वियतनाम के राष्ट्रपति इन दिनों दिख क्यों नहीं रहे हैं?

  • 4 मई 2019
उत्तर कोरिया के नेता किम जोंग उन के साथ वियतनाम के राष्ट्रपति चांग इमेज कॉपीरइट Getty Images

वियतनाम के राष्ट्रपति बीते करीब तीन हफ़्ते से सार्वजनिक तौर पर दिखाई नहीं दिए हैं. इससे उनकी तबियत को लेकर अटकलें लगाई जा रही हैं.

वियतनाम के राष्ट्रपति ग्वीन फू चांग की उम्र 75 बरस है. वो 14 अप्रैल को बीमार हो गए थे.

राष्ट्रपति चांग को लेकर शुक्रवार को उस वक़्त अटकलों का बाज़ार गर्म हो गया जब वो पूर्व राष्ट्रपति ले डूक अन के अंतिम संस्कार के वक्त मौजूद नहीं थे.

अंतिम संस्कार समारोह के दौरान राष्ट्रपति चांग को मौजूद रहना था. सरकारी मीडिया ने इस बारे में कोई जानकारी नहीं दी कि वो क्यों मौजूद नहीं थे.

अंतिम संस्कार के पहले सरकार के एक प्रवक्ता ने बताया कि राष्ट्रपति की तबियत 'काम के बोझ और मौसम की वजह से' प्रभावित हुई है.

प्रवक्ता ने बताया कि राष्ट्रपति चांग जल्दी ही काम पर लौटेंगे लेकिन पूर्व राष्ट्रपति के अंतिम संस्कार में उनके न आने से उन्हें लेकर अटकलें लगाई जाने लगीं.

ये भी पढ़ें: वियतनाम के हिंदू मिटने की कगार पर!

इमेज कॉपीरइट Getty Images

गोपनीयता का पर्दा

बीबीसी की वियतनाम सेवा के न्यूज़ एडिटर ज़ैंग न्गूयेन वियान बताते हैं कि पार्टी नेताओं और सरकारी अधिकारियों की तबियत को लेकर सावधानी बरतना वियतनाम को एक पार्टी के शासन के अधीन एक स्थिर देश की तरह दिखाने का तरीका है.

वो बताते हैं, "बीते साल नवंबर में वियतनाम में एक क़ानून बना. इसमें पार्टी के आला नेताओं और सरकारी अधिकारियों के स्वास्थ्य संबंधी जानकारी को 'स्टेट सीक्रेट' यानी सरकारी तौर पर गोपनीय रखे जाने वाली बात की श्रेणी में रखा गया. ये उन्हें अफ़वाहों और विरोधी ताकतों की ओर से किए जाने वाले कथित 'सरकार विरोधी हमले' से बचाने की कोशिश थी."

वो कहते हैं, "ये क़ानून अभी अमल में नहीं है लेकिन स्थानीय पत्रकार इसे ध्यान में रखते हुए राष्ट्रपति की बीमारी के बारे में रिपोर्ट करने को लेकर बेहत सतर्क हैं. इस वजह से सोशल मीडिया और विदेशी मीडिया में राष्ट्रपति की स्थिति को लेकर अटकलें लगाने की गुंजाइश बन गई है."

अपनी उम्र और रूढ़िवादी सोच रखने वाले नेता की छवि होने के बाद भी राष्ट्रपति चांग ने भ्रष्टाचार के ख़िलाफ अभियान के जरिए आम लोगों के बीच लोकप्रियता हैं. इस अभियान के जरिए पूर्व मंत्रियों और पुलिस अधिकारियों की गिरफ़्तारियां हुईं.

बीते फरवरी महीने में वियतनाम में अमरीकी राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप और उत्तर कोरिया के नेता किम जोंग उन की मुलाकात हुई थी. उस दौरान राष्ट्रपति चांग दोनों नेताओं के साथ नज़र आए थे.

एक अमरीकी राजनेता जो वियतनाम युद्ध का हीरो था

किम जोंग-उन और पुतिन की पहली मुलाक़ात

दुनिया भर में क्यों टूट रहे हैं परिवार

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार