श्रीलंका: धमाकों के बाद चेहरे ढकने पर लगा प्रतिबंध

  • 29 अप्रैल 2019
श्रीलंका में चरमपंथी हमला इमेज कॉपीरइट Getty Images

ईस्टर के दिन 21 अप्रैल को हुए चरमपंथी हमले के बाद श्रीलंका की सरकार ने चेहरे को ढकने वाले सभी परिधानों और कपड़ों पर प्रतिबंध लगा दिया है. ईस्टर पर हुए सिलसिलेवार आत्मघाती हमलों में ढाई सौ से अधिक लोग मारे गए थे.

राष्ट्रपति मैत्रिपाल सिरिसेना ने कहा है कि राष्ट्रीय सुरक्षा को देखते हुए ये आपात क़दम उठाया जा रहा है. सोमवार से लागू हो रहे इस प्रतिबंध में मुस्लिम महिलाओं द्वारा पहने जाने वाले नक़ाब या बुर्क़े का ज़िक्र नहीं है.

आदेश में कहा गया है कि लोगों के चेहरे पूरी तरह दिखने चाहिए ताकि उनकी पहचान की जा सके.

बीबीसी संवाददाता अज़्ज़ाम अमीन के अनुसार श्रीलंका के प्रधानमंत्री कार्यालय ने एक बयान जारी कर कहा है कि प्रधानमंत्री ने क़ानून मंत्री से इस बारे में एक ड्राफ़्ट तैयार करने के लिए कहा था.

इमेज कॉपीरइट Reuters

प्रधानमंत्री ने ये भी कहा था कि क़ानून मंत्री श्रीलंका में मुस्लिम धार्मिक गुरुओं की प्रमुख संस्था आईसीजेयू के अधिकारियों से सलाह-मशविरा कर ड्राफ़्ट तैयार किया जाना चाहिए. ग़ौरतलब है कि आईसीजेयू ने ख़ुद ही एक प्रस्ताव पास कर सरकार से अपील की है कि चेहरे ढकने वाले परिधानों के पहनने पर पाबंदी लगा दी जाए.

इस हमले के लिए कट्टरपंथी इस्लामी संगठन नेशनल तौहीद जमात को ज़िम्मेदार बताया गया है. सरकार के अनुसार श्रीलंका हमले को अंजाम देने वाले चरमपंथी ख़ुद को इस्लामिक स्टेट कहने वाले चरमपंथी संगठन से प्रभावित थे. इस्लामिक स्टेट ने इन हमलों की ज़िम्मेदारी क़बूल कर ली है.

ईस्टर के दिन हुए चरमपंथी हमले के बाद श्रीलंका की सरकार ने इस तरह के कई क़दम उठाए हैं. राष्ट्रपति ने नेशनल तौहीद जमात और जमियत मिल्लत इब्राहीम जैसे संगठनों पर पाबंदी लगा दी है. इनके सारे दफ़्तर सील कर दिए गए हैं और उनके बैंक अकाउंट फ़्रीज़ कर दिए गए हैं.

सरकार कुछ और संगठनों पर पाबंदी लगाने पर विचार कर रही है.

मुख्य संदिग्ध के पिता और भाईभी मारे गए

इमेज कॉपीरइट Reuters

इस बीच रविवार को एक बयान जारी कर श्रीलंकाई पुलिस ने कहा कि आत्मघाती धमाकों के मुख्य संदिग्ध ज़हरान हाशिम के पिता और दो भाई सुरक्षा बलों के एक ऑपरेशन में शुक्रवार को मारे गए थे.

पुलिस के मुताबिक ये माना जा रहा है कि हाशिम की मां भी मारी गई हैं. इन सभी की मौत उस वक़्त हुई जब सुरक्षा बलों ने हमले के संदिग्धों के ठिकानों पर छापे की कार्रवाई की. रिपोर्टों के मुताबिक़ हाशिम के पिता और भाई ने धमाके में ख़ुद को उड़ा लिया.

श्रीलंका सरकार के मुताबिक़ हाशिम की भी कोलंबो के एक होटल में आत्मघाती हमले में मौत हो गई. ये कहा जाता है कि वो इस्लामिक ग्रुप नेशनल तौहीद जमात (एनटीजे) के नेता थे. इस संगठन पर अब प्रतिबंध लगा दिया गया है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार