ब्रूनेई: गे सेक्स पर नहीं ली जाएगी पत्थर मारकर जान

  • 6 मई 2019
समलैंगिकता इमेज कॉपीरइट AFP

ब्रूनेई के सुल्तान हसनल बोल्कियाह ने अपने ही एक आदेश से पलटते हुए कहा है कि देश में समलैंगिंक और विवाहेतर सम्बन्धों की वजह से किसी को मौत की सज़ा नहीं दी जाएगी.

इसी साल अप्रैल में ब्रूनेई में समलैंगिक और शादी के बाहर यौन सम्बन्ध रखने वालों के लिए मौत की सज़ा के प्रावधान का ऐलान किया गया था. इसकी दुनिया भर में आलोचना हुई थी.

अप्रैल में इस दक्षिण पूर्वी एशियाई देश में नए इस्लामिक क़ानूनों का ऐलान किया गया था जिनमें समलैंगिक और विवाहेतर सम्बन्धों के लिए लोगों पत्थर मार-मारकर मौत की सज़ा देने का प्रावधान था.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

इसके अलावा नए क़ानूनों के तहत कई अन्य अपराधों के लिए भी कड़ी सज़ा का प्रावधान था. मसलन, चोरी करते हुए पाए जाने पर हाथ काटने की सज़ा.

नए क़ानूनों की घोषणा करते हुए सुल्तान हसनल ने कहा था, "मैं इस देश में इस्लामिक शिक्षाओं को और मज़बूत होते देखना चाहता हूं."

ये भी पढ़ें: वो तूफ़ान जिसने समलैंगिकता को जुर्म बना दिया

दुनिया भर में हुई थी निंदा

एलजीबीटीक्यूआई (लेस्बियन, गे, बाइसेक्शुअल, क्वीयर, इंटरसेक्शुअल) समुदाय के लिए काम करने वालों और मानवाधिकार कार्यकर्ताओं ने ब्रूनेई के इस फ़ैसले की कड़ी निंदा की थी और इसे अमानवीय बताया था.

कई हॉलीवुड सितारों जैसे जॉर्ज क्लूनी ने ब्रूनेई के सुल्तान आलीशान होटलों और रेस्तरां में निवेश न करने और इनका बहिष्कार करने की अपील भी की थी.

कई मल्टीनेशनल कंपनियों ने ब्रूनेई का 'टूरिस्ट डेस्टिनेशन' के तौर पर प्रचार करना बंद कर दिया था.

लंदन में 'स्कूल ऑफ़ ओरियंटल एंड अफ़्रीकन स्टडीज़' के छात्रों ने स्कूल की इमारत का नाम 'ब्रुनेई गैलरी' से बदलकर कुछ और करने की मांग की थी.

अंतरराष्ट्रीय स्तर पर कड़े विरोध और निंदा के बाद सुल्तान हसनल ने रविवार को टेलीविज़न पर राष्ट्र के नाम सम्बोधन में क़ानूनों को बदलने और मौत की सज़ा पर रोक लगाने का ऐलान किया है.

समाचार एजेंसी एएफ़पी के अनुसार सुल्तान हसनल ने पवित्र रमज़ान महीने की शुरुआत में टीवी के ज़रिए लोगों को संदेश दिया.

उन्होंने कहा, "मैं जानता हूं कि शरीया क़ानून को लागू किए जाने को लेकर कई सवाल और ग़लतफ़हमियां हैं. शरीया क़ानून को लेकर कोई संदेह नहीं होना चाहिए क्योंकि इस पर अल्लाह की रहमत है."

ये भी पढ़ें: मुसलमानों में समलैंगिकता की प्रवृत्ति अधिक?

इमेज कॉपीरइट Getty Images
Image caption ब्रूनेई के सुल्तान हसनल

बेशुमार दौलत के मालिक हैं ब्रूनेई के सुल्तान

बोर्नियो द्वीप पर स्थित ब्रुनेई में सुल्तान हसनल का शासन है और तेल और गैस के निर्यात से ये देश बहुत सम्पन्न होता गया है.

72 साल के सुल्तान ब्रुनेई के इनवेस्टमेंट एजेंसी के मुखिया भी हैं. इस एजेंसी के पोर्टफ़ोलियो में दुनिया के शीर्ष होटलों में शुमार लंदन में डोरचेस्टर और लॉस एंजेल्स का बेवर्ली हिल्स होटल शामिल है.

ब्रुनेई का सत्तारूढ़ शाही परिवार बेशुमार दौलत का मालिक है और इस देश की अधिकांश आबादी को सारी सरकारी सुविधाओं मिलती हैं और उन्हें टैक्स भी नहीं देना पड़ता.

ये भी पढ़ें: एक मां और उसके गे बेटे की कहानी जो आपको रुला देगी

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार