चीन में उत्तर कोरियाई लड़कियों की 'सेक्स मंडी' का दावा

  • 21 मई 2019
चीन इमेज कॉपीरइट KOREA FUTURE INITIATIVE

एक रिपोर्ट में दावा किया गया है कि हर साल उत्तर कोरिया की हज़ारों महिलाओं और लड़कियों को चीन में देह व्यापार में झोंका जाता है.

लंदन स्थित 'कोरिया फ्यूचर इनिशिएटिव' की रिपोर्ट में कहा गया है कि उत्तर कोरियाई महिलाओं और लड़कियों को अक्सर अग़वा किया जाता है और वेश्या के रूप में बेचा जाता है.

रिपोर्ट में कहा गया है कि उन्हें चीनी मर्दों के साथ शादी करने के लिए भी विवश किया जाता है.

रिपोर्ट के मुताबिक चीन में आपराधिक संगठन 'सेक्स ट्रेड' में सक्रिय हैं और ये ट्रेड सालाना दस करोड़ डॉलर का है.

उत्तर कोरिया की महिलाएं सेक्स ट्रेड में कई बार इस वजह से भी फंसकर रह जाती हैं, क्योंकि चीन यदि उन्हें वापस भेजता है तो वहां भी उन्हें प्रताड़ना का सामना करना पड़ता है.

ग़ुलामों जैसा बर्ताव

रिपोर्ट के लेखक योन ही-सोन का कहना है, ''लड़कियों को महज़ 30 चाइनीज़ युआन के लिए वेश्या बना दिया जाता है. 1000 युआन के बदले उन्हें बीवी बनाकर बेच दिया जाता है.''

रिपोर्ट में कहा गया है कि उत्तर कोरियाई महिलाओं को उत्तर-पूर्वी चीनी ज़िलों में वेश्यालयों में ग़ुलाम बनाकर रखा जाता है, जहां बड़ी आबादी प्रवासी कामगारों की है.

इमेज कॉपीरइट AFP GETTY

यौन उत्पीड़न का शिकार बनने वाली लड़कियों की उम्र कई बार आठ-नौ साल होती है. उन्हें वेबकैम के ज़रिए कहीं दूर बैठे ग्राहकों तक पहुंचाया जाता है. इनमें से अधिकतर ग्राहक दक्षिण कोरिया के बताए गए हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार