस बारे में कोई जानकारी नहीं थी.

मदानिया ने कहा, "मुझे उसके इस कृत्य के बारे में सिर्फ़ मीडिया के ज़रिए ही पता चला है. मुझे कभी एक पल के लिए भी नहीं लगा कि वो ऐसा कुछ करेगा. उसने जो किया है मैं उसकी कड़ी निंदा करती हूं. भले ही वो मेरा भाई ही क्यों न हो, मैं इसे स्वीकार नहीं कर सकती. मुझे अब उसकी कोई चिंता नहीं है."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार