श्रीलंका ब्लास्टः तस्वीरों में देखिए एक हफ्ते बाद क्या हैं हालात?

  • 28 अप्रैल 2019
श्रीलंका हमला इमेज कॉपीरइट Getty Images

श्रीलंका में पिछले हफ्ते हुए ब्लास्ट में 253 लोगों की मौत हो गई थी. चरपमंथियों ने कुल आठ ठिकानों को निशाना बनाया था.

ये धमाके सुबह 8.30 से 9.15 के बीच कोलंबो के कोच्चिकादु सेंट एंटोनी चर्च, नोगोम्बो, शांगरी ला होटल, किंग्सबरी स्टार होटल, शिनामन ग्रांड स्टार होटल और बट्टिकालोआ में हुए थे.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

उसके बाद इसी दिन रविवार को दोपहर दो बजे कोलंबो के डेहीवाला और डेमाटागोड़ा इलाक़ों में धमाके हुए थे.

इस पूरी घटना में करीब 500 लोग घायल हुए थे. मरने वालों में 10 भारतीय शामिल थे. इनमें से 05 कर्नाटक के जनता दल सेक्युलर पार्टी के कार्यकर्ता थे.

ये सभी पांच कार्यकर्ता लोकसभा चुनावों के बाद छुट्टी मनाने श्रीलंका गए थे.

हमले के तीन दिन बाद तथाकथित इस्लामिक स्टेट ने अपने मीडिया पोर्टल 'अमाक़' पर इन हमलों की ज़िम्मेदारी क़बूल की है लेकिन इसकी पुष्टि नहीं की जा सकती क्योंकि आम तौर से इस्लामिक स्टेट हमलों के बाद हमलावरों की तस्वीरें प्रकाशित करके हमलों की ज़िम्मेदारी तुरंत क़बूल करता है.

इस बात का कोई सबूत नहीं है कि श्रीलंका के हमलों के तीन दिन बाद किया गया इसका दावा सही है.

बिस्फोटों के बाद जांच अभियान में कई लोगों को गिरफ़्तार किया गया था.

श्रीलंका में एक तलाशी के दौरान हुए धमाके के बाद छह बच्चों समेत 15 लोगों के शव मिले हैं. पुलिस ने बताया कि उन्हें ये शव कुछ संदिग्ध इस्लामिक चरमपंथियों के ठिकानों की तलाशी के दौरान मिले.

पुलिस का कहना है कि मारे गए लोगों में संदिग्ध चरमपंथियों के परिवार की तीन महिलाएं भी शामिल हैं. यहां रहने वाले लोगों का कहना है कि पहले उन्होंने एक धमाके की आवाज़ सुनी और फिर गोलियों की आवाज़.

यह धमाका बाटिकालोआ के करीब अंपारा सैनथमारुथू के एक घर में हुआ. पुलिस प्रवक्ता के मुताबिक, इनमें से छह आत्मघाती हमलावर बताए जा रहे हैं. इलाक़े की तलाशी ली जा रही है.

अब तक कुल 80 लोगों को हिरासत में लिया जा चुका है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार